फ्री कानूनी सहायता देने में मददगार बना एडीआर

Bathinda News - लोगों को शीघ्र, सस्ता और सुलभ न्याय दिलवाने के लिए जिला लीगल सर्विस अथॉरिटी बठिंडा की ओर से स्थापित किया गया...

Nov 10, 2019, 07:35 AM IST
लोगों को शीघ्र, सस्ता और सुलभ न्याय दिलवाने के लिए जिला लीगल सर्विस अथॉरिटी बठिंडा की ओर से स्थापित किया गया वैकल्पिक झगड़ा निवारण केंद्र (एडीआर) आर्थिक रुप से कमजाेर व जरूरतमंद लोगों के लिए वरदान साबित हो रहा है। अदालतों में मुकदमों की बेतहाशा संख्या को देखते हुए आने वाले समय में एडीआर का महत्व ओर अधिक बढ़ेगा और न्याय से वंचित लोगों को इंसाफ मिलेगा। जिला अदालत में डेढ़ करोड़ की लागत से बने वैकल्पिक झगड़ा निवारण केंद्र का शुभारंभ 18 जनवरी 2014 को तत्कालीन चीफ जस्टिस पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट जस्टिस संजे किशन कौल पैट्रन इन चीफ, पंजाब लीगल सर्विस अथॉरिटी ने किया था। जिसका उद्देश्य लोगों को जल्द व सस्ता न्याय उपलब्ध करवाना था।

इन लोगों को दी जाती है मुफ्त कानूनी मदद: जिला लीगल सर्विस अथॉरिटी द्वारा उन लोगों को मुफ्त कानूनी सहायता दी जाती है जिनकी वार्षिक आय 3 लाख रुपए से कम हैं। इसके अलावा अनुसूचित जाति अथवा जनजाति के सदस्य, स्त्रियों एवं बच्चों, औद्योगिक श्रमिकों,सामूहिक आपदा के शिकार, जेल में बंद व्यक्ति आदि को मुफ्त कानूनी सहायता प्रदान की जाती है। एडीआर सेंटर में पीड़ितों को विक्टिम कंपनसेशन स्कीम का भी प्रावधान है जिससे जरूरतमंद इसका लाभ ले सकता है। जिला लीगल सर्विस अथॉरिटी का मुख्य उद्देश्य लोगों को मुफ्त कानूनी सहायता देना व लोगों को कानून के बारे में जागरूक करना है। एडीआर सेंटर में माहिर एडवोकेट्स व पैरा लीगल वालंटियर्स द्वारा लोगों को मुफ्त कानूनी सहायता दी जाती है। अथॉरिटी द्वारा समय-समय पर कानूनी साक्षरता शिविर लगाए जाते हैं।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना