Hindi News »Punjab »Banga» 10 साल से दिन-रात मेहनत कर रहीं आशा वर्कर्स को रेेगुलर करे सरकार

10 साल से दिन-रात मेहनत कर रहीं आशा वर्कर्स को रेेगुलर करे सरकार

आशा वर्कर और फैसिलिटेटर यूनियन पंजाब ने मांगों को लेकर विधानसभा स्पीकर राणा केपी की ज्ञानी जैल सिंह नगर रोपड़ में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 08, 2018, 02:00 AM IST

10 साल से दिन-रात मेहनत कर रहीं आशा वर्कर्स को रेेगुलर करे सरकार
आशा वर्कर और फैसिलिटेटर यूनियन पंजाब ने मांगों को लेकर विधानसभा स्पीकर राणा केपी की ज्ञानी जैल सिंह नगर रोपड़ में स्थित कोठी के समक्ष जिला स्तरीय धरना दिया। धरने दौरान यूनियन ने मांगों को लेकर स्पीकर राणा केपी के पीए देसराज को मांग पत्र भी दिया। इस दौरान ब्लॉक नूरपुरबेदी, कीरतपुर साहिब, भरतगढ़, चमकौर साहिब आदि से वर्कर पहुंचे हुए थे।

इस मौके विभिन्न नेताओं ने अपने विचार पेश किए व केंद्र सरकार व पंजाब सरकार की निंदा की। जिला प्रधान सीमा रानी ने कहा कि सरकार 10 साल से दिन रात मेहनत करने के बावजूद भी बहुत ही कम वेतन व भत्ते देकर वर्करों का आर्थिक शोषण कर रही है जबकि हरियाणा, केरल, तामिलनाडु, बंगाल में आशा वर्करों को निश्चित समय पर वेतन दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि 45वीं व 46वीं लेबर कान्फ्रेंस कम से कम वेतन 18 हजार रुपए निश्चित कर चुकी है लेकिन मोदी सरकार इसे लागू करने से भाग रही है। इस कारण वर्करों में सरकार प्रति भारी रोष है। इस दौरान नेताओं ने चेतावनी दी कि अगर सरकार ने हमारी आवाज न सुनी तो संघर्ष और भी तेज किया जाएगा। इस मौके जिला अध्यक्ष सीमा रानी, जिला सचिव मनिंदर कौर, ब्लॉक अध्यक्ष भरतगढ़ सरबजीत कौर, सचिव नूरपुरबेदी विजय कुमारी, अमरजीत कौर भरतगढ़, अध्यक्ष चमकौर साहिब अवतार कौर, राज्य महासचिव रणजीत कौर, किसान सभा के नेता मास्टर दलीप सिंह घनौला, कीरतपुर साहिब अध्यक्ष ममता रानी आदि उपस्थित थे।

धरने के दौरान स्पीकर राणा केपी की कोठी के समक्ष धरने लगाकर नारेबाजी करतीं आशा वर्कर्स। -भास्कर

आशा वर्कर्स के धरने के चलते की बैरिकेडिंग

आशा वर्कर्स और फैसिलिटेटर के धरने को देखते जिला पुलिस ने वीरवार सुबह से ही स्पीकर राणा केपी की कोठी के इर्द-गिर्द बैरिकेड लगा दिए थे। धरने को देखते जिला मोहाली, फतेहगढ़ साहिब व रोपड़ के महिला पुलिस मुलाजिमों को सुरक्षा के लिए तैनात कर दिया था। इस अवसर पर सुरक्षा के मद्देनजर एसपी ट्रैफिक सुरिंदरजीत कौर, डीएसपी (आर) गुरविंदर सिंह, एसएचओ थाना सिटी गुरसेवक सिंह, एसएचओ सदर इंस्पेक्टर राजपाल सिंह, एएसआई ट्रैफिक पुलिस सिटी बलवीर सिंह पुलिस पार्टियों के साथ धरने के दौरान मौजूद रहे। यह प्रदर्शनकारी कोई उत्पाद न कर दे, इसके लिए गोताखोरों की टीम, फायर ब्रिगेड, सिविल अस्पताल रोपड़ के डॉक्टरों की टीम भी मौजूद थी।

वर्कर्स का टूर भत्ता भी दोगुणा करने की मांग

इस दौरान यूनियन ने मांग की कि आशा वर्कर और फैसिलिटेटरों को विभाग में रेगुलर किया जाए, भर्ती लेबर कान्फ्रेंस की सिफारिशों के अनुसार की जाएं, कम से कम वेतन के घेरे में लाया जाए, पेंशन समेत सभी समाजिक सुरक्षा दी जाए, पंजाब की आशा वर्करों पर हरियाणा पैटर्न लागू किया जाए, ईएसआई स्कीम लागू की जाए, आशा और फैसिलिटेटर काे जो 6 महीने से एक ही टूर भत्ता दिया जा रहा है, उसे दोगुणा किया जाए।

11 से 1 बजे तक दिया धरना, बच्चों को रूमाल से की हवा

11 बजे शुरू हुआ धरना करीब 1 बजे तक चला। इस दौरान कुछ महिलाएं छोटे बच्चों को भी साथ लेकर आईं जिन्हें गर्मी से राहत दिलाने को रूमालों से हवा झेलकर गर्मी से राहत दिलवाती दिखाई दी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Banga News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 10 साल से दिन-रात मेहनत कर रहीं आशा वर्कर्स को रेेगुलर करे सरकार
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Banga

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×