Hindi News »Punjab »Amritsar» जाति के आधार पर बने गुरुद्वारों में सब के लिए खोलें कपाट

जाति के आधार पर बने गुरुद्वारों में सब के लिए खोलें कपाट

श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ने गांव में जाति...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 02:05 AM IST

श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ने गांव में जाति के आधार पर बने गुरुद्वारा साहिबान को एक ही जगह करने का आदेश दिया था। श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने कहा था कि गांव व शहरों में जाति के आधार पर बहुत सारे गुरुद्वारे बने हुए हैं। बहु संख्या गांवों में आपसी रंजिश के चलते भी एक से ज्यादा गुरुद्वारा बने हुए हैं। इनमें से ज्यादातर गुरुघरों में तो ग्रंथी भी नहीं हैं। जत्थेदार ने आदेश दिया था कि संगत आपसी रंजिश भूलकर एक गांव में केवल एक ही गुरुद्वारा बनाएं। ऐसे एकता होने से गुरुद्वारा साहिब की महानता भी बढ़ती है। इसके साथ ही अच्छी तरह प्रबंध होने कारण श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी की घटनाएं भी रुक सकती हैं। अकाल तख्त साहिब की इस मुहिम का एसजीपीसी के प्रधान गोबिंद सिंह लोंगोवाल ने भी काफी प्रचार करते हुए संगत को इस पर पहरा देने की प्रेरणा की। जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने कहा कि श्री अकाल तख्त साहिब के आदेशों की पालना करते हुए एसजीपीसी मेंबर भाई अमरीक सिंह की ओर से एक गांव में पांच गुरुद्वारों से एक गुरुद्वारा बनाया गया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×