• Home
  • Punjab News
  • Balachaur News
  • ट्यूबवैलों को बिजली सप्लाई कम करने के खिलाफ गांवों को लामबंद करेगी कंडी संघर्ष समिति : रौड़ी
--Advertisement--

ट्यूबवैलों को बिजली सप्लाई कम करने के खिलाफ गांवों को लामबंद करेगी कंडी संघर्ष समिति : रौड़ी

बैठक को संबोधित करते कंडी संघर्ष कमेटी के नेता। (दाएं) मीटिंग में मौजूद कंडी संघर्ष कमेटी के सदस्य। भास्कर...

Danik Bhaskar | May 15, 2018, 02:05 AM IST
बैठक को संबोधित करते कंडी संघर्ष कमेटी के नेता। (दाएं) मीटिंग में मौजूद कंडी संघर्ष कमेटी के सदस्य।

भास्कर संवाददाता| पोजेवाल

कंडी संघर्ष कमेटी पंजाब द्वारा कैप्टन सरकार की ओर से कंडी क्षेत्र के ट्यूबवैलों की सप्लाई 24 घंटे से कम करके 8 घंटे करने के फैसले के खिलाफ गांव रौड़ी में बैठक की गई। कमेटी के जिला प्रधान हुसन चंद मझोट की अध्यक्षता में हुई बैठक को संबोधित करते हुए प्रदेश नेता दर्शन सिंह मट्टू ने कहा कि जैसे पिछली सरकारों ने कंडी क्षेत्र तथा इसके लोगों के साथ हमेशा भेदभाव किया है, ठीक उसी तरह कैप्टन सरकार इसी भेदभाव को जारी रखते हुए कंडी क्षेत्र के सिंचाई वाले तथा पीने वाले पानी की ट्यूबवैलों को दी जाने वाली बिजली सप्लाई 24 घंटे से कम करके 8 घंटे कर कर रही है, जोकि कंडी क्षेत्र के लोगों के साथ बहुत बड़ा धक्का है, जिसे कंडी संघर्ष कमेटी किसी भी कीमत पर लागू नहीं होने देगी। मट्टू ने कहा कि कमेटी ने अस्तित्व में आने से लेकर आज तक लोगों के सहयोग से सरकारों से मांगें मनवाने के लिए बड़े-बड़े संघर्ष करके जीत हासिल की है। इस दौरान कमेटी के प्रदेश उपाध्यक्ष महां सिंह रौड़ी ने कहा कि कंडी संघर्ष कमेटी ने जैसे पिछले समय में करो या मरो की नीति के तहत बलाचौर में संघर्ष करके सिंचाई वाले सरकारी ट्यूबवैलों के बिल रूपी 8.5 करोड़ रुपए सरकार से माफ करवाए थे, इसी तरह कैप्टन सरकार की ओर से 8 घंटे बिजली सप्लाई करने के नादिरशाही फैसले को वापस करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह फैसला सरकार का गलत फैसला है, क्योंकि इससे लोगों को पीने वाला पानी नहीं मिल सकेगा वहीं, गांवों में एक सरकारी सिंचाई वाले ट्यूबवैल से सैकड़ों एकड़ जमीन सिंचाई वाले पानी से बंजर बन जाएगी। रौड़ी ने कहा कि कंडी संघर्ष कमेटी इस लोक मारू फैसले के खिलाफ गांव-गांव में लोगों को लामबंद करके सरकार के खिलाफ संघर्ष का बिगुल बजाएगी। बैठक में हुसन मझोट, बलवीर सिंह, प्यारा सिंह, यशपाल नानोवाल, महिंदर सिंह, मैहंगा सिंह, बलदेव सिंह, ज्ञान चंद, जगतार सिंह, शमशेर सिंह, सुच्चा सिंह, ओम प्रकाश, चौधरी अच्छर राम मौजूद रहे।