पंजाब / दो दिन के इंतजार के बाद राहुल से हुई सिद्धू की मुलाकात, पंजाब के हालात पर सौंपा पत्र



navjot singh sidhu mets with rahul gandhi in Delhi Captain Amrinder
X
navjot singh sidhu mets with rahul gandhi in Delhi Captain Amrinder

  • 6 जून को पंजाब कैबिनेट में हुआ फेरबदल, नवजोत सिंह सिद्धू के नए मंत्रालय संभालने पर स्थिति साफ नहीं
  • दो दिन के इंतजार के बाद सोमवार सुबह हुई सिद्धू की राहुल से मुलाकात, वरिष्ठ नेता अहमद पटेल और प्रियंका भी थी मौजूद

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2019, 12:09 PM IST

अमृतसर. पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन प्रियंका गांधी से मुलाकात की है। दरअसल पिछले कुछ दिनों से, खासकर लोकसभा चुनाव के वक्त से सिद्धू और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच की तल्खी सार्वजनिक हो चुकी है। सिद्धू का विभाग तक बदल दिया गया, वहीं खुद को पाक-साफ बता रहे सिद्धू ने सोमवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और उनकी बहन प्रियंका गांधी से मुलाकात की है। इस मुलाकात के बाद कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

 

6 जून को पंजाब कैबिनेट में हुए फेरबदल के बाद से यह भी साफ नहीं हो पाया है कि नवजोत सिंह सिद्धू अपने नए मंत्रालय संभालेंगे भी या नहीं। क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू और उनकी पत्नी नवजोत कौर फिलहाल मीडिया से दूर ही रह रहे हैं। इसी के चलते वह बीते हफ्ते भी राहुल से मिलने दिल्ली पहुंचे थे, लेकिन दो दिन तक इंतजार करने के बाद भी राहुल ने उन्हें मिलने का समय नहीं दिया था। सोमवार को उन्होंने राहुल से मुलाकात की और उन्हें एक पत्र सौंपा है, जिसमें उन्हें राज्य की परिस्थिति से अवगत कराया गया है। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि खत में क्या लिखा हुआ है। इस दौरान प्रियंका गांधी वाड्रा और अहमद पटेल भी मौजूद थे।

 

हार की जिम्मेदारी सामूहिक- सिद्धू

बीते दिनों सिद्धू ने कहा, ''पार्टी के प्रदर्शन के लिए मुझ पर निशाना साधना गलत है। मुझे महत्वहीन नहीं समझा जा सकता है। सिर्फ मेरे ही खिलाफ एक्शन क्यों लिया जा रहा है? हार की जिम्मेदारी सामूहिक है। फिर बाकी नेताओं-मंत्रियों के खिलाफ क्यों नहीं? मैं हमेशा ही बेहतर परफॉर्मर रहा हूं। कुछ लोग मुझे पार्टी से बाहर निकालना चाहते हैं।''

 

मंत्री के तौर पर सिद्धू के प्रदर्शन की समीक्षा की जरूरत- अमरिंदर सिंह

अमरिंदर सिंह ने हाल ही में कहा था कि राज्य के शहरी इलाकों में कांग्रेस का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा। मंत्री के तौर पर सिद्धू के प्रदर्शन की समीक्षा की जरूरत है और वह अपना विभाग संभाल पाने में सक्षम नहीं हैं।

 

हालांकि, अमरिंदर के इस बयान के बाद सिद्धू ने कहा था कि पंजाब के किसी दूसरे मंत्री ने इतनी पारदर्शिता से काम नहीं किया, जितनी पारदर्शिता के साथ उन्होंने किया है।

 

पत्नी नवजोत काैर को टिकट न मिलने से नाराज हैं सिद्धू

लोकसभा चुनाव में टिकट न मिलने पर सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू ने अमरिंदर के खिलाफ नाराजगी जताई थी। उन्होंने आरोप लगाया था कि उन्हें अमरिंदर सिंह की वजह से अमृतसर से लोकसभा का टिकट नहीं मिला। वहीं, सिद्धू ने भी पत्नी का समर्थन किया था। हालांकि, अमरिंदर ने इन आरोपों से इनकार कर दिया था।


इससे पहले भी कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच मतभेद की खबरें आती रहीं हैं। 2018 में जब सिद्धू करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के दौरान पाकिस्तान गए थे तो कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि सिद्धू हाईकमान की परमिशन के बिना वहां गए हैं।


सिद्धू ने राहुल को बताया था अपना कैप्टन

पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव के दौरान उन्‍होंने कहा था, कौन कैप्‍टन, अच्‍छा कैप्टन अमरिंदर सिंह। अरे वह तो सेना के कैप्‍टन हैं। मेरे कैप्‍टन तो राहुल गांधी हैं। मेरे और अमरिंदर सिंह दोनों के कैप्‍टन राहुल गांधी हैं। इसके बाद सिद्धू निशाने पर आ गए और मामला गर्माने के बाद सिद्धू ने अम‍रिंदर सिंह से माफी मांगी थी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना