--Advertisement--

प्रायश्चित / बादल पिता-पुत्र ने मांगी 10 साल के राज में हुई गलतियों की माफी, स्वर्ण मंदिर में धोए बर्तन-चमकाए जूते



Confession for the mistakes by former CM Prakash Badal and others
Confession for the mistakes by former CM Prakash Badal and others
Confession for the mistakes by former CM Prakash Badal and others
X
Confession for the mistakes by former CM Prakash Badal and others
Confession for the mistakes by former CM Prakash Badal and others
Confession for the mistakes by former CM Prakash Badal and others

  • अरदास के बाद मीडिया का सामना करने से इनकार किया पूर्व सीएम और अन्य नेताओं ने

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 04:27 PM IST

अमृतसर। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने अपने बेटे सुखबीर और पार्टी के अन्य नेताओं के साथ स्वर्ण मंदिर में सेवा की। उन्होंने बर्तन धोए और श्रद्धालुओं के जूते साफ करके अपने 10 साल के शासन के दौरान हुई भूलों की माफी मांगी। उनके साथ पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया समेत पार्टी के कई प्रमुख नेता इस सेवा में भागीदार थे। अकाल तख्त पर पंथ की परंपरा के अनुसार अपनी गलतियों को स्वीकारने का यह तरीका है।

 

अकाल तख्त पर श्री गुरु ग्रंथ साहिब के पाठ की शुरुआत भी करवाई गई। प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर बादल अन्‍य नेताआें के साथ अमृतसर अकाली दल की ओर से अकाल तख्त पर शुरू करवाई गई क्षमा अखंड पाठ की अरदास में शामिल हुए। शिअद की कार्यकारिणी कोर कमेटी और एसजीपीसी की कार्यकारिणी के सदस्य भी पाठ की शुरुआत में अकाल तख्त पर मौजूद थे। केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल भी मौजूद रही।

 

प्रकाश सिंह बादल और सुखबीर बादल ने अन्‍य शिअद नेताओं के साथ श्री हरमंदिर साहिब के जोड़ा घर में जूतों को साफ किया। उन्‍होंने जूते साफ कर पिछले 10 साल में हुई भूलों का प्रायश्चित किया। इस मौके पर प्रकाश सिंह बादल ने पूरी गंभीरता से वहां सेवा की। अरदास के बाद पत्रकारों ने उनसे बात करने की कोशिश की तो उन्‍होंने इससे इनकार कर दिया। उन्‍होंने कहा कि अखंड पाठ के बाद सोमवार को मीडिया से रू-ब-रू होंगे।

 

जूते पहनकर पहुंचे एनएसजी अफसर

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की सुरक्षा में तैनात एनएसजी अफसर स्वर्ण मंदिर के लंगर हॉल में जूते पहनकर जाने लगे। उन्हें देखकर वहां मौजूद सेवादारों ने टोका तो एनएसजी अफसर वहां से हट गए। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..