• Hindi News
  • Punjab
  • Amritsar
  • दिल्ली फतेह दिवस अब कौमी दिवस के रूप में मनाया जाएगा
--Advertisement--

दिल्ली फतेह दिवस अब कौमी दिवस के रूप में मनाया जाएगा

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:05 AM IST

Amritsar News - दिल्ली फतेह दिवस को नानकशाही कैलेंडर में कौमी दिवस के रूप में शामिल किया जाएगा। यह ऐलान श्री अकाल तख्त साहिब के...

दिल्ली फतेह दिवस अब कौमी दिवस के रूप में मनाया जाएगा
दिल्ली फतेह दिवस को नानकशाही कैलेंडर में कौमी दिवस के रूप में शामिल किया जाएगा। यह ऐलान श्री अकाल तख्त साहिब के जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह ने लाल किला मैदान में आयोजित समागम में किया।

दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी द्वारा एसजीपीसी तथा निहंग जत्थेबंदियों के सहयोग से सरदार जस्सा सिंह आहलूवालिया की तीसरी जन्म शताब्दी एवं दिल्ली फतेह दिवस के संदर्भ में समागम आयोजित किया गया था। सिंह साहिब ने कहा कि 11 मार्च के दिल्ली फतेह दिवस को नानकशाही कैलेंडर में कौमी दिवस के रूप में दर्ज किया जाएगा। जत्थेदार ने आहलूवालिया समाज के सिखी से दूर जा चुके परिवारों को वापस सिखी में आने की अपील की।

राज्यसभा के पूर्व सदस्य त्रिलोचन सिंह ने जस्सा सिंह आहलूवालिया के नाम पर दिल्ली के एक मार्ग का नाम रखने, स्मारक के निर्माण तथा लालकिले में रोजाना दिखाए जाते लाइट एंड साउंड शो में दिल्ली फतेह का इतिहास दर्ज करवाने के लिए दिल्ली कमेटी को पहल करने की अपील की। उन्होंने दिल्ली कमेटी तथा एसजीपीसी को गुरुद्वारों में सोना लगाने की बजाय सोने के दसवंध (दसवें हिस्से) को कौम का प्रचार टीवी के जरिए करने में इस्तेमाल करने की बात कही। दिल्ली सिख गुरुद्वारा मैनेजमेंट कमेटी के प्रधान मनजीत सिंह जीके, जनरल सेक्रेटरी मनजिंदर सिंह सिरसा तथा राज्यसभा सांसद बलविंदर सिंह भूंदड़ ने भी संबोधित किया। एसजीपीसी के प्रधान भाई गोबिंद सिंह लौंगोवाल ने कहा कि आज लाल किले पर तिरंगा झंडा झूल रहा है तो वह सिख योद्धाओं की कुर्बानियों के चलते है। जीके ने कहा कि पगड़ी के मामले में उन्हें किसी के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं।

लाल किले पर समागम में जत्थेदार श्री अकाल तख्त साहिब ने किया ऐलान

समागम में शामिल ज्ञानी गुरबचन िसंह और अन्य शख्सियतें।

प्रमुख शख्सियतों का सम्मान

कार्यक्रम के दौरान अकाल तख्त के जत्थेदार गुरबचन सिंह के अलावा तख्त श्री पटना साहिब के जत्थेदार ज्ञानी इकबाल सिंह, तख्त श्री केसगढ़ साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रघुबीर सिंह, तख्त श्री दमदमा साहिब के जत्थेदार ज्ञानी हरप्रीत सिंह, भाई गोबिंद सिंह लौंगोवाल, बुड्ढा दल के प्रमुख बाबा बलबीर सिंह, दल पंथ बाबा बिधी चंद के प्रमुख बाबा अवतार सिंह सुरसिंह वाले, तरना दल के प्रमुख बाबा निहाल सिंह हरियांवेलां, एक हाथ से पगड़ी बांधने वाले कमलप्रीत सिंह, अपनी आंख पर पट्टी बांध कर दूसरे को पगड़ी बांधने वाले चन्नप्रीत सिंह, राज्यसभा सदस्य बलविंदर सिंह भूंदड़ सहित समागम में सहयोग देने वाली कई शख्सियतों का सम्मान किया गया।

X
दिल्ली फतेह दिवस अब कौमी दिवस के रूप में मनाया जाएगा
Astrology

Recommended

Click to listen..