• Hindi News
  • Punjab
  • Amritsar
  • शताब्दी में यात्रियों का सफर रहा गंदगी और बदबू से भरा
--Advertisement--

शताब्दी में यात्रियों का सफर रहा गंदगी और बदबू से भरा

यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के रेलवे के दावों की पोल सोमवार को नई दिल्ली से अमृतसर शताब्दी एक्सप्रेस (12013-12014) ने...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:05 AM IST
शताब्दी में यात्रियों का सफर रहा गंदगी और बदबू से भरा
यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के रेलवे के दावों की पोल सोमवार को नई दिल्ली से अमृतसर शताब्दी एक्सप्रेस (12013-12014) ने खोल कर रख दी। इन ट्रेन के यात्रियों का सफर गंदगी और बदबू से भरा रहा। इतना ही नहीं लोगों को पीने के लिए दिया जाने वाला पानी इतना गर्म था कि वह पीने लायक ही नहीं था। सी-1 ट्रेन में सफर कर रहे यात्रियों ने इसकी शिकायत भी की है। कंप्लेंट बुक पर शिकायत करते हुए यात्री नरिंदर कुमार ने कहा कि काफी समय के बाद उन्होंने इस ट्रेन में सफर किया है, लेकिन यह सफर उन्हें जिंदगी भर याद रहेगा। सी-1 ट्रेन में उनकी सीट नंबर 60 है। यह ट्रेन जब अमृतसर के लिए रवाना हुई तो उन्होंने ट्रेन में स्टाफ से पानी मांगा। पानी आया तो वह इतना गर्म था कि पीने लायक भी नहीं था।

ट्रेन में लगा फ्रिज पिछले 20 दिन से खराब

पीने वाले पानी की बोतल जब यात्री को गर्म दी गई तो उसने इसका कारण पूछा। ट्रेन में कैंटीन स्टाफ का सदस्य पहले जवाब देने से इंकार करते हुए कहने लगा कि उसकी नौकरी का सवाल है। बाद में उसने बताया कि ट्रेन में लगा फ्रिज 20 दिन से खराब है, इस बाबत उन्होंने अधिकारियों को बता भी रखा है, लेकिन वह ठीक नहीं करवाया गया।

बाथरूम भी गंदे और चाय के स्टोर में भी गंदगी

यात्री ने बताया कि उनके कोच के टॉयलेट में भी इतनी गंदगी थी कि अंदर जाना भी मुश्किल था। हैंड क्लीनर के लिए रखी गई बोतल भी खाली थीं। हालांकि टॉयलेट से आने के बाद वह हाथ धोने के लिए रखा जाता है, लेकिन ऐसा कुछ नहीं था। रेलवे ने यह दावा करते हुए इस ट्रेन को अपडेट करते हुए चलाया था कि यात्रियों को लग्जरी सुविधाओं जैसा अहसास होगा, पर ऐसा कतई नहीं है।

एक लापरवाही यह भी, एक दिन पहले सी-1 में सीट कंफर्म, जब सीट पर बैठा तो ई-1 का आया मैसेज

रेलवे की लापरवाही हमेशा सामने आती रहती है। इस ट्रेन में नई दिल्ली से अमृतसर तक का सफर करने वाले यात्री के लिए भी सोमवार को कुछ ऐसा ही हुआ। यात्री ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि वह अक्सर इस ट्रेन में सफर करता रहता है। रविवार को पहले सी-1 ट्रेन में सीट होने का संदेश आया। जब वह सोमवार को ट्रेन में बैठ गया तो ई-1 में सीट होने का संदेश आ गया। उसने बताया कि सी-1 डिब्बा अंत में होता है और ई-1 सबसे आगे। सी-1 में बैठ जाने के बाद ई-1 में अपने सामान के साथ जाने में उनका कितना समय बर्बाद होगा, इसका अंदाजा सहज ही लगाया जा सकता है।

शताब्दी में यात्रियों का सफर रहा गंदगी और बदबू से भरा
शताब्दी में यात्रियों का सफर रहा गंदगी और बदबू से भरा
X
शताब्दी में यात्रियों का सफर रहा गंदगी और बदबू से भरा
शताब्दी में यात्रियों का सफर रहा गंदगी और बदबू से भरा
शताब्दी में यात्रियों का सफर रहा गंदगी और बदबू से भरा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..