• Hindi News
  • Punjab
  • Batala
  • बर्फ कारखाने में अमोनिया गैस लीक, धमाके से उड़कर दीवार से जा टकराया मजदूर, मौत
--Advertisement--

बर्फ कारखाने में अमोनिया गैस लीक, धमाके से उड़कर दीवार से जा टकराया मजदूर, मौत

सिविल लाइन पुलिस थाने के अंतर्गत काहनूवान रोड पर स्थित पेट्रोल पंप के पास बर्फ कारखाने में वीरवार को अमोनिया गैस...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:00 AM IST
बर्फ कारखाने में अमोनिया गैस लीक, धमाके से उड़कर दीवार से जा टकराया मजदूर, मौत
सिविल लाइन पुलिस थाने के अंतर्गत काहनूवान रोड पर स्थित पेट्रोल पंप के पास बर्फ कारखाने में वीरवार को अमोनिया गैस लीक होने से कंटेनर में धमाका हो गया। धमाके में एक व्यक्ति की मौत हो गई। धमाके के बाद देखते ही देखते गैस पूरे इलाके में फैल गई। करीब 150 मीटर के दायरे को गैस ने चपेट में ले लिया। गैस फैलने पर इलाके में दोनों तरफ की आवाजाही बंद करवा दी गई। एसएसपी, एसडीएम मौके पर पहुंचे। इलाके के लोगों को अपने घरों को बंद रखने के लिए कहा गया ताकि आसपास के लोग गैस की चपेट में न आ जाएं। फैक्टरी के मालिक दो भाई, तीन दमकलकर्मियों व एक व्यक्ति को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

जानकारी के अनुसार वीरवार शाम 5 बजकर 15 मिनट पर बर्फ कारखाने में गैस लीक हुई। इस समय फैक्टरी में निर्माण का काम चल रहा था और मिस्त्री लगे हुए थे। फैक्टरी के मालिक गुरेन्द्र सिंह तथा गुरशरण सिंह निवासी सिंबल चौक भी मौके पर मौजूद थे। गैस लीक होने के बाद एकदम से कंटेनर में जोरदार धमाका हुआ जिसकी चपेट में आने से बलविन्दर सिंह उर्फ गौरा पुत्र जसवंत सिंह निवासी उदुके की मौके पर ही मौत हो गई है। धमाके के कारण वह दीवार से जा टकराया और उसकी मौत हो गई। देखते ही देखते गैस पूरे इलाके में फैल गई। अफरा-तफरी का माहौल हो गया। पुलिस तथा दमकल की टीमें मौके पर पहुंची। कुल सात गाड़ियों ने मौके पर आकर आपरेशन शुरू किया। अंदर फंसे हुए लोगों को बाहर निकालने का प्रयास किया गया लेकिन गैस की चपेट में आकर तीन दमकलकर्मी अमनदीप सिंह, रघुवीर चंद तथा सकिन्द्र सिंह अस्पताल में भर्ती हुए। उनके अलावा बलकार सिंह मिस्त्री भी चपेट में आ गया। मालिकों समेत छह लोगों को अस्पताल में भर्ती करवाया गया। दो की हालत गंभीर बनी हुई है क्योंकि गैस उनके पूरे शरीर में फैल चुकी है।

सात दमकल गाड़ियां बुलाईं, गैस कम होने पर अंदर जाएंगे : दमकल इंचार्ज

बर्फ के कारखाने में पानी डालकर गैस का प्रभाव कम करते हुए दमकल विभाग के कर्मचारी।

मास्क पहनकर जायजा लेते एसएसपी उपिन्द्रजीत घुम्मण।

एसडीएम की आंखों में गैस से जलन हुई तो लाउडस्पीकर से लोगों को चौकस करवाया

रोहित गुप्ता का कहना है कि वह जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंचे। गैस इतनी भयानक थी कि उनकी आंखों में भी जलन होने लगी। काफी देर तक वह मौके पर रहे। उन्होंने हालात को देखते हुए पुलिस से इलाके में लाउडस्पीकर से घोषणा करवाई कि लोग घरों के अंदर ही रहें। खिड़की दरवाजे बंद रखें। दहशत में न आएं क्योंकि इस गैस का इलाज है। पुलिस एसएसपी उपिन्द्रजीत सिंह घुम्मन का कहना था कि वह खुद मौके पर गए थे। उन्होंने पुलिस को मामले की जांच करने के लिए कहा है। फिलहाल इलाके के लोगों को बचाव करने के लिए कहा गया है।

गैस की चपेट में आए व्यक्ति अस्पतालों में भर्ती। -भास्कर

दम घोट देती है अमोनिया गैस

अमोनिया गैस वातावरण और लोगों के लिए काफी खतरनाक होती है। हर बर्फ कारखाने में इसका प्रयोग किया जाता है। इसकी मदद से ही बर्फ जमती है। इसके लिए फैक्टरी में एक कंटेनर बनाया गया होता है। इस गैस से आंखों में जलन, सांस कम आने लगता है जिससे व्यक्ति की दम घुटने से मौत भी हो सकती है। ऐसे में इससे निपटने के लिए पूरे प्रबंध होने चाहिए।

दमकल के इंचार्ज रवेन्द्र कुमार का कहना है कि सूचना मिलने के बाद चार गाड़ियां बटाला से, दो गुरदासपुर तथा एक अमृतसर से मंगवाई गई। दो दर्जन से अधिक कर्मचारी आपरेशन में लगे। उनके तीन कर्मी भी गैस की चपेट में आ गए। फैक्टरी के अंदर गैस कम होने से बाद ही जवान अंदर जाएंगे। उसके बाद पूरे हालात का पता चलेगा कि लीक क्यों हुई। उसके बाद ही पता चलेगा कि अंदर कोई और व्यक्ति तो नहीं है। फिलहाल एक व्यक्ति की मौत हुई है।

प्रभावितों के शरीर में चली गई गैस : एसएमओ

सिविल अस्पताल के एसएमओ संजीव भल्ला ने बताया कि उनके पास छह लोग भर्ती हुए हैं। उनके शरीर में गैस चली गई है। इस गैस के चलते काफी नुकसान भी हो सकता है। हालांकि उनका इलाज किया जा रहा है। हवा में मिल चुकी गैस धीरे-धीरे ही कम होगी।

X
बर्फ कारखाने में अमोनिया गैस लीक, धमाके से उड़कर दीवार से जा टकराया मजदूर, मौत
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..