--Advertisement--

तख्त श्री केसगढ़ साहिब के तीन सेवादार सेवामुक्त

भास्कर संवाददाता|आनंदपुर साहिब तख्त श्री केसगढ़ साहिब के ग्रंथी भाई सतनाम सिंह, ट्रैफिक इंचार्ज भाई जतिंदर सिंह...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 02:00 AM IST
भास्कर संवाददाता|आनंदपुर साहिब

तख्त श्री केसगढ़ साहिब के ग्रंथी भाई सतनाम सिंह, ट्रैफिक इंचार्ज भाई जतिंदर सिंह और सेवादार भाई गुरनाम सिंह सेवा से मुक्त हुए है। उन्होंने सेवा भावना के साथ कई पदों पर अपनी सेवाएं निभाई।

तख्त श्री केसगढ़ साहिब के जत्थेदार ज्ञानी रघवीर सिंह ने कहा कि यह गुरसिख सिर्फ प्रबंधकीय सेवा से मुक्त हुए है न कि गुरु की सेवा से। गुरु के सिख को पूरी जिंदगी सेवा व सिमरन को समर्पित होकर अपना जीवन सफल करना चाहिए। हेड ग्रंथी ज्ञानी फूला सिंह ने कहा कि सेवा व सिमरन सिख के दो पहलू है, सेवा करके संसार व सिमरन करके निरंकार के साथ जुड़ना है। गुरमति के अनुसार मानवता की सेवा परमात्मा की सेवा है और यह सेवा मुक्ति का साधन है।

शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मेंबर प्रिंसिपल सुरिंदर सिंह और मैनेजर जसवीर सिंह ने कहा कि हम खुद को अच्छा समझते है कि हमें गुरुघरों की सेवा करने का सौभाग्य प्राप्त हुअा है। उन्होंने सेवामुक्त हुए सेवादारों की सेवा की सराहना करते हुए उनकी अच्छी सेहतयाबी की अरदास की। अंत में सेवामुक्त हुए सेवादारों को जत्थेदार ज्ञानी रघवीर सिंह और स्टाफ ने सिरोपा, श्री साहिब, तख्त साहिब की तस्वीर व तख्त श्री केसगढ़ साहिब की ओर से सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया।