• Home
  • Punjab
  • Amritsar
  • वाल्मीकि-मजहबी कौम की कैबिनेट में अनदेखी चिंता का विषय : वेरका
--Advertisement--

वाल्मीकि-मजहबी कौम की कैबिनेट में अनदेखी चिंता का विषय : वेरका

अमृतसर वेस्ट से कांग्रेस के विधायक डाॅ. राजकुमार वेरका ने हाल के मंत्रिमंडल विस्तार में हुई उनकी अनदेखी को लेकर...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:05 AM IST
अमृतसर वेस्ट से कांग्रेस के विधायक डाॅ. राजकुमार वेरका ने हाल के मंत्रिमंडल विस्तार में हुई उनकी अनदेखी को लेकर मंगलवार को अपने समर्थकों के लिए एक वीडियो जारी किया। इस वीडियो में वेरका ने कहा-’अनदेखी की बात सच है और चिंता का विषय भी है। दलित की च्वाइस से पहले उसकी खूबियां और कमियां पूछी जाती हैं। इसी तरह मेरे बारे में भी कहा गया कि यह दलित आदमी तो काम का है लेकिन सीना तानकर चलता है और मुंह में जुबान भी रखता है। कई यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों खासकर जेएनयू के दलित स्टूडेंट्स ने मुझे लिखा है कि आप तो वाल्मीकि कौम के एकलव्य हो और जब भी जरूरत पड़ती है तो साजिश के तहत एकलव्य का अंगूठा मांग लिया जाता है।”

वीडियो में वेरका ने दलितों पर अत्याचार से जुड़ी कुछ खबरों का जिक्र करते हुए कहा कि पूरे देश के अंदर दलितों को जलील करने के साथ उन्हें मारा जा रहा है। आज देश में कोई नेता इन घटनाओं पर बोलने को तैयार नहीं है मगर अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दलितों के हकों की लड़ाई अपने कंधों पर ले ली है है इसलिए सभी को उनके हाथ मजबूत करने चाहिए।

वेरका ने कहा कि बुझदिलों से तो कभी भी लड़ लेंगे मगर फिलहाल वह बड़ी लड़ाई की ओर बढ़ रहेे हैं इसलिए छोटी लड़ाई में नहीं पड़ना। हां, पंजाब कैबिनेट में दलित समुदाय से 6 मंत्री होने चाहिए थे मगर सिर्फ 3 विधायकों को ही मंत्रिमंडल में लिया गया। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने इसे स्वीकार करते हुए पूर्ति करने की बात कही है इसलिए उन्हें प्रदेश कांग्रेस नेतृत्व से किसी तरह की कोई शिकायत नहीं है।

बोले-दलित की च्वाइस से पहले उसकी खूबियां और कमियां पूछी जाती हैं