बटाला

--Advertisement--

1920 टीचर ले चुके आधुनिक गतिविधियों की ट्रेनिंग : समरा

भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर पंजाब भर में पढ़ो पंजाब-पढ़ाओ पंजाब प्रोजेक्ट के तहत शुरू किए गए सेमिनारों में...

Dainik Bhaskar

Aug 07, 2018, 02:10 AM IST
1920 टीचर ले चुके आधुनिक गतिविधियों की ट्रेनिंग : समरा
भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर

पंजाब भर में पढ़ो पंजाब-पढ़ाओ पंजाब प्रोजेक्ट के तहत शुरू किए गए सेमिनारों में प्राइमरी कक्षाओं के अध्यापकों को प्राइमरी कक्षाओं के बच्चों को शिक्षित करने के आधुनिक तरीकों की सिखलाई देने के लिए जिले के 16 ब्लॉकों में बीपीईओ के योग्य प्रबंधों में सेमिनार चल रहे हैं। अभी तक तीन ग्रुपों को सिखलाई प्रदान की जा चुकी और चौथा ग्रुप सफलतापूर्वक शुरू कर दिया गया है।

यह जानकारी डीईओ प्राइमरी सलविंदर सिंह समरा ने ब्लॉक गुरदासपुर-1 में चल रहे सेमिनार का जायजा लेते समय दी। इसके अलावा डीईओ समरा ने धारीवाल, कलानौर, श्री हरगोबिंदपुर, बटाला, डेरा बाबा नानक, दोरंगला, गुरदासपुर-2 एवं कादियां ब्लॉक में चल रहे सेमिनारों का भी जायजा लिया गया। इस दौरान जिला कोआर्डिनेटर पढ़ो पंजाब-पढ़ाओ पंजाब विशाल मिन्हास भी उनके साथ थे। इसके बाद जिला कोआर्डिनेटर मिन्हास ने बताया कि अभी तक जिले के 1280 के लगभग अध्यापक पढ़ो पंजाब-पढ़ाओ पंजाब टीम द्वारा लगाए जा रहे सेमिनारों में सिखलाई प्राप्त कर चुके है। सेमिनारों में चंडीगढ़ से विशेष ट्रेनिंग प्राप्त रिसोर्स पर्सन अध्यापकों को बच्चों के शिक्षण से संबंधित गतिविधियों की संपूर्ण ट्रेनिंग प्रदान कर रहे हैं। यह सेमिनार प्राइमरी के बच्चों के शिक्षण में महत्वपूर्ण रोल अदा करेंगे।

इस मौके बीपीईओ महिन्दरपाल, बीपीईओ मनजीत सिंह, बीपीईओ देवी दयाल भंडारी, बीपीईओ सुषमा देवी, बीपीईओ सुभाष चंद्र, जगदीश राज बैंस, राम सिंह, निश्चिंत कुमार, रणजीत सिंह, दविंदर सिंह, अमरजीत सिंह, धर्मेंद्र सिंह, लवप्रीत सिंह, अनिल कुमार, संदीप शर्मा, सिकंदर लाल, जसबीर सिंह, रजनीश, ज्योति गुप्ता, प्रवीण, रघु महाजन, बलकार अत्री आदि मौजूद थे।

सेमिनारों का जायजा लेने के दौरान अध्यापकों को संबोधित करते जिला शिक्षा अफसर प्राइमरी सलविंदर सिंह समरा। (दाएं) गतिविधियों में भाग लेते अध्यापक।

खेल-खेल में बच्चों को पढ़ाएं ताकि उन्हें पढ़ाई बोझ न लगे : डीईओ बलबीर सिंह

इस मौके डीईओ समरा ने कहा कि आधुनिक युग के समय में इन कक्षाओं को पढ़ाने के लिए भी आधुनिक तकनीकों की जरूरत है और यह सेमिनार अध्यापकों में स्फूर्ति भरने के साथ-साथ अध्यापकों के ज्ञान भंडार में भी बढ़ोतरी कर रहे हैं। वहीं उप जिला शिक्षा अफसर बलबीर सिंह ने अध्यापकों को सेमिनारों में सीखी आधुनिक गतिविधियों को स्कूलों में बच्चों को करवाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि सेमिनार में अध्यापक को सिखाया जाता है कि कैसे बच्चे के स्तर पर जाकर उसे खेल-खेल में शिक्षित करना है ताकि बच्चे को पढ़ाई बोझ न लगे।

X
1920 टीचर ले चुके आधुनिक गतिविधियों की ट्रेनिंग : समरा
Click to listen..