संगरूर / पंक्चर हुआ तो घूमकर रेलिंग से टकराई गाड़ी, फ्लाईओवर से नीचे गिरकर 2 की मौत-5 घायल



a dead and several others got injured in a road accident at Sangrur
X
a dead and several others got injured in a road accident at Sangrur

  • बरनाला के सिरकी बिरादरी के कुछ लोग एक पुराने केस में जमानती बनकर जा रहे थे पटियाला
  • संगरूर में उपली रोड पर फ्लाईओवर से उतरते वक्त हुआ हादसा

Dainik Bhaskar

Mar 20, 2019, 11:02 AM IST

संगरूर. संगरूर में मंगलवार को सड़क हादसे में 2 लोगों की मौत हो गई, जबकि 5 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसा उस वक्त हुआ, जब बरनाला से कुछ लोग पटियाला कोर्ट में पेश होने के लिए जा रहे थे। अचानक उपली रोड पर पड़ते फ्लाईओवर मालवाहक गाड़ी का टायर पंक्चर हो गया और इसके बाद गाड़ी घूमकर रेलिंग से टकरा गई। इसमें सवार कई लोग उछलकर फ्लाईओवर से नीचे आन गिरे।


बाल-बाल बचे सिरकी बिरादरी के करनैल सिंह ने बताया कि मंगलवार को कोर्ट केस में पुराने केस में एक व्यक्ति को जमानत पर बरी किया जाना था।उसकी जमानत देने के लिए 20-25 लोग एक मालवाहक गाड़ी में सवार हो पटियाला जा रहे थे। सुबह करीब साढ़े 10 बजे जब गाड़ी उपली रोड पर फ्लाईओवर से उतर रही थी तो अचानक ड्राइवर साइड का पीछला टायर पंक्चर हो गया। ऐसे में गाड़ी बेकाबू हो घूमकर रेलिंग से जा टकराई और इसमें पिछली साइड सवार 7 लोग उछलकर फ्लाईओवर से नीचे जा गिरे। आसपास के लोगों ने घायलों को सिविल अस्तपताल पहुंचाया गया। जमानत देने जा रहे बरनाला के पार्षद विनोद कुमार ने बताया कि हादसे में रवि (40), रॉकी (25), सन्नी (30), महिला रोमा (30), सन्नी (32), दर्शन (40) और रवि (30) बुरी तरह से घायल हो गए थे। अस्पताल पहुंचते ही रवि पुत्र साजल (30) व सन्नी पुत्र सुरेश कुमार मौत हो गई।

 

खस्ताहाल पिकअप में 20 से अधिक लोगों को ठूंस रखा था: हादसे में बाल-बाल बचे करनैल सिंह ने बताया कि मंगलवार को केस के सिलसिले में कोर्ट जा रहे थे। सुबह करीब साढ़े 10 बजे जैसे ही गाड़ी उपली रोड पर फ्लाईओवर से उतर रही थी तो अचानक पिछला टायर पंक्चर हो गया। इससे गाड़ी बेकाबू होकर करीब 20 मीटर तक स्लिप होने के बाद पूरी तरह से घूम कर रेलिंग से जा टकराई। झटके से पीछे बैठे कुछ व्यक्ति पुल से करीब 30 फीट नीचे जा गिरे।


तड़पते रहे घायल, एंबुलेंस 45 मिनट बाद पहुंची: कुलवंत सिंह जवंधा ने बताया कि घायल करीब एक घंटा दर्द से कराहते रहे। उन्होंने 108 पर कई बार फोन किया, परंतु सभी एंबुलेंस व्यस्त बताई गईं। 45 मिनट तक मरीज एंबुलेंस का इंतजार करते रहे। फिर एक एंबुलेंस 108 से और एक अस्पताल से भेजी गई। यदि समय पर एंबुलेंस मिल जाती तो रवि कुमार व सन्नी को मरने से बचाया जा सकता था।


एसएचओ बोले-आरोप गलत, सही समय पर दी एबुलेंस: संगरूर के एसएमओ डॉक्टर कृपाल सिंह ने बताया कि मरीजों के अस्पताल पहुंचते ही उनका उपचार शुरू कर दिया गया था, परंतु उनकी हालत नाजुक थी। अस्पताल में हर समय दो एंबुलेंस मौजूद रहती हैं। लोगों के आरोप गलत हैं, मरीजों को तुरंत एंबुलेंस मुहैया करवा दी गई थी।

COMMENT