कश्मीरी स्टूडेंट ने किया राष्ट्रध्वज का अपमान, संगठनों ने सड़क जाम कर मांगी गिरफ्तारी

4 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • दीनानगर स्थित सर्वानंद ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स की घटना, सीआरपीएफ के शहीदों को श्रद्धांजलिस्वरूप लगाए थे हैंड फ्लैग
  • कुछ झंडे गायब हुए तो पूछने पर कश्मीरी छात्र सुहेल के साथ हुई थी अच्छी-खास बहस
  • प्रदर्शनकारियों की मांग पर पुलिस ने कमरे में तलाशी ली तो कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला

गुरदासपुर. गुरदासपुर जिले के दीनानगर स्थित सर्वानंद ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स के एक कश्मीरी छात्र द्वारा तिरंगे को फाड़ दिए जाने का मामला बुधवार को तूल पकड़ गया। इलाके के विभिन्न संगठनों ने इंस्टीट्यूट में पहुंचकर रोष प्रदर्शन किया और जीटी रोड पर ट्रैफिक रोक आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की।

 

बताया जाता है कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए फिदायानी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलिस्वरूप स्वामी सर्वानंद ग्रुप आफ इंस्टीट्यूट्स के हाॅस्टल में रहने वाले विद्यार्थियों ने रविवार शाम सभी कमरों के दरवाजों पर राष्ट्रीय ध्वज के 24 हैंड फ्लैग लगाए थे। इनमें से रूम नंबर तीन में रहने वाले दो कश्मीरी छात्रों और फर्स्ट फ्लोर पर रहने वाले एक कश्मीरी प्रोफेसर के कमरे में दरवाजों पर लगे झंडे कुछ देर बाद गायब हो गए। विद्यार्थियों ने जब रूम नंबर दो में रहने वाले छात्र सुहेल लोन से पूछा तो आपस में बहस हो गई और सुहेल लाेन ने कहा कि मैंं फाड़ूंगा, और लगाओगे तो और फाड़ूंगा...। इस पर वहां पर पहुंचे टीचर से विद्यार्थियों ने शिकायत की तो टीचर्स ने सुहेल से दोबारा दरवाजे पर फलैग लगवा कर मामले को वहीं शांत कर दिया।

 

हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी के बीएससी कर रहे छात्र अतुल और जम्मू कश्मीर के कटरा के रहने वाले बीटेक सिविल के छात्र माणिक ने बताया कि सुहेल लोन ने अपने और टीचर जुबेर के कमरे के दरवाजे पर लगे फलैग को फाड़ा था। उसने टीचर जुबेर से जाकर पूछा तो उन्होंने कहा कि मुझे इसकी जानकारी नहीं है। फिर वह सुहेल लोन के कमरे में गया तो उसने बताने से इनकार कर दिया कि इन फ्लैग को उसने कहां फेंका है। बात बहस पर आ गई तो सुहेल ने कहा कि मैंं फाड़ूंगा, और लगाओगे तो और फाड़ूंगा। साथ ही जो जी में आए कर लेने के लिए धमकी भी दी।

 

सुहेल लोन कंप्यूटर साइंस के चौथे सेमेस्टर का विद्यार्थी है और वह कश्मीर के बांदीपोरा जिले के नैदखई का रहना वाला है। बुधवार को वह इंस्टीट्यूट में ही क्लास अटैंड कर रहा था, लेकिन मामले को तूल पकड़ता देख वहां से खिसक गया। सुहेल ने चार पांच दिन पहले ही उसने अपनी फेसबुक वॉल पर अफजल गुरु का भी स्टेट्स डाला था। आतंकियों के बारे में भी लिखा। एक पोस्ट पर पाकिस्तान हमारा है और हम पाकिस्तानी हैं का कमेंट भी लिखा। वहीं उसने फेसबुक वॉल पर एक अन्य पोस्ट स्टॉप इंडियन टेरर इन कश्मीर डाल कर इसे प्रोफाइल पिक्चर के तौर पर लगाने को भी लिखा। एक पोस्ट पर स्टॉप किलिंग इन कश्मीर लिखा है तो दूसरी पोस्ट पर लिखा है कि कश्मीर रंग लाएगा खून शहीदों का।

दूसरी ओर इंस्टीट्यूट के सचिव दिनेश शास्त्री ने कहा कि संस्थान में किसी प्रकार की देशद्रोही गतिविधियों कों कदापि सहन नहीं किया जाएगा। इसके लिए जिम्मेवार पाए जाने वाले शख्स को बख्शा नहीं जाना चाहिए। वहीं प्रदर्शनकारियों की मांग पर पुलिस ने हॉस्टल में सुहेल लोन के कमरे का ताला तोड़ उसकी तलाशी भी ली। लेकिन कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला। फिलहाल पुलिस की ओर से सुहेल लोन के खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है। वहीं पुलिस की ओर से स्वामी सर्वानंद इंस्टूट्यूट्स की सुरक्षा के लिए फोर्स को तैनात कर दिया गया है।