--Advertisement--

किसान हाईब्रिड दोगली किस्म धान न बीजें : डॉ. विपन

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 02:15 AM IST

Anandpur Sahib News - भास्कर संवाददाता | आनंदपुर साहिब किसानें को हाई ब्रीड दोगली किस्म की धान बिजने से रोकने संबंधी जानकारी देने के...

किसान हाईब्रिड दोगली किस्म धान न बीजें : डॉ. विपन
भास्कर संवाददाता | आनंदपुर साहिब

किसानें को हाई ब्रीड दोगली किस्म की धान बिजने से रोकने संबंधी जानकारी देने के लिए गांव अगमपुर के कम्युनिटी सेंटर में शैलर, आढ़ती एसोसिएशन, कृषि विज्ञान केंद्र रोपड़ और कृषि एवं किसान भलाई विभाग आनंदपुर साहिब के सहयोग से जागरूकता कैंप लगाया गया। इसमें इस किस्म का धान बीजने से होने वाले नुकसान के बारे में बताया।

कृषि विज्ञान रोपड़ के वैज्ञानिक डाॅ. विपन राम पाल, डाॅ. अशोक कुमार, डाॅ पोभिंदर सिंह ने किसानों को आने वाली फसल संबंधी पूर्ण जानकारी दी। इस दौरान डाॅ. विपन रामपाल ने बताया कि धान की अलग अलग किस्मों और उनकी बिजवाई का ढंग, खादों का प्रयोग और घास फूस नाशकों की स्प्रे संबंधी जो किसानों को सिफारशें की जाती हैं, वे उनका ही उपयोग करें। डॉ. पोभिंदर ने मिट्टी की परख की महत्ता के बारे जानकारी देते बताया कि किसानों को खादों का इस्तेमाल मिट्टी की परख के अनुसार ही करना चाहिए। डाॅ. अशोक कुमार ने फसलों की संभाल, फसलों की बीमारियों और कीड़े-मकौड़ों के बारे में जानकारी प्रदान की।

समारोह के दौरान संजय कुमार शैलर एसोसिएशन, मनिंदर वर्मा, मुकेश नड्डा आढ़ती एसोसिएशन, समीर कुमार तथा गगन राणा ने किसानों को हाईब्रिड धान की फसल न बीजने की सलाह दी और कहा कि इसे धान की मंडियों में बेचते समय भारी कठिनाई आएगी। इस मौके पर पोभिंदरपाल शाह, खुशपाल राणा, राजेश राणा, दविंदर कुमार, जरनैल सिंह, दिनेश नड्डा, धर्मेंद्र काली, अशोक कुमार तथा केदारनाथ सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी मौजूद थे।

कृषि सलाह

कृषि विज्ञान केंद्र की तरफ से आनंदपुर साहिब में किसान जागरूकता शिविर

गांव अगमपुर में किसान जागरूकता कैंप के दौरान मौजूद किसान।

कृषि उत्पाद बिना बिल के न खरीदें : डॉ. अवतार

डाॅ. अवतार सिंह कृषि अफसर आनंदपुर साहिब ने अपने विभाग की तरफ से चलाई जा रही विभिन्न किसान भलाई स्कीमों के बारे में जानकारी दी और इसके साथ ही किसानों से अपील करते हुए कहा कि जब भी वह कोई भी खाद, बीज या घास-फूस नाशक या कीड़ेमार दवाई बाजार में से खरीदें तो उसका पक्का बिल ज़रूर ले। यदि कोई दुकानदार किसान को बिल देने से इंकार करे तो इसकी जानकारी तुरंत कृषि विभाग के आधिकारियों को दे जिससे उक्त दुकानदार के विरोध उचित कार्रवाई की जा सके।

X
किसान हाईब्रिड दोगली किस्म धान न बीजें : डॉ. विपन
Astrology

Recommended

Click to listen..