• Hindi News
  • Punjab
  • Amritsar
  • बच्चों से पूछा तो खाने-पीने की शिकायतें आईं सामने
--Advertisement--

बच्चों से पूछा तो खाने-पीने की शिकायतें आईं सामने

शिक्षा मंत्री ओम प्रकाश सोनी ने सोमवार को अचानक मेरिटोरियस स्कूल की चेकिंग की। उन्होंने कक्षाओं के साथ-साथ...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:05 AM IST
बच्चों से पूछा तो खाने-पीने की शिकायतें आईं सामने
शिक्षा मंत्री ओम प्रकाश सोनी ने सोमवार को अचानक मेरिटोरियस स्कूल की चेकिंग की। उन्होंने कक्षाओं के साथ-साथ स्टूडेंट्स के होस्टल, खाने, साफ-सफाई आदि की भी जांच की। उन्होंने स्कूल में अध्यापकों की कमी का सख्त नोटिस लेते हुए जिला शिक्षा अधिकारी को जरूरी अध्यापक भेजने की हिदायत की। शिक्षा मंत्री ने स्कूल के बच्चों के साथ अकेले में भी बातचीत की और उनसे स्कूल में मिलने वाली सुविधाओं के बारे में पूछा। बच्चों ने ज्यादातर शिकायतें खाने-पीने की ही कीं। मंत्री सोनी ने मौके पर ही अधिकारियों को एक दिन के अंदर-अंदर इन समस्याओं का हल करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह स्कूल होशियार स्टूडेंट्स को और बेहतर शिक्षा देने के लिए बनाए गए हैं और इसमें किसी तरह की कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इन स्कूलों का प्रबंध देख रही सोसायटी सीधे तौर पर मुख्यमंत्री के अधीन है और वह चाहते हैं कि यह स्कूल अच्छे नतीजे दे। शिक्षा के साथ-साथ होस्टल मैस की जांच करते हुए शिक्षा मंत्री ने हिदायत की कि बच्चों की खुराक में कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। अलग-अलग विषयों के सिलेबस में की गई वृद्धि और कमी के चल रहे मुद्दे पर उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री पहले ही यह स्पष्ट कर चुके है कि एनसीईआरटी की हिदायतों के मुताबिक कुछ अध्याय 12वीं कक्षा से 11वीं कक्षा में तब्दील किए गए हैं न कि हटाए गए है। उन्होंने विरोधी पार्टियों को अपील की कि वह राज्य की शिक्षा प्रणाली में सुधार लाने के लिए अपनी भूमिका अदा करें।

X
बच्चों से पूछा तो खाने-पीने की शिकायतें आईं सामने
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..