• Hindi News
  • Punjab
  • Amritsar
  • शहर में आलू मक्की के स्टार्च से बने कैरीबैग ही होंगे इस्तेमाल
--Advertisement--

शहर में आलू-मक्की के स्टार्च से बने कैरीबैग ही होंगे इस्तेमाल

Amritsar News - जिला प्रशासन ने प्लास्टिक लिफाफों के खिलाफ एक बार फिर सख्ती दिखाते हुए इन्हें 15 मई से शहर में पूरी तरह बंद करने का...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:10 AM IST
शहर में आलू-मक्की के स्टार्च से बने कैरीबैग ही होंगे इस्तेमाल
जिला प्रशासन ने प्लास्टिक लिफाफों के खिलाफ एक बार फिर सख्ती दिखाते हुए इन्हें 15 मई से शहर में पूरी तरह बंद करने का ऐलान किया है। इनकी जगह लोगों को आलू और मक्की के स्टार्च से बने कंपोस्ट कैरीबैग उपलब्ध करवाए जाएंगे। ये कैरीबैग बनाने के लिए चार विदेशी कंपनियों से समझौता किया गया है। कंपोस्ट कैरीबैग तीन महीनों के अंदर खुद ही नष्ट हो जाएगा। इससे पहले दरबार साहिब में पहली अप्रैल से इन कंपोस्ट कैरीबैग का इस्तेमाल शुरू किया जा चुका है। सोमवार को एडीसी (जनरल) सुभाष चंद्र और पंजाब पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के एसई हरबीर सिंह ने शहर में पॉलीथिन बैग बेचने वाले डिस्ट्रीब्यूटरों और होलसेलर्स के साथ मीटिंग की। एडीसी ने उन्हें बताया कि प्रशासन ने 15 मई से शहर में प्लास्टिक के लिफाफे इस्तेमाल करने पर पूर्ण पाबंदी लगाने का फैसला किया है। उसके बाद जो डिस्ट्रीब्यूटर या होलसेलर पॉलीथिन बेचता पाया जाएगा, उस पर कानूनी कार्यवाही की जाएगा। एडीसी ने कहा कि पंजाब सरकार ने वर्ष 2016 में ही पॉलीथिन बनाने, बेचने और इस्तेमाल करने पर पाबंदी लगा दी थी, मगर अभी भी इनका धड़ल्ले से इस्तेमाल किया जा रहा है। पॉलीथिन से जहां वातावरण खराब होता है, वहीं ये सीवरेज भी ब्लॉक कर देते हैं।

15 मई से प्लास्टिक के लिफाफों पर पूर्ण पाबंदी, एडीसी और पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के एसई ने डिस्ट्रीब्यूटरों/होलसेलरों से मीटिंग की

डिमांड पूरी करने के लिए 4 विदेशी कंपनियों से करार

पंजाब पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के एसई हरबीर सिंह ने बताया कि भारत सरकार ने चार विदेशी कंपनियों से समझौता किया है जो आलू और मक्की के स्टार्च से कंपोस्ट कैरीबैग तैयार करेंगी। हवा के संपर्क में आने पर ये कैरीबैग तीन महीने के अंदर खुद ब खुद नष्ट हो जाएगा। इन कंपनियों से कहा गया है कि वह कंपोस्ट कैरीबैग बनाने में इस्तेमाल होने वाला कच्चा माल हमारे देश के अंदर ही तैयार करेंगी। इन कंपनियों को कच्चे माल की सप्लाई के लिए दो-तीन महीने के अंदर जालंधर जिले के गोराया में प्लांट लग जाएगा।

ज्यादा नहीं होगी इन कैरीबैग्स की कीमत

पंजाब पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के एसई हरबीर सिंह ने बताया कि कंपोस्ट कैरीबैग की कीमत ज्यादा नहीं होगी। जैसे-जैसे उत्पादन बढ़ेगा, इसकी कीमत और कम होगी। बैठक में होलसेलर यूनियन के प्रधान अनिल महाजन, सतीश कुमार, हरप्रीत सिंह, गुरसिमरत सिंह के अलावा बड़ी संख्या में व्यापारी मौजूद थे।

X
शहर में आलू-मक्की के स्टार्च से बने कैरीबैग ही होंगे इस्तेमाल
Astrology

Recommended

Click to listen..