अब सेंट्रल इनडायरेक्ट टैक्स बोर्ड के हरेक दस्तावेज पर आइडी नंबर लगकर आएगा

Amritsar News - सेंट्रल बोर्ड आॅफ इनडायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम (सीबीआईसी) की तरफ से अब करदाताओं के साथ किए जाने वाले हर पत्राचार पर...

Nov 11, 2019, 07:27 AM IST
सेंट्रल बोर्ड आॅफ इनडायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम (सीबीआईसी) की तरफ से अब करदाताओं के साथ किए जाने वाले हर पत्राचार पर डॉक्यूमेंट आइडेंटिफिकेशन नंबर (डिन) लगेगा। इससे जहां हर दस्तावेज पर सरकार की नजर रहेगी, वहीं काम भी समयबद्ध तरीके से होंगे। इससे कारोबारियों को अनावश्यक हैरासमेंट का सामना नहीं करना पड़ेगा। वहीं इन दस्तावेजों पर लगे डिन की वेरिफिकेशन cbic.gov.in पर जाकर VERIFYCBIC-DIN पर की जा सकती है। बिना डिन के जारी दस्तावेज कानूनी तौर पर मान्य नहीं होगा। 8 नवंबर 2019 से डिन का प्रयोग हर तरह की सर्च, सम्मान, इंस्पेक्शन, अरेस्ट वारंट व अन्य प्रकार की जांच पड़ताल पर करना लाजिमी है।

फार्मों में पैन की जगह आधार हो सकेगा इस्तेमाल

सीए विभोर गुप्ता के मुताबिक इनकम टैक्स फार्मों में अब पैन की जगह आधार कार्ड भी इस्तेमाल किया जा सकेगा। वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण में कहा था कि भारत में 120 करोड़ आधार कार्ड धारक हैं, इसलिए आधार कार्ड का प्रयोग इनकम टैक्स फार्मों में भी किया जाएगा। अब इसकी अधिसूचना जारी कर दी गई है। बैंक की एफडीआर के ब्याज पर टीडीएस से छूट पाने के लिए परमानेंट एकाउंट नंबर (पैन) नहीं होने की सूरत में आधार कार्ड का प्रयोग किया जा सकेगा। इसके साथ ही टीडीएस रिटर्नों में जिस व्यक्ति का टैक्स काटा गया है, उसका पैन नहीं होने की सूरत में आधार कार्ड इस्तेमाल किया जा सकेगा। किसी व्यक्ति से 20 हजार से अधिक की रकम लेने पर उसका पैन नंबर देना आडिट रिपोर्ट में में अनिवार्य है। अब आधार कार्ड के नंबर से भी यहां काम चल जाएगा। जिक्रयोग्य है कि इनकम टैक्स रिटर्नों में पहले से ही आधार नंबर लाजिमी किया हुआ है, साथ ही सरकार ने 31 दिसंबर 2019 तक जिन लोगों के पास पैन नहीं है, एवम आधार लेने की योग्यता है, उसके लिए इनकम टैक्स विभाग को आधार नंबर देना अनिवार्य किया हुआ है। आधार की सूचना नहीं देने पर पैन अमान्य हो जाएगा।

सीए विभोर गुप्ता

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना