पंजाब / विवाहिता को आत्महत्या के लिए मजबूर करने का भगौड़ा आरोपी देवर 4 साल बाद काबू, जेल भेजा

X

  • 11 जून 2015 को मोगा की फोकल प्वाइंट चौकी में फिरोजपुर निवासी गुरदीप सिंह ने दी थी शिकायत
  • परेशान किए जाने की सूचना के बाद ससुराल पहुंचे परिजन तो फंदे से लटकी छोड़ भागे थे पति और देवर

Apr 12, 2019, 01:36 PM IST

मोगा. मोगा पुलिस ने विवाहिता को आत्महत्या के लिए मजबूर करने के मामले में चार से फरार देवर को काबू कर लिया है। मामला दहेज प्रताड़ना का है, जिसमें महिला ने आत्महत्या कर ली थी। आरोप था कि पति और देवर उसे मायके से रुपए न लेकर आने पर परेशान करते थे। पति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था्र लेकिन देवर फरार चल रहा था। इसी हफ्ते कोर्ट ने उसे भगौड़ा करार दिया है। अब गिरफ्तार कर पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया तो वहां से उसे जेल भेज दिया गया।

 

थाना सिटी-1 के हवलदार सुरजीत सिंह के मुताबिक 11 जून 2015 को फोकल प्वाइंट चौकी में फिरोजपुर निवासी गुरदीप सिंह ने पुलिस को दिए बयान में आरोप लगाया था कि उसने अपने बेटी सोनू उर्फ दीपका की घटना से आठ साल पहले विजय कुमार निवासी बरहा जिला फैजाबाद यूपी से शादी की थी। वह पति के साथ मोगा के नंद सिंह नगर में आकर रहने लगी। शिकायतकर्ता के मुातबिक एक दिन बेटी ने कहा कि वो लोग अपना मकान बनाना चाहते हैं तो एक लाख रुपए दिए थे। फिर फर्श करवाने के लिए 50 हजार रुपए और मांगे तो घर में मौजूद 30 हजार देकर 20 हजार बेटी को भेज दिया था। इसके बाद उसने बताया कि पति और देवर कम रुपए लाने के लिए उसे परेशान करते हैं तो परिजन मोगा पहुंचे। वहां दरवाजा खोलते ही दामाद धक्का देकर छोटे भाई के साथ फरार हो गया और जब घर के अंदर जाकर देखा तो बेटी की लाश लटक रही थी।

 

शिकायत के बाद पुलिस ने आरोपी पति विजय कुमार और देवर ओम प्रकाश के खिलाफ आत्महत्या के लिए मजबूर करने के आरोप में केस दर्ज किया था। चार साल से फरार चल रहे देवर को 8 अप्रैल 2019 को जिला अदालत ने भगौड़ा करार दे दिया। 11 अप्रैेल को पुलिस ने गश्त के दौरान फोकल प्वाइंट क्षेत्र के निकट से गिरफ्तार करके उसके खिलाफ धारा 174ए के तहत केस दर्ज किया है। शुक्रवार को अदालत में पेश करने पर उसे जेल भेजने के आदेश दिए गए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना