• Hindi News
  • Punjab
  • Barnala
  • कठुअा व उन्नाव रेपकांड़ों के खिलाफ संगठनों ने किया प्रदर्शन
--Advertisement--

कठुअा व उन्नाव रेपकांड़ों के खिलाफ संगठनों ने किया प्रदर्शन

जम्हूरी अधिकार सभा पंजाब जिला बरनाला के नेतृत्व में जिले के विभिन्न संगठनों द्वारा साझे तौर पर कठुअा अौर उन्नाव...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:10 AM IST
कठुअा व उन्नाव रेपकांड़ों के खिलाफ संगठनों ने किया प्रदर्शन
जम्हूरी अधिकार सभा पंजाब जिला बरनाला के नेतृत्व में जिले के विभिन्न संगठनों द्वारा साझे तौर पर कठुअा अौर उन्नाव रेप मामलों के खिलाफ मानव श्रृंखला बनाकर अलग ढंग के साथ विरोध दर्ज करवाते हुए प्रदर्शन किया।

विभिन्न संगठनों के नुमाइंदे एसडी कालेज, बस स्टैंड, फुहारा चौक, सरकारी हाई स्कूल में एकत्रित हुए और शहर में मार्च करते हुए सिविल अस्पताल पार्क पहुंचे। इस मौके पर गुरमेल सिंह ठुल्लीवाल, महमा सिंह, करमजीत बीहला, चमकौर नैणेवाल, परमिन्दर हंडियाया, नारायण दत्त, गुरमीत सुखपुर, जगराज टल्लेवाल, मेला सिंह कट्टू, गुरप्रीत रूड़ेके, लाभ अकलिया, हरचरन चहल, सोनी बरनाला ने रेप की इन घटनाअों की निंदा करते हुए कहा कि मोदी के केंद्र की सत्ता में आने के बाद महिलाअों, दलितों और अल्पसंख्यकों पर हमले तेज हो रहे हैं। मौजूदा दोनों घटनाएं आम रूप में घटी घटनाएं नहीं, बल्कि अल्पसंख्यकों और दलितों के प्रति सांप्रदायिक फिरकूबाद की सोची समझी साजिश का नतीजा है।

उन्होंने कहा कि जहां कठूआ(जम्मू) में अल्पसंख्यक मुस्लिम परिवार की आठ वर्षीय बच्ची आसिफा को सात व्यक्तियों ने सामूहिक जबर का निशान बनाने के बाद कत्ल करके लाश को बाहर फेंका। हिंदू एकता मंच की अगुवाई में पुलिस को आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट पेश करने से रोका गया, राष्ट्रीय झंडे लहराए गए, भगवाकरण की राजनीति में लबरेज वकीलों ने भारत माता की जय के नारे लगाकर अपने इरादे ज़ाहिर करने की कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी। दूसरी घटना में यूपी की एक दलित परिवार की लड़की के साथ उसी गांव के भाजपा से संबंधित विधायक ने अपने घर में बलात्कार किया। मुख्यमंत्री दफ्तर तक इंसाफ की गुहार लगाने पर भी उल्टा पीड़ित लड़की के बाप पर ही झूठा केस दर्ज करके जेल में फेंक दिया अौर जहां उसका कत्ल कर दिया गया। इन दोनों मामलों में हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट की दखल अंदाजी के बाद ही कुंभकरनी नींद सोई सरकार की आंख खुली।

उन्होंने कहा कि एेसी घिनौनी घटनाअों को अंजाम देने वालों को सख्त से सख्त सजा दिलाने के लिए देश भर में बडी लोक लहर पैदा करनी चाहिए। इस समय समय हाथों में इंसाफ की मांग करते हुए बैनर, तख्तियां पकड़कर सिविल अस्पताल से मार्च सदर बाजार में शहीद भगत सिंह चौंक तक पहुंचा। इस समय शहीद भगत सिंह चौंक में सहायक कमिश्नर हिमांशु गुप्ता को ज्ञापन भी सौंपा गया। (लखवीर)

हमें बच्चियों और बहनों के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ डटना चाहिए : शर्मा

बरनाला स्थित एसडी काॅलेज के विद्यार्थी रोष मार्च निकालते हुए।

बरनाला|एसडी काॅलेज एजुकेशनल सोसायटी की समूह शैक्षिक संस्थानों की तरफ से कठुआ में बलात्कार के बाद कत्ल कर दी गई आठ वर्षीय बच्ची आसिफा के लिए रोष मार्च किया गया। कॉलेज प्रबंधक समिति के नेतृत्व में एसडी डिग्री काॅलेज, एसडी काॅलेज आफ एजुकेशन, एसडी काॅलेज आफ बी फार्मेसी, एसडी काॅलेज आफ डी फार्मेसी और डाॅ. रघुबीर प्रकाश एसडी सीनियर सेकेंडरी स्कूल के हजारों विद्यार्थियों ने मानवीय चेन बना कर शहर के विभिन्न बाजारों, चौकों में इस अध्याय के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया। एनएसएस विभाग के नेतृत्व में हुई इस रैली के नेतृत्व सभी संस्थानों के प्रिंसिपल साहिबान और अध्यापकों ने शिरकत की। प्रिंसिपल डाॅ. रमा शर्मा ने कहा कि हमें बच्चियों और बहनों के साथ हो रहे अन्याय के खिलाफ डटना चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों को इंसाफ के लिए लड़ने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि यह लड़ाई युवाअों को खुद लड़नी होगी, तभी कठुआ और उन्नाव जैसी घटनाअों पर लगाम लगाई जा सकती है। रैली का काफिला काॅलेज कैंपस से शुरू होकर कच्चा काॅलेज रोड, अग्रसेन चौक होते हुए पुराने बाजार से सदर बाजार पहुंचा। यहां शहीद भगत सिंह के बुत के पास विद्यार्थियों ने सरकार को जगाने के लिए अन्याय के खिलाफ अपना रोष प्रकट करते नारे लगाए। इसके बाद यह मार्च रेलवे स्टेशन से पक्का कॉलेज रोड होते हुए वापस काॅलेज कैंपस पहुंचा। समूह विद्यार्थियों और अध्यापकों ने मरहूम आसिफा को दो मिनट का मौन रख कर श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर प्रो. ऋतु अग्रवाल, प्रो. जसबीर सिंह, डाॅ. कुलभूषण राणा, अनामिका और डाॅ. बलतेज उपस्थित थे। (लखवीर)

डीसी को ज्ञापन सौंप की सख्त सजा देने की मांग

बरनाला|श्री लाल बहादुर शास्त्री आर्य महिला कॅालेज के विद्यार्थियों व कॉलेज स्टाफ द्वारा प्रिंसिपल डाॅ. नीलम शर्मा के नेतृत्व में जम्मू के कठुअा अौर यूपी में उन्नाव में हुई रेप घटनाअों के रोष में शहर में मार्च करते हुए डीसी धर्मपाल गुप्ता को ज्ञापन सौंपा गया, इसमें आरोपियों पर सख्त से सख्त कायवाई की मांग की गई। इस मौके पर प्रिंसिपल नीलम शर्मा ने कहा कि कठुअा में एक नाबालिग बच्ची से मंदिर में गैंगरेप करने वाली घटना अौर यूपी के उन्नाव में एक विधायक द्वारा एक लड़की से रेप करने की घटना ने पूरे देश में लड़कियों की सुरक्षा पर सवाल खड़ा कर दिया है। जिस सरकार से लड़कियों की सुरक्षा की सोच रहें हैं, उसी सरकार के नुमाइंदों द्वारा लड़कियों से रेप किए जा रहे हैं, जिस कारण देश में लड़कियों की सुरक्षा बड़ा सवाल बनता जा रहा है। एेसी घटनाअों से देश की दुनिया भर में बेइज्जती हो रही है। उन्होंने केंद्र की मोदी सरकार से मांग करते कहा कि रेप के आरोपियों को कम से कम सजा ए मौत का एलान किया जाए अौर घटनाअों के आरोपियों को सख्त सजा सुनाई जाए।(लखवीर)

दोनों बलात्कारों के आरोपियों को सजा दिलाने को छात्रों ने जताया रोष

संगरूर |जम्मू में आठ साल की बच्ची व यूपी में एक लड़की के साथ हुए सामूहिक बलात्कार के आरोपियों को सजा दिलवाने के लिए पंजाब रेडिकल स्टूडेंट यूनियन द्वारा रोष प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर रोष प्रदर्शन को संबोधित करते पंजाब रेडिकल स्टूडेंट यूनियन के प्रधान रशपिंदर जिम्मी ने कहा कि आरएसएस व भाजपा सरकार द्वारा देश में अल्पसंख्यकों के खिलाफ माहौल पैदा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि एक ओर यूपी में सरकार बलात्कारियों की पीठ पर खड़ी है व दूसरी ओर जम्मू में आरोपियों को बचाने के लिए भाजपा द्वारा तिरंगा यात्रा निकाली गई। उन्होंने मांग की कि भाजपा के विधायक व बलात्कार करने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर पीडितों को इंसाफ दिया जाए। इस मौके पर मनजीत सिंह, जगजीवन आजाद, रणजीत आदि उपस्थित थे।

बलात्कार की घटना के विरोध में रोष रैली निकाली

संगरूर |पंजाब स्टूडेंट यूनियन व पंजाब स्टूडेंट यूनियन (ललकार) द्वारा यूपी व जम्मू में हुई बलात्कार की घटना के विरोध में रोष रैली की गई। रैली को संबोधित करते पंजाब स्टूडेंट यूनियन के जिला नेता सुखदीप हथन व पंजाब स्टूडेंट यूनियन (ललकार) के नेता गुरप्रीत सिंह ने कहा कि देश में यूपी व जम्मू में बलात्कार जैसी घटनाओं से साफ हो जाता है कि देश में महिला वर्ग कितना सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि देश में ऐसी घटना घटने से ही महिलाओं की सुरक्षा का दावा करने वाली सरकार का चेहरा नंगा हो जाता है। उन्होंने कहा कि आरएसएस के इशारों पर चलने वाली सरकार लगातार खौफ का माहौल पैदा करने में लगी हुई है। जिसके तहत सिलेबस में संशोधन, घर वापसी, राम मंदिर, एंटी रोमियो जैसे य| लगातार जारी हैं। उन्होंने कहा कि छात्र वर्ग एक चेतना मंच है, इसलिए आज हर एक छात्र का फर्ज बनता है कि देश में घट रही ऐसी घटनाओं के खिलाफ आवाज बुलंद की जाए।

बलात्कार के विरोध में मार्च निकाल की इंसाफ की मांग

धूरी | जम्मू के कठुआ में 8 वर्षीय बच्ची का गैंगरेप के बाद कत्ल किए जाने के रोष में हल्का विधायक दलवीर सिंह की धर्मप|ी सिमरत कौर खंगूड़ा द्वारा बड़ी संख्या में मौजूद महिलाओं के साथ एक कैंडल मार्च निकाला गया। मार्च स्थानीय संगरूर वाली कोठी से शुरू होकर शहर के विभिन्न बाजारों में से गुजरता हुआ त्रिवेणी चौक में जाकर समाप्त हुआ, जहां पर गैंगरेप व कत्ल का शिकार हुई मासूम बच्ची को श्रद्धांजलि भेंट की गई। इस मौके पर सिमरत कौर खंगूड़ा ने कहा कि देश में लड़कियों और लड़कों बराबरी का अधिकार देने की बात तो की जाती है, लेकिन देश में बच्चियों की इज्जत सुरक्षित नहीं है। उन्होंने पीड़ितों को इंसाफ दिलाने की मांग की। (राजेश)

लड़कियों की स्वरक्षा की मांग को लेकर डीसी को सौंपा ज्ञापन

संगरूर| स्कूलों कॉलेजों में लड़कियों को स्व रक्षा का विषय जरूरी करने की मांग को लेकर परिवर्तन (मालवा फ्रैंड्स वेलफेयर सोसायटी) की ओर से डीसी घनश्याम थोरी को ज्ञापन सौंपा गया। परिवर्तन के सदस्य धरमिंदर कौर, नवनीत शर्मा, तेजवीर सिंह, गगनदीप कौर, संदीप शर्मा ने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में लड़कियों से छेड़छाड़, बलात्कार, तेजाबी हमले आदि घटनाएं दिन प्रति दिन बढ़ती जा रही है। जिस कारण लड़कियों का घर से बाहर निकला मुश्किल हो गया है। इस घटनाओं का अंजाम देने वाले आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। लड़कियों को स्कूलों व कॉलेजों में स्व रक्षा का विषय जरूर पढ़ाया जाए, ताकि ऐसी घटनाओं के दौरान वह अपनी रक्षा खुद कर सकें। लड़कियों में आत्म विश्वास पैदा करने के लिए उन्हें ट्रेनिंग दी जाए, ताकि भविष्य में ऐसी घटनाएं न घटे।

X
कठुअा व उन्नाव रेपकांड़ों के खिलाफ संगठनों ने किया प्रदर्शन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..