तरनतारन ब्लास्ट / छठे दिन 6 लोग हिरासत में, इस बार सार्वजनिक जगह पर धमाके की फिराक में थे आरोपी



police detained six persons for the investigation of Tarantaran Blast case
police detained six persons for the investigation of Tarantaran Blast case
X
police detained six persons for the investigation of Tarantaran Blast case
police detained six persons for the investigation of Tarantaran Blast case

  • 4 सितम्बर की रात करीब साढ़े 12 बजे तरनतारन जिले में गांव कलेर के पास खाली प्लाॅट में हुआ था धमाका
  • दो लोगों की हो गई थी मौत तो तीसरा हुआ था घायल
  • अब तक 32 लोगों से पूछताछ कर चुकी पुलिस, हिरासत में लिए 6 लोग पट्टी, गुरदासपुर और अमृतसर के

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2019, 06:30 PM IST

तरनतारन. तरनतारन जिले में गांव कलेर के पास खाली प्लाॅट में हुए धमाके के बाद छठे दिन पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया है। सूत्रों के अनुसार हिरासत में लिए गए लोग पट्टी, गुरदासपुर और अमृतसर के रहने वाले हैं। इन लोगों से अब तक हुई पूछताछ में यह बात सामने आई है कि वह सार्वजनिक स्थान पर धमाका करने की फिराक में थे। हालांंकि अभी पुलिस अधिकारी इस मामले की पुष्टि नहीं कर रहे हैं।

 

दरअसल 4 सितम्बर की रात करीब साढ़े 12 बजे एक प्लाॅट में जोरदार धमाके में हरप्रीत सिंह हैप्पी निवासी बछड़े, विक्रमजीत सिंह विक्की निवासी कदगिल की मौत हो गई थी, जबकि गुरजंट सिंह पुत्र रेशम सिंह गंभीर रूप से जख्मी हो गया था। धमाके के बाद एनआईए, एसएफएल, बीडीडीएस, एनजीएस, आईबी अलावा पंजाब पुलिस द्वारा अपने-अपने स्तर पर जांच शुरू की गई। इस मामले की जांच के दौरान कड़ियां जोड़ते हुए पुलिस ने छठे दिन मंगलवार को 6 लोगों को हिरासत में लिया है।

 

घटना से जुड़े तीनों लोगों के परिजनों से पूछताछ की गई, वहीं अब तक की जांच में पुलिस ने 32 लोगों से पूछताछ की जा चुकी है। इन्हीं में से इन 6 के तार धमाके की घटना के साथ सीधे तार जुड़े हुए बताए जा रहे हैं। पुलिस इसी नतीजे पर पहुंची है कि धमाका हैंड ग्रेनेड जैसा था, जिसे पिछले साल जिला अमृतसर में निरंकारी भवन में हुए ब्लास्ट के साथ जोड़कर देखा जा रहा है। 

 

सूत्र यहां तक बताते हैैं कि इस मामले में पुलिस को पांच लाख रुपए की विदेशी फंडिंग के सबूत भी मिल चुके है। वहीं धमाके में मरने वाले हरप्रीत सिंह, विक्रम सिंह और घायल गुरजंट सिंह के परिवार सदमे मे हैं। उनके मुताबिक उन्हें इस घटना से संबंधित कोई जानकारी नहीं है। हरप्रीत सिंह के पिता की मानें तो उनका बेटा अलमारी बनाने का काम करता था। वह सुबह काम पर जाता था और रात को वापस आता था। उन्होंने कहा कि गुरजंट सिंह से उसके संबंध जरूर थे, लेकिन वह किसी साजिश में शामिल नहीं था।

 

इस बारे में एसपी (आई) हरजीत सिंह धालीवाल ने कहा कि मामले की गहनता से जांच जारी है। जिन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है, उनके बारे में अभी और ज्यादा जानकारी नहीं दी जा सकती। जांच जारी है और जल्द ही मामले को सुलझा लिया जाएगा।

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना