पंजाब / नशेड़ी बेटे की शिकायतों से तंग आ चुकी है मां, घर को ताला लगा बहू और पोती के साथ छोड़ा गांव



a family left the village becoming irritated from drugs addict young boy
a family left the village becoming irritated from drugs addict young boy
a family left the village becoming irritated from drugs addict young boy
X
a family left the village becoming irritated from drugs addict young boy
a family left the village becoming irritated from drugs addict young boy
a family left the village becoming irritated from drugs addict young boy

  • तरनतारन जिले के हलका खडूर साहिब के गांव शाहबाजपुर कलां में बीमार है मजदूर सुखविंदर सिंह शिंदी
  • बेटा शैरी पांच साल से कर रहा है नशा, कभी सामान बेच देता है तो कभी कर देता है कोई और नुकसान
  • घर से भाग गया तो पूरे परिवार के साथ घर को ताला लगा अपने भाई के पास चली गई महिला

Dainik Bhaskar

Sep 04, 2019, 02:16 PM IST

तरनतारन. नशा पंजाब का बेहद गंभीर मसला बना हुआ है। यहां तक इस मसले को लेकर फिल्म तक भी बन चुकी हैं। ढाई बरस पहले मुख्यमंत्री पद संभालते वक्त कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरु ग्रंथ साहिब का गुटका स्वरूप हाथ में लेकर प्रदेश में नशे के कारोबार की कमर तोड़ देने की शपथ उठाई थी। अब इसी मसले पर सवाल उठाते हुए तरनतारन जिले में एक परिवार ने गांव छोड़ दिया। वायरल हुए एक वीडियो में महिला कह रही है, 'हाथ में गुटका साहिब लेकर सौगंध खाने वाले कैप्‍टन अब पंजाब को कैसे भूल गए। मांओं के बेटे राेज नशे से मर रहे हैं। कई तो अपने घर का सामान बेचकर नशा करते हैं। मेरा गबरू भी पांच साल से नशा कर रहा है। अब वह चाय के पतीले से ले‍कर घर के कपड़े भी बेच दिए है। मैं रोज-रोज लोगों की शिकायतें सुनकर तंग आ गई और घर को ताला लगा रही हूंं।'

 

मामला तरनतारन जिले के हलका खडूर साहिब के गांव शाहबाजपुर कलां है। यहां जसबीर कौर नामक महिला अपने घर से सामान को निकाल कमरों को ताला लगाते हुए कह रही थी कि मेरे घर को नशे ने लूट लिया। उसका पति सुखविंदर सिंह शिंदी मजदूरी करता है और कुछ समय से बीमार है। 30 साल का बेटा शैरी पिछले पांच साल से नशा कर रहा है। जसबीर कौर ने बताया कि ढाई वर्षों से शैरी चिट्टे का नशा करने लगा है। शैरी की पत्‍नी मनप्रीत कौर ने बताया कि अपनी मासूम बेटी के भविष्य का वास्ता देकर मैंने पति को कई बार नशा छोडऩे के लिए कहा, परंतु वह नहीं मानता। उल्टे वह नशे के लिए कभी रसोई से पतीला तो कभी मां के कपड़े चुरा लेता है। जसबीर कौर को गांव वाले अक्सर उलाहना देते हैं। अब जसबीर कौर अपने पति, पुत्रवधु व मासूम पोती समेत घर छोड़कर अपने भाई कश्मीर सिंह के साथ गांव भग्गूपुर चली गई। घर का सामान निकालते हुए जसबीर कौर ऊंची आवाज में दुहाई दे रही थी कि मेरे घर की तरह किसी और का घर बर्बाद न हो। इसके लिए सरकार जाग जाए।

 

सोशल मीडिया पर वीडियो वायरल

जसबीर कौर की घर छोड़ने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। इस वीडियो में वह कह रही है कि कैप्टन सरकार के घर-घर नौकरी देने व युवाओं को नशा मुक्त करने के सभी वादे खोखले साबित हुए हैं। उसके भाई कश्मीर सिंह ने कहा कि उसका भांजा शैरी आए दिन घर का सामान बेच देता है। उसके खिलाफ दो आपराधिक मामले भी दर्ज हैं, इसके बावजूद वह खुद को बर्बाद कर रहा है। जसबीर कौर ने कहा, 'हत्थ विच्च गुटका साहिब फड़के सोहां खाण वाले कैप्टन नूं हुण पंजाब किंवें भुल्ल गेया। मांवां दे पुत्त रोज नशे नाल मर रहे ने। कई तां आपणे घरां दा सामान वेच के नशा कर रहे ने। मेरा गबरू वी पंज साल तों नशा कर रिहा है। हुण ओह चाह वाला पतीला ते घर दे कपड़े वी वेच दिंदा है। मैैं नित दे लांभेयां तो तंग आके घर नू जंदरा मार रही आं...।'

 

वीडियो की जांच के दिए आदेश: एसएसपी दहिया

एसएसपी ध्रुव दहिया ने कहा कि सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो की जांच के आदेश दे दिए हैं। युवाओं को इलाज के लिए सरकार की ओर से बनाए गए नशा छुड़ाओ केंद्र में भेजा जा रहा है। नशा बेचने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जा रही है। इस मुहिम में जनता का पुलिस को सहयोग जरूरी है।

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना