पंजाब / आतंकी ब्रिकम और शेरा ने रची थी सुखबीर बादल को मारने की साजिश



सुखबीर सिंह बादल। सुखबीर सिंह बादल।
X
सुखबीर सिंह बादल।सुखबीर सिंह बादल।

  • तरनतारन के गांव पंडोरी गोला में 4 सितंबर को हुए बम ब्लास्ट ने पूरे जिले को दहला कर रख दिया था।
  • पूछताछ में मलकीत सिंह उर्फ शेर सिंह शेरा सिख फार जस्टिस के लिए काम करता था, ने अहम खुलासा किया

Dainik Bhaskar

Oct 07, 2019, 07:27 AM IST

तरनतारन. तरनतारन के गांव पंडोरी गोला में 4 सितंबर को हुए बम ब्लास्ट ने पूरे जिले को दहला कर रख दिया था। इसके बाद आईजी बाॅर्डर रेंज सुरिंदरपाल सिंह परमार, एसएसपी ध्रुव दहिया समेत आला अधिकारियों ने विस्फोट से जुड़े कई अहम सुराग जुटाए, जिन्हें अब एनआईए की टीम के हवाले कर दिया है। बम ब्लास्ट में 23 सितंबर को 7 आरोपियों हरजीत सिंह, मनप्रीत सिंह मन, चानदीप सिंह खालसा उर्फ गब्बर सिंह, मलकीत सिंह उर्फ शेर सिंह शेरा, मानदीप सिंह, अमृतपाल सिंह उर्फ अमृत, अमरजीत सिंह उर्फ अमर को गिरफ्तार किया था। 
 

बेअदबी का बदला लेने के लिए बनाया प्लान

पूछताछ में मलकीत सिंह उर्फ शेर सिंह शेरा सिख फार जस्टिस के लिए काम करता था, ने अहम खुलासा किया। उसने बताया कि बम ब्लास्ट में मारे गए गांव बचड़े के रहने वाले बिक्रमजीत सिंह विक्की (23), जो बम बनाने में माहिर था। उसने साल 2015 में बरगाड़ी कांड में गुरु ग्रंथ साहिब जी की हुई बेदअबी का बदला लेन के लिए पूर्व डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल को बम से उड़ाने की साजिश रची थी।

 

इसमें विक्की ने उसे भी साथ जोड़ लिया। इसके बाद विक्की फेक आईडी व बम बनाने पर काम करने लगा। दोनों कि साजिश थी कि जब सुखबीर बादल दरबार साहिब से माथा टेक बाहर निकलेंगे तो बम फेंकेंगे। विक्की ने साजिश रची थी कि पहला बम गांव पजवंड में फेंकना था व दूसरा सुखबीर बादल को मारने के लिए प्रयोग किया जाना था। यह काम उसे सौंप दिया। शेरा ने बताया उनकी साजिश असफल हो गई। बिक्रमजीत सिंह विक्की आॅस्ट्रिया चला गया। ब्रिकमजीत सिंह विक्की गुरजंट के संपर्क में आया। दोनों ने हरप्रीत सिंह को साथ मिला लिया। 2018 में बिक्रमजीत आस्ट्रिया से अरमेनिया के रास्ते भारत आया और आंतकी गतिविधियों को अंजाम देने लगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना