पंजाब / सुखबीर बादल की रैली में कैरोसिन की बोतल लेकर पहुंचे शख्स को पुलिस ने तुरंत किया काबू



जलालाबाद इलाके में धन्यवाद दौरे में सभा को संबोधित करते शिअद प्रधान सुखबीर बादल। जलालाबाद इलाके में धन्यवाद दौरे में सभा को संबोधित करते शिअद प्रधान सुखबीर बादल।
a man entered in SAD President Sukhbir Badal Rally holding Petrol Bottle
X
जलालाबाद इलाके में धन्यवाद दौरे में सभा को संबोधित करते शिअद प्रधान सुखबीर बादल।जलालाबाद इलाके में धन्यवाद दौरे में सभा को संबोधित करते शिअद प्रधान सुखबीर बादल।
a man entered in SAD President Sukhbir Badal Rally holding Petrol Bottle

  • फाजिल्का जिले के कस्बा जलालाबाद इलाके में रैली को संबोधित कर रहे थे शिअद प्रधान
  • कुछ दिन पहले जलने से बेटे की मौत के बाद सुनवाई नहीं होने से आहत बताया जा रहा व्यक्ति

Dainik Bhaskar

Sep 15, 2019, 06:45 PM IST

फाजिल्का. फाजिल्का जिले के कस्बा जलालाबाद में रविवार को उस वक्त अफरा-तफरी का माहौल बन गया, जब शिराेमणि अकाली दल के प्रधान और फिरोजपुर के सांसद सुखबीर बादल की रैली में एक युवक कैरोसिन की बोतल लेकर आ धमका। पुलिस ने वक्त रहते उसे पकड़ लिया, फिलहाल उसके बारे में कोई जानकारी नहीं दे रही है। अभी यह भी साफ नहीं हुआ है कि उस शख्स की मंशा क्या थी।

 

फिरोजपुर के सांसद सुखबीर बादल ने रविवार को जलालाबाद के विभिन्न गांवों का दौरा किया। इसी दौरान गांव टिवाना कलां में सुखबीर बादल की सभा की समाप्ति के दौरान, जहां लोग अपनी अपनी फरियाद लेकर खड़े थे, वहीं एक गांव ही व्यक्ति बात न सुनने के आक्रोशित हो हंगामा करने लग गया। वहां तैनात पुलिस ने उसे तुरंत पकड़ लिया और तलाशी लेने पर उसके पास कैरोसिन की बोतले मिली। इसके बाद उसे तुरंत हिरासत में ले लिया गया।

 

थोड़ा पीछे जाएं तो गांव से पता चला कि कुछ समय पहले इस शख्स के बेटे की आग लगने से मौत हो गई थी, लेकिन उसने इसे साजिश बताया था। पता चला है कि कार्रवाई की मांग को लेकर संबंधित थानों के चक्कर काटकर और सुनवाई नहीं होने पर वह मानसिक रूप से दबाव में है। हालांकि अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि आज वह कैरोसिन की बोतलें लेकर इस तरह क्यों आया था। फिलहाल पूछताछ का क्रम जारी है।

 

बादल बोले-कांग्रेस दलबलुओं को दे रही बड़े पद

शिअद अध्यक्ष सुखबीर ने कहा कि दलबदलुओं को सलाहकार नियुक्त करके कांग्रेस सरकार में बड़े पद दिए जा रहे हैं, जिससे कांग्रस पार्टी के नैतिक दिवालियापन की झलक दिखाई देती है। ये दल बदलू मुख्यमंत्री को क्या सलाह देंगे? यही कि राजनीतिक लाभ लेने के लिए एक पार्टी से दूसरी पार्टी में किस तरह छलांगें मारते हैं। सच्चाई है कि कांग्रेस सरकार ने हाल ही में 6 सलाहकार नियुक्त किए हैं। एक पहले नियुक्त किया गया था, जिससे स्पष्ट हो गया है कि इसे अंदरूनी बगावत का सामना करना पड़ रहा है और जल्द ही कांग्रेस में बड़ा विस्फोट होगा। सरकार अपने विधायकों को प्रलोभन देकर इस बगावत को टालने का प्रयास कर रही है, लेकिन इससे और ज्यादा असंतोष आ गया है। अब बाकी बचे विधायक भी समान पद मांग रहे हैं। 13 सलाहकार, 4 राजनीतिक सचिव, 9 विशेष कार्यवाहक अधिकारी और एक मुख्य सचिव समेत कांग्रेस सरकार में राजनीतिक नियुक्तियों की संख्या 27 हो गई। इसके बावजूद लोगों को न्याय नहीं मिल रहा।

 

पाकिस्तान को श्रद्धा से लाभ नहीं लेना चाहिए

पाकिस्तान द्वारा करतारपुर काॅरिडोर के रास्ते से जाने वाले हर श्रद्धालु पर 20 डाॅलर की फीस लगाने के बारे पूछने पर सरदार बादल ने कहा कि यह बेहद शर्मनाक हरकत है। यह श्रद्धालुओं की श्रद्धा से व्यवसाय करने के समान है। उन्होने कहा कि यह दुनिया की एकमात्र उदाहरण है, जहां एक पूजने वाली जगह पर माथा टेकने के लिए किसी सरकार द्वारा श्रद्धालुओं से फीस ली जा रही है। इस निर्णय को तत्काल रद्द कर दिया जाना चाहिए।

 

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना