• Hindi News
  • Punjab
  • Batala
  • पुराने सिविल अस्पताल से केमिस्ट आज निकालेंगे कैंडल मार्च
विज्ञापन

पुराने सिविल अस्पताल से केमिस्ट आज निकालेंगे कैंडल मार्च

Bhaskar News Network

Jul 26, 2018, 02:10 AM IST

Batala News - भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर केमिस्ट एसोसिएशन गुरदासपुर की बैठक एक रेस्टोरेंट में शहरी अध्यक्ष प्रभजिन्द्र...

पुराने सिविल अस्पताल से केमिस्ट आज निकालेंगे कैंडल मार्च
  • comment
भास्कर संवाददाता | गुरदासपुर

केमिस्ट एसोसिएशन गुरदासपुर की बैठक एक रेस्टोरेंट में शहरी अध्यक्ष प्रभजिन्द्र आनंद की अध्यक्षता में हुई। इसमें सभी केमिस्टों ने भाग लिया। मीटिंग का एजेंडा 30 जुलाई को भारत बंद को सफल बनाना रहा।

इस संबंधी सभी केमिस्टों ने अपने सहमति जताते कहा कि जब तक हमारी मांगों को स्वीकार नहीं किया जाता तब तक संघर्ष निरंतर जारी रखेंगे। मीटिंग दौरान शहरी अध्यक्ष आनंद ने कहा कि पंजाब तंदरुस्त मिशन के तहत सेहत विभाग द्वारा नशा बेचने वालों पर अंकुश लगाने के नाम पर केमिस्टों को परेशान करना शुरू कर दिया है। वहीं महासचिव संजीव कपूर ने कहा कि सेहत विभाग द्वारा किसी केमिस्ट शॉप की इंस्पेक्शन की जाती है तो इसे छापामारी का नाम दे दिया जाता है। लेकिन कोई पुलिस कर्मचारी, पटवारी, तहसीलदार आदि उनकी दुकान की जांच करें यह उचित नहीं। मीटिंग में केमिस्टों ने फैसला लिया कि अपनी मांगों संबंधी 26 जुलाई को शाम 7 बजे शहर में कैंडल मार्च निकाला जाएगा जोकि पुराने सिविल अस्पताल से शुरू होकर बाटा चौंक, गीता भवन रोड, हनुमान चौंक से वापस सिविल अस्पताल के पास आकर संपन्न होगा।

इस मौके उपाध्यक्ष डॉ. सुभाष, राजेश सरपाल, सुधीर धवन, अशोक साहनी, मुकेश शर्मा, विजय महाजन, रणधीर गुप्ता, दीपक शर्मा, राकेश अरोड़ा, विनोद महाजन, रोहित गैंद, संजीव अरोड़ा मौजूद थे।

केमिस्टों का 30 जुलाई के भारत बंद को सफल बनाने का आह्वान

मीटिंग के दौरान भारत बंद के आह्वान का एकजुटता से समर्थन करते पदाधिकारी।

केमिस्टों ने काले बिल्ले लगाकर जताया रोष

बटाला | बटाला के डेरा रोड पर स्थित शंकर मेडिकल स्टोर में दवा विक्रेताओं ने मांगों को लेकर काले बिल्ले लगाकर रोष जताया। यहां प्रदीप रामपाल और कुनाल शर्मा ने कहा कि सरकार द्वारा समूह केमिस्टों को नशा बेचने का कहकर उन्हें बदनाम कर रही है, जो गलत है। कैमिस्ट दवा बेचता है न कि नशा, लेकिन अब केमिस्टों को जानबूझ कर बदनाम किया जाने लगा है। जबकि प्रशासन को नशा बेचने वालों को पकड़ना चाहिए। वहीं, नशा खोरी बंद करने के लिए केमिस्ट सरकार के साथ है। सभी केमिस्ट नशे के सख्त खिलाफ हैं। 30 जुलाई दिन सोमवार को पंजाब केमिस्ट एसोसिएशन के बुलावे पर समूह दवा विक्रेताओं द्वारा मांगों को लेकर काले बिल्ले लगाकर हड़ताल करने का फैसला किया, जिसका वह समर्थन करेंगे। इस मौके मनदीप सिंह, प्रिंस मौजूद थे।

केमिस्टों की मांगेें

केमिस्टों की मांगों संबंधी शहरी अध्यक्ष आनंद व महासचिव कपूर ने बताया कि पंजाब पुलिस की दखलअंदाजी बंद होना, दवाइयों की ऑनलाइन बिक्री बंद होना, प्रत्येक तरह के कानून केमिस्टों पर थोपना स्वीकार नहीं है।

X
पुराने सिविल अस्पताल से केमिस्ट आज निकालेंगे कैंडल मार्च
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन