• Hindi News
  • Punjab
  • Amritsar
  • Amritsar News for the first time young congressmen have the chance to directly elect the prime minister not even 20 polling on the first day

पहली दफा युवा कांग्रेसियों के पास सीधे प्रधान चुनने का मौका, पहले दिन 20% पोलिंग भी नहीं

Amritsar News - यूथ कांग्रेस में जिला शहरी और देहाती प्रधान के चुनाव के लिए बुधवार से वोटिंग शुरू हुई। पहले दिन अमृतसर सेंट्रल और...

Dec 05, 2019, 07:36 AM IST
Amritsar News - for the first time young congressmen have the chance to directly elect the prime minister not even 20 polling on the first day
यूथ कांग्रेस में जिला शहरी और देहाती प्रधान के चुनाव के लिए बुधवार से वोटिंग शुरू हुई। पहले दिन अमृतसर सेंट्रल और अमृतसर नॉर्थ विधानसभा हलके के यूथ कांग्रेस के वर्करों ने वोट डाले। वोटिंग सुबह 8 बजे शुरू होकर दोपहर 3 बजे तक चली। यूथ कांग्रेस के वर्करों में इस वोटिंग को लेकर कोई उत्साह नहीं दिखा। नतीजा-पहले दिन दोनों हलकों में 20% पोलिंग भी नहीं हुई। कुल मतदान 19.99% रहा। कैबिनेट मंत्री ओपी सोनी के हलके, सेंट्रल में तो 5010 वोटरों में से महज 836 ने मतदान किया। यहां वोटिंग 16% रही। इसी तरह कांग्रेसी विधायक सुनील दत्ती के हलके, नाॅर्थ में 6300 वोटरों में से महज 1511 ही वोट डालने पहुंचे। यहां वोटिंग 23.98% फीसदी रही। इस बार जिला यूथ कांग्रेस शहरी प्रधान के लिए राजीव छाबड़ा और आदित्य दत्ती आमने-सामने हैं। छाबड़ा के लिए सोनी लॉबिंग कर रहे हैं तो आदित्य के लिए मोर्चा सुनील दत्ती ने संभाल रखा है।

यूथ कांग्रेस के चुनाव में इस बार वोटिंग % घटने के कई कारण हैं। जैसे-पहली मर्तबा प्रधान चुनने के लिए डायरेक्ट वोटिंग हो रही है। सीनियर नेताओं का प्रेशर खत्म करने के लिए पहली दफा पार्टी ने वोटिंग लिस्ट में केवल वोटर (यूथ वर्कर) का नाम और उसके पिता का नाम दर्ज किया है जबकि पहले लिस्ट में उनके एड्रेस भी रहते थे। ऐसे में सीनियर लीडर किसी न किसी तरह दबाव बनाने में सफल हो जाते थे। इस बार प्रदेश में कांग्रेस सरकार होने के बावजूद यूथ प्रधान के लिए रिस्पांस इसलिए भी फीका है क्योंकि खुद कांग्रेसी अपनी सुनवाई न होने के आरोप लगाते रहे हैं।

सेंट्रल हलके का पोलिंग बूथ शहरी कांग्रेस भवन और नॉर्थ का बूथ देहाती कांग्रेस कार्यालय में बनाया गया था। सुबह साढ़े 5 बजे ही पुलिस ने दोनों पोलिंग बूथों के आसपास सुरक्षा बढ़ा दी थी। हालांकि उस समय वहां सिर्फ ताले लटके थे। सुबह 7 बजे हालगेट और रेलवे स्टेशन से सर्किट हाउस जाने वाले रास्ते भी बंद कर दिए गए।

राजीव छाबड़ा का आरोप- नियम तोड़कर दिनभर देहाती दफ्तर के बाहर रहे दत्ती और ममता

पहले दिन मतदान खत्म होने के बाद प्रधान पद के उम्मीदवार राजीव छाबड़ा ने आरोप लगाया कि पार्टी के कुछ सीनियर नेताओं ने नियम तोड़े। छाबड़ा ने कहा कि निर्वाचन टीमों ने सीनियर कांग्रेस नेताओं को पोलिंग बूथों से दूर रहने के लिए कहा था मगर आदित्य दर्ती के पिता विधायक सुनील दत्ती देहाती कांग्रेस कार्यालय के पास गए और वोटरों से बातचीत की। पार्षद ममता दत्ता भी वहां लोगों से मिलती दिखीं।

सबूत दिखाएं कार्रवाई होगी: डीआरओ

डीआरओ नरेश भारद्वाज ने कहा कि छाबड़ा सबूत दिखाएं। अगर कुछ भी साबित हुआ तो कार्रवाई जरूर की जाएगी।

देहाती कार्यालय के पास सुनील दत्ती।

देहाती कार्यालय के बाहर मौजूद ममता दत्ता।

2 वजह...मतदान % घटने की



आज साउथ, ईस्ट और वेस्ट की वाेटिंग, देहाती प्रधान के लिए मतदान कल

यूथ कांग्रेस प्रधान के लिए वोटिंग के प्रति वर्करों के रुझान का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कांग्रेस भवन में पहले आधे घंटे में मात्र 2 वोट पड़े। शुरुआती 1 घंटे में यहां सिर्फ 15 वोट पोल हुए। दोपहर 12 बजे तक 400 और ढाई बजे तक 650 वोटरों ने मतदान किया। यही हाल देहाती कार्यालय में रहा। वहां दोपहर 12 बजे तक 1000 तो 2 बजे तक 1300 वोट ही डले। वीरवार को भी मतदान जारी रहेगा। इस दौरान साउथ के वोटर शहरी कांग्रेस भवन और ईस्ट व वेस्ट हलके के वोटर देहाती कार्यालय में वोट डालेंगे। देहाती यूथ कांग्रेस प्रधान के लिए वोट 6 दिसंबर को देहाती कार्यालय में डाले जाएंगे।

हालगेट में एंट्री बंद करने से दिनभर लगा रहा जाम, लोग हुए परेशान

कांग्रेस शहरी कार्यालय में वोटिंग के दौरान हाल गेट में एंट्री पूरे दिन बंद रही। इससे चौक में जाम रहा।

हर तीन साल बाद चुनाव...इस बार टैबलेट्स पर डाले गए वोट

यूथ कांग्रेस के चुनाव 3 साल बाद होते हैं। इसकी शुरुआत 2008 में हुई। तब ब्लॉक वाइज डेलिगेट चुने गए, जिन्होंने जिला व पंजाब प्रधान चुना। 2008 के चुनाव में दिनेश बस्सी शहरी और शैलिंदरजीत शैली देहाती प्रधान चुने गए थे। 2011 से समूचे लोकसभा हलके का एक ही प्रधान चुना जाने लगा। तब शहर में हर वार्ड और रूरल में हर पंचायत से 5-5 डेलिगेट चुने गए, जिन्होंने आगे लोकसभा हलका, असेंबली और प्रदेश कमेटी का चुनाव किया। 2011 में विकास सोनी और 2015 में दिलराज सरकारिया यूथ कांग्रेस लोकसभा हलके के प्रधान चुने गए। लोकसभा चुनाव के चलते इस बार यूथ कांग्रेस के चुनाव एक साल देरी से हो रहे हैं। इस दफा सीधे वोटर शहरी और देहाती जिला प्रधान चुन रहे हैं। इस मर्तबा शहर में 17 हजार और देहात में 2800 वोटर हैं। यूथ कांग्रेस के वोट टैबलेट्स पर डाले गए। दोनों बूथों पर 10-10 टैब लगाए गए हैं।

वोट का टोटा...घर से ही झटका



Amritsar News - for the first time young congressmen have the chance to directly elect the prime minister not even 20 polling on the first day
Amritsar News - for the first time young congressmen have the chance to directly elect the prime minister not even 20 polling on the first day
X
Amritsar News - for the first time young congressmen have the chance to directly elect the prime minister not even 20 polling on the first day
Amritsar News - for the first time young congressmen have the chance to directly elect the prime minister not even 20 polling on the first day
Amritsar News - for the first time young congressmen have the chance to directly elect the prime minister not even 20 polling on the first day
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना