पंजाब / गर्मख्याली सिख संगठनों ने हेरिटेज स्ट्रीट में की तोड़फोड़,पुलिस ने किए 8 युवक गिरफ्तार-एक फरार

अमृतसर में हेरिटेज मूर्तियों को तोड़ा गया। अमृतसर में हेरिटेज मूर्तियों को तोड़ा गया।
X
अमृतसर में हेरिटेज मूर्तियों को तोड़ा गया।अमृतसर में हेरिटेज मूर्तियों को तोड़ा गया।

  • युवकों ने राडों व हथौड़ों से बुतों को तोड़ा

Dainik Bhaskar

Jan 17, 2020, 10:49 AM IST

अमृतसर. श्री दरबार साहिब की हेरिटेज स्ट्रीट पर लगे पंजाबी सभ्याचार को दर्शाते बुतों के थड़ों को पिछली रात कुछ युवकों ने तोड़ डाला। इन युवकों पर बुतों को तोड़ने की सनक सवार थी। इसलिए जब पुलिस मुलाजिमों ने इन्हें रोका तो उन पर भी हमला कर दिया।

इसी बीच आरोपियों ने हथौड़ों और रॉडों से पुतलों को तोड़ना जारी रखा। जब थाना ई-डिवीजन की फोर्स मौके पर पहुंची तो एक युवक फरार हो गया, जबकि 8 को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने इस संबंध में 9 युवकों के खिलाफ पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुंचाने और जानलेवा हमला करने का केस दर्ज किया है।

तोड़-फोड़ का युवकों ने एक वीडियो भी बनाया, जिसमें वे कह रह हैं कि बुत सिख धर्म और सिखों की आस्था को चोट पहुंचाते हैं। आरोपियों को पंजाब के समृद्ध संस्कृति से जुड़े इन बुतों में फूहड़ता नजर आती है।

जानकारी के अनुसार कुछ महीनों से खुद को कौम के राखे कहने वाले कुछ युवक सोशल मीडिया पर बुतों को हटाने की मांग पर अड़े थे। उनका कहना है कि दरबार साहिब पवित्र स्थान है। यहां लोग आस्था से पहुंचते हैं। लेकिन बुत फूहड़ता फैला रहे हैं, लोग इनके आगे सेल्फियां लेते हैं, जिससे गुरु घर की मर्यादा भंग होती है।

इनके इन बेतुके तर्कों के कारण इन्हें किसी सिख जत्थेबंदी ने समर्थन नहीं दिया, मगर यह अपनी सनक में मंगलवार रात 1.30 बजे विरासती मार्ग पर पहुंचे। तोड़फोड़ से पहले इन्होंने उन्होंने ग्रुप फोटो खिंचवाई। इसके बाद हथोड़े लेकर बुतों पर चढ़ गए और थड़े को नुकसान पहुंचाया।
 

3 युवक अमृतसर के, बाकी दूसरे जिलों से :

पुलिस ने आठ युवाओं को गिरफ्तार किया है, जिनमें कुछ अमृतसर के ही हैं और कुछ अन्य शहरों से पहुंचे हैं। पकड़े गए युवा रोपड़ गांव ढाहा निवासी मनिंदर सिंह उर्फ मनी, भाई मंज सिंह रोड अमृतसर निवासी अमरजीत सिंह, गांव सोहल झब्बाल निवासी रणजीत सिंह, नूरपुर बेदी आनंदपुर साहिब निवासी हरविंदर सिंह, बटाला निवासी गुरसेवक सिंह, बलाचौर नवांशहर निवासी रविंदर सिंह, सुल्तानविंड रोड कोट भगत सिंह निवासी राजबीर सिंह और मोहनी पार्क निवासी हरकुंवर सिंह हैं।
 

इस विवाद पर बीबी जागीर कौर पूर्व प्रधान एसजीपीसी ने कहा कि यह बुत पंजाबी विरसे का प्रतीक हैं। इनसे संगत को पंजाबियत के बारे में पता चलता है। इन्हें नुकसान पहुंचाना गलत है। आरोपियों को विरसे के बारे में पता नहीं। घटना अफसोसजनक है। 

विधायक व कांग्रेसी नेता डॉ.राजकुमार वेरका ने कहा कि  बुत पंजाब के सभ्याचार का हिस्सा हैं। इन्हें तोड़ना ठीक नहीं है। यह गलत किया गया है, और ऐसा नहीं किया जाना चाहिए था। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना