पंजाब / मजदूरों के साथ पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों ने की मारपीट, एक जख्मी

Dainik Bhaskar

May 17, 2019, 07:18 PM IST



police beaten the laborers at an underconstruction site after lease
police beaten the laborers at an underconstruction site after lease
police beaten the laborers at an underconstruction site after lease
X
police beaten the laborers at an underconstruction site after lease
police beaten the laborers at an underconstruction site after lease
police beaten the laborers at an underconstruction site after lease

  • गुरदासपुर के गांव रनियां में जख्मी मजदूर को थाने में बिठाया तो नेताओं व शहरवासियों ने घेरा थाना
  • आरोप: लीज पर लिए प्लाट के सभी कागजात दिखाने के बाद भी पुलिस ने की धक्केशाही

गुरदासपुर. गांव रनियां में एक प्लाट पर चल रहे निर्माण कार्य को पुलिस ने वीरवार को रोक दिया था। पुलिस का कहना था कि थाने में फोन आया है कि यह जमीन खादी बोर्ड की है और इस पर अवैध तौर पर निर्माण करवाया जा रहा है। उक्त जमीन के मालिक द्वारा पुलिस को उक्त प्लाट को लीज पर लेने संबंधी सभी कागजात भी दिखाये गए लेकिन शुक्रवार को जब मिस्त्री व मजदूर उक्त प्लाट पर निर्माण कार्य कर रहे थे तो थाना धारीवाल की पुलिस ने उनसे मारपीट करनी शुरू कर दी जिस कारण एक मजदूर गंभीर जख्मी हो गया। जबकि बाकी लोगों को पुलिस ने थाने में बंद कर दिया।

 

99 साल के लिए लीज पर ली जमीन

परमजीत सिंह पुत्र कुलवंत सिंह निवासी गांव रनियां ने बताया कि खादी बोर्ड की जमीन काफी समय से खाली पड़ी हुई थी। उक्त जमीन को उसने संबंधित विभाग से 99 साल के लिए लीज पर लिया है। परमजीत सिंह ने बताया कि उसने उक्त जमीन पर जब निर्माण कार्य शुरू किया तो किसी ने पुलिस को फोन कर दिया कि मैं उक्त जमीन पर कब्जा कर रहा हूं जिसके चलते वीरवार को पुलिस कर्मचारियों ने मौके पर पहुंच कर काम रुकवा दिया। इसके बाद मैने जमीन से संबंधित सभी दस्तावेज थाना धारीवाल में जाकर पुलिस अधिकारी को दिखाये। शुक्रवार को भी जब मिस्त्री व मजदूर काम कर रहे थे तो एएसआई राजविन्दर सिंह, पुलिस कर्मचारियों व मजदूरों के बीच तकरारबाजी हुई जिसमें एक पुलिस कर्मचारी ने परवेज मसीह पुत्र तरसेम मसीह निवासी रनियां के सिर पर ईंट से वार कर दिया जिससे वो गंभीर जख्मी हो गया। पुलिस अधिकारी द्वारा सभी मिस्त्री व मजदूरों को थाने में बंद कर दिया जबकि परवेज को भी जख्मी हालत में काफी देर थाने में बिठाये रखा।

 

शहरवासियों ने घेरा थाना

उक्त घटना का पता चलते ही गांव रनियां व शहर निवासियों ने थाने का घेराव कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। मामला गर्माता देख पुलिस द्वारा परवेज मसीह को सिविल अस्पताल गुरदासपुर इलाज के लिए भेजा गया। थाने का घेराव करने में शहर के कुछ राजनीतिक पार्टी से संबंधित नेताओं ने भी लोगों का साथ दिया। उक्त लोग मांग कर रहे थे कि मजदूरों के साथ धक्का शाही करने वाले पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। थाना घेरने वालों में डा.कमलजीत सिंह, लाभा मसीह, सोनू रंधावा भी शामिल थे।

 

आरोपियों के खिलाफ होगी कार्रवाई:डीएसपी

घटना का पता चलने पर डीएसपी मनजीत सिंह मौके पर पहुंचे। उन्होंने धरनाकारियों को विश्वास दिलाया कि जो भी पुलिस कर्मचारी इस घटना का कसूरवाल होगा उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी। उक्त आश्वासन के बाद धरनाकारियों ने धरना हटाया।

COMMENT