Hindi News »Punjab »Batala» पंचायत कर्मियों को ढाई महीने के बाद भी न तो वेतन मिल रहा न कोई पदोन्नति

पंचायत कर्मियों को ढाई महीने के बाद भी न तो वेतन मिल रहा न कोई पदोन्नति

पंजाब सरकार के ग्रामीण विकास और पंचायत विभाग के लारों से तंग आकर समूह पंचायत समिति में कार्य करते कर्मचारियों ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 03, 2018, 02:25 AM IST

पंचायत कर्मियों को ढाई महीने के बाद भी न तो वेतन मिल रहा न कोई पदोन्नति
पंजाब सरकार के ग्रामीण विकास और पंचायत विभाग के लारों से तंग आकर समूह पंचायत समिति में कार्य करते कर्मचारियों ने मांगों को लेकर 7वें दिन भी कलम छोड़ हड़ताल कर धरना जारी रखा। इस दौरान उन्होंने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस मौके पंचायत समिति में कार्य करते समूह पंचायत अधिकारी, सुपरिंटेंडेंट, पंचायत सचिव, कलेक्टर, क्लर्क, सेवादारों, चौकीदारों आदि कर्मचारी उपस्थित थे।

उन्होंने बताया कि सरकार ने पंचायत समिति कर्मचारियों की मांगों को जायज मानते हुए 30 अप्रैल को लिखित समझौता करके सहमति पत्र जारी किया था और इनको एक माह में लागू करने का समय दिया था, लेकिन अढाई महीने से अधिक समय बीत जाने के बावजूद भी कर्मचारियों को न तो वेतन मिला है और न ही बनती पदोन्नति दी गई है। जिस कारण समूह कर्मचारियों में रोष है। उनकी मांगों को मानने की बजाए सरकार और अफसरशाही लारे लगाकर टाइम पास कर रहे हैं।

इस मौके मनप्रीत कौर सुपरिंटेंडेंट, रजिंदर सिंह पंचायत अफसर, नरपिंदर सिंह समिति क्लर्क, अरुणा समिति क्लर्क, हरविंदर सिंह पंचायत सचिव, कुलविंदर सिंह, मनजिंदर सिंह, रणजीत सिंह, सुरजीत सिंह, परमवीर सिंह, मुख्तयार सिंह, सतिंदर सिंह, नरिंदर सिंह, गुरदर्शन सिंह, गुरमीत सिंह, सुखविंदर सिंह, गुरप्रीत सिंह, हरविंदरबीर सिंह, सुखजीत सिंह, यकूब मसीह, रविंदर कौर, जतिंदर कौर, हरप्रीत कौर, जसपाल सिंह, जसपाल सिंह, मनदीप सिंह, जगरूप सिंह, रणजोध सिंह मौजूद थे।

सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते समूह कर्मचारी। -भास्कर

ये हैं कर्मियों की मांगें

कर्मियों ने मांग की कि वेतन लगातार जारी किया जाए, समूह समिति कर्मियों की पुरानी पेंशन स्कीम बहाल की जाए, सुपरिंटेंडेंट और पंचायत अफसर को तरक्की दी जाए। आने वाले समय में अगर उनकी मांगें न मानी गई तो वह संघर्ष को ओर तेज करेंगे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Batala

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×