पंजाब / युवती ने थाने में खाया जहर, मंगेतर पर लगाया जान से मार देने की धमकियां देने का आरोप

girl who swallowed poison blamed police becoming inactive
X
girl who swallowed poison blamed police becoming inactive

  • कहा-अप्रैल में भेंट होने के बाद युवक के परिजनों के कहने पर अपने घर में रहने को दी युवती ने रहने को जगह
  • दो महीने विरोध के बावजूद शारीरिक संबंध बनाए और फिर घर जाने के बाद नाता तोड़ने के लिए बनाने लगे दबाव
  • तरनतारन महिला सेल और बटाला पुलिस के अधिकारियों पर लगाया कार्रवाई नहीं करने का आरोप

दैनिक भास्कर

Nov 19, 2019, 12:33 PM IST

बटाला (आजाद शर्मा). बटाला की एक युवती ने जहर खाकर आत्महत्या की कोशिश की है। युवती ने जहां अपने मंगेतर पर परेशान करने जान से मार देने की धमकियां देने का आरोप लगाया है, वहीं पुलिस के महिला प्रकोष्ठ को भी संदेह के घरे में लेने की कोशिश की है। हालांकि महिला प्रकोष्ठ की थाना प्रभारी ने उस दिन बीमार होने का हवाला देते हुए कहा है कि उनकी जानकारी के मुताबिक थाने में किसी ने युवती के साथ कोई गाली-गलौच नहीं किया।

 

बटाला की रहने वाली युवती ने बताया कि उसका मंगेतर बटाला के एक जिम में ट्रेनर का काम करता था। वह अक्सर अमृतसर में एक धार्मिक स्थल पर जाती है। अप्रैल में वहां संबंधित जिम ट्रेनर युवक ने जान-पहचान बढ़ाकर विवाह के लिए कहा तो उसने मना कर दिया। अगली बार जब वह वहां गई तो युवक के घर वालों ने शादी को लेकर दबाव बनाया और यहां तक कि जल्द ही शादी कर देने की बात उसे शगुन भी दिया गया। परिजनों के कहने पर यहां बटाला में किराये पर रह रहा कथित मंगेतर अब युवती के घर रहने लगा। आरोप है कि युवक ने उसके साथ शारीरिक संबंध भी बनाए। हालांकि उसने कई बार विरोध भी किया, लेकिन शादी वाली बात का इस्तेमाल करके वह झांसे में ले लेता। लगभग दो महीने दोनों पति-पत्नी की तरह रहे।

 

युवती की मानें तो जुलाई में दिल्ली में नौकरी के लिए जाने की कह युवक अपने शहर तरनतारन में चला गया। फोन करने पर उसके बड़े भाई ने बुरा-भला कह उससे नाता तोड़ने के लिए धमकाना शुरू कर दिया। इस संबंध में एसएसपी बटाला को मंगेतर, उसके बड़े भाई और अन्य परिजनों के खिलाफ शिकायत दी गई, लेकिन दूसरा पक्ष कभी भी बटाला नहीं पहुंचा। ऐसे में युवती अपने साथ हुए धोखे की बिनाह पर इंसाफ पाने के लिए एक महीने पहले एसएसपी कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ। डीएसपी सिटी बाल कृष्ण सिंगला ने जल्द ही जांच पूरी कर इंसाफ दिलाने का आश्वासन दिया था, लेकिन एक महीने बीत जाने के बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हुई। उल्टा मामला तरनतारन महिला प्रकोष्ठ में जाने के बाद थाने में उनके साथ गाली-गलौच किया और उसके एक साथी को हिरासत में रखकर प्रताड़ित किया गया।

 

क्या कहते हैं अधिकारी?

इस संबंध में तरनतारन वुमन सैल की थाना प्रभारी नरिंदर कौर ने कहा कि वह उस दिन बीमार होने के कारण छुट्टी पर थी। थाने में किसी ने युवती के साथ कोई गाली-गलौच नहीं किया। युवती द्वारा जहरीली दवा खाई गई थी, जिसे उसी समय तरनतारन के अमृतसर में दाखिल करवाया गया था। उन्होंने युवती द्वारा उसके एक साथी को हवालात में रखने के आरोप को भी झूठा बताया है। दूसरी ओर एसएसपी बटाला उपिंदरजीत सिंह घुम्मन ने कहा कि उन्हें पीड़ित युवती मिली है, उसकी शिकायत पर जांच कर बनती कानूनी कार्रवाई के आदेश डीएसपी सिटी बीके सिंगला को कर दिए गए हैं। जब युवती की तरफ से धरना लगा इंसाफ की मांग किए जाने और डीएसपी सिटी सिंगला आश्वासन के बारे में सवाल किया गया तो घुम्मन ने कहा कि पीड़ित युवती ने मामले के हल होने का हवाला देकर खुद समय देने की मांग की थी।

 

 

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना