Hindi News »Punjab »Amritsar» ‘तू झूठी बात पर न और ऐतबार कर कि हर सांस का जवाब चाहिए...’

‘तू झूठी बात पर न और ऐतबार कर कि हर सांस का जवाब चाहिए...’

मंगलवार पहली मई को पूरी दुनिया, देश में मजदूर दिवस मनाया गया। उसी कड़ी के तहत यहां पर मजदूर, मुलाजिम, किसान...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 02, 2018, 02:05 AM IST

मंगलवार पहली मई को पूरी दुनिया, देश में मजदूर दिवस मनाया गया। उसी कड़ी के तहत यहां पर मजदूर, मुलाजिम, किसान जत्थेबंदियों ने जगह-जगह रैली-मार्च निकाल कर अपने हक और हकूक की मांग की तथा सरकारों के जनविरोधी, शोषण और दमनकारी नीतियों के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। कई रैलियों में प्रसिद्ध लेखक शलभ श्रीराम सिंह की रचना-”तसल्लियों के इतने साल बाद अपने हाल पर निगाह डाल, सोच और सोच कर सवाल कर, किधर गए वो वादे? सुखों के ख्वाब क्या हुए? तुझे था जिनका इंतजार वो जवाब क्या हुए? तू इनकी झूठी बात पर न और ऐतबार कर कि तुझको सांस-सांस का सही जवाब चाहिए! घिरे हैं हम सवाल से हमें जवाब चाहिए! जवाब दर सवाल है कि इंकलाब चाहिए..? गूंजी।

इस कड़ी के तहत ग्वाल मंडी चौक पर ऑल पंजाब रेहड़ी-फड़ी यूनियन पंजाब की तरफ से प्रधान डॉ. इंदरपाल की अगवाई में मजदूर दिवस मनाया गया। इस दौरान पहले शिकागो के शहीदों को श्रद्धांजलि भेंट की गई फिर मजदूर, किसान, मुलाजिम तथा गरीब-गुरबे की हक और अधिकारों पर चर्चा हुई। इस मौके पर नगर निगम की तरफ से सुशांत भाटिया, मानिक अली, प्रभजीत सिंह, मुख्तार सिंह, बीबी बलविंदर कौर, प्रेम कुमार, धरम सिंह, रमन कुमार, कुलवंत सिंह, नानक मसीह, परवीन गौतम, दर्शन सिंह, जगीर सिंह, मेजर सिंह, नरेश कुमार शर्मा आदि मौजूद हुए।

वार्ड नंबर 77 के तहत आते इंदर पुरी इलाके की गली नंबर 4 में आम आदमी पार्टी के जिला सचिव तथा मजदूर यूनियन जन संगठन के प्रधान वेद प्रकाश बबलू की अगुवाई में मजदूर दिवस मनाया गया। यहां भी लोगों ने शिकागो के शहीदों को नमन किया और वर्तमान में देश के मजदूर, किसान, मुलाजिम तबके की खस्ता हाली पर रोशनी डाली। इस मौके पर वरुण शंकर, काशीराम, मोहन तिवारी, परमात्मा सिंह, दुर्गा दास आदि मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Amritsar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×