Hindi News »Punjab »Balachour» मनरेगा दिहाड़ी 600 रुपए करने के लिए कुल हिंद खेत मजदूर यूनियन का प्रदर्शन

मनरेगा दिहाड़ी 600 रुपए करने के लिए कुल हिंद खेत मजदूर यूनियन का प्रदर्शन

कुल हिंद खेत मजदूर यूनियन द्वारा मजदूरों की मांगों को लेकर बीडीपीओ कार्यालय बलाचौर के समक्ष धरना दिया गया। सोहन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 09, 2018, 02:05 AM IST

मनरेगा दिहाड़ी 600 रुपए करने के लिए कुल हिंद खेत मजदूर यूनियन का प्रदर्शन
कुल हिंद खेत मजदूर यूनियन द्वारा मजदूरों की मांगों को लेकर बीडीपीओ कार्यालय बलाचौर के समक्ष धरना दिया गया। सोहन सिंह फौजी की अध्यक्षता में दिए धरने के बाद यूनियन द्वारा बीडीओ के माध्यम से पंजाब सरकार के नाम मांगपत्र भेजा गया। वक्ताओं ने मांग की कि यूनियन की मांगों का तुरंत निपटारा करके संबंधित अधिकारियों को हिदायतें जारी की जाएं।

संगठन सचिव रविंदर सिंह बेगमपुरी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार से मांग की कि मजदूरों की दिहाड़ी कम से कम छह सौ रुपए की जाए, मनरेगा मजदूरों को साल में सौ दिन की जगह तीन सौ दिन काम दिया जाए, बुढ़ापा-विधवा पेंशन तीन हजार रुपए की जाए। उन्होंने मोदी सरकार पर कटाक्ष करते कहा कि चुनाव के दौरान किए गए वादों में से मोदी ने एक भी वादा पूरा नहीं किया। बाहरी देशों से काला धन वापस लाकर लोगों के खातों में 15-15 लाख रुपए जमा करवाने, हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार देने आदि के वादे खोखले साबित हुए। उन्होंने कहा कि कुल हिंद खेत मजदूर यूनियन ही नहीं बल्कि कोई भी संगठन लोक पक्षीय संघर्ष करेगी तो उनका संगठन उसकी पूर्ण हिमायत करेगी। उन्होंने कहा कि कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चुनाव के दौरान शपथ ली थी कि वे पहल के आधार पर नशे बंद करवाएंगे, हर घर एक सरकारी नौकरी देंगे, लेकिन न तो नशे बंद हुए और न ही सरकारी नौकरियां मिलीं। अगर कुछ मिला तो नौकरियां मांगने वाले युवाओं को सिर्फ लाठियां ही मिलीं। इस मौके पर यूनियन के जिला प्रधान सराधू राम, उपाध्यक्ष सतनाम सिंह, सरपंच प्यारा, मोहन लाल कैंथ, गुरचरन सिंह, परमजीत, गुरमेल चंद, वीरू राम, हुसन चंद, चमन लाल, महिंदरसिंह, अच्छर सिंह आदि मौजूद रहे।

प्रशासनिक अधिकारियों को सीएम के नाम ज्ञापन सौंपते यूनियन सदस्य।

ये हैं प्रमुख मांगें

यूनियन सदस्यों ने मांग की कि गरीबों के कर्जे माफ किए जाएं, मकान बनाने के लिए बिना ब्याज कर्ज दिया जाए, हर परिवार को 35 किलो अनाज दिया जाए, शिक्षा व सेहत सुविधाएं मुफ्त मुहैया करवाई जाएं, खेत मजदूरों के पेयजल बिल माफ करेंं। उन्होंने कहा कि मांगों को लेकर डीवाईएफआई इंसाफ पसंद लोगों को लामबंद कर संघर्ष करेगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Balachour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×