सिविल अस्पताल में खून की कमी से जूझ रहा ब्लड बैंक, 53 यूनिट ही बचा

Bathinda News - सिविल अस्पताल में स्थित ब्लड बैंक खून की कमी से जूझ रहा है। ब्लड बैंक में लगभग पांच सौ की जगह महज 53 यूनिट ही ब्लड बचा...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:35 AM IST
Bathinda News - blood bank 53 units left without a lack of blood in civil hospital
सिविल अस्पताल में स्थित ब्लड बैंक खून की कमी से जूझ रहा है। ब्लड बैंक में लगभग पांच सौ की जगह महज 53 यूनिट ही ब्लड बचा है। इससे सिविल अस्पताल एवं वूमेन एंड चिल्ड्रन अस्पताल में दाखिल प्रसव पीड़िताओं के साथ अन्य अस्पतालों में भर्ती होने वाले मरीजों को खून के लिए परेशान होना पड़ रहा है। खून के अभाव में किसी की जान न जाए। समय रहते जरूरत मंदों को खून मिल जाए, इसलिए सरकार की ओर से अस्पताल में 5 दिसंबर 1985 में ब्लड बैंक की स्थापना की गई। यहां पांच सौ यूनिट ब्लड रखने की क्षमता है। सिविल व वूमेन अस्पताल के साथ प्राइवेट अस्पतालों में आने वाली प्रसव पीड़िताओं को सरकार ने बगैर खून लिए ही ब्लड बैंक से ब्लड मुहैया कराने के लिए कर्मचारियों को आदेश दिया है। जब से सरकार की ओर से यह आदेश जारी हुआ तब से प्रसव पीड़िताओं के साथ आने वाले लोग ब्लड तो ले लेते हैं, मगर डोनेट करने से इनकार कर देते हैं और सरकार के आदेशों का हवाला देने लगते हैं। इससे दिनोंदिन ब्लड बैंक में खून कम होता जा रहा है। जिम्मेदार इस ओर ध्यान नहीं दे रहे हैं। ब्लड बैंक में करीब 12 कर्मचारियों की स्वीकृति है परंतु इस समय मात्र 5 एलएसटी ही काम कर रहे हैं।

ब्लड बैंक में नहीं है कई ग्रुप का खून, मरीजों के लिए नीजि ब्लड बैंकों से खरीदना पड़ रहा

सिविल अस्पताल के ब्लड बैंक में लगा ब्लड यूनिट का बोर्ड।

ब्लड बैंक में इस समय आरबीसी का ओ पाजीटिव, आरबीसी बी निगेटिव, आरबीसी एबी निगेटिव ग्रुप का ब्लड नहीं है। स्टाक में होल ब्लड बी पाजीटिव 4 और आरबीसी 2, होल ओ-एबी पाजीटिव 5 और आरबीसी 3, होल ब्लड ए निगेटिव ग्रुप 1 और आरबीसी 1, होल ब्लड बी निगेटिव 1, होल ब्लड ओ निगेटिव 6 और आरबीसी 5, होल ब्लड एबी निगेटिव 2 यूनिट ही उपलब्ध है, वहीं आरबीसी बी और एबी निगेटिव ग्रुप का एक भी यूनिट रक्त उपलब्ध नहीं है। प्रतिदिन करीब 50 से 55 यूनिट इश्यू किए जाते हैं।

डोनर लाने पर मिला रक्त

वीरवार को मरीज के परिजन लाल चंद और किशोर शर्मा आरबीसी बी निगेटिव व आरबीसी ओ पाजीटिव रक्त लेने के लिए ब्लड बैंक पहुंचे ताे उन्हें डोनर बुलाने पर ब्लड इश्यू किया गया।

कब पड़ती है रक्त की जरूरत

जिन मरीजों के शरीर में रक्त की मात्रा कम है, उन्हें होल ब्लड के साथ-साथ आरबीसी दिए जाते हैं। प्लाज्मा भी विशेष परिस्थिति में मरीजों को दिए जाते हैं। प्लेटलेट्स उस स्थिति में दिए जाते हैं जब मरीज डेंगू का शिकार हो और प्लेटलेट्स की कम होने लगे।

रक्तदान कैंप कम लगे हैं

गर्मियों के समय में अक्सर रक्त की कमी हो जाती है। इन दिनों में रक्तदान कैंप बहुत कम लगे हैं, शहर की समाजसेवी संस्थाओं व ग्रामीण क्षेत्र के लोगों से बात कर कैंप लगाने की तैयारी चल रही है। डाॅ. सतीश गोयल, एसएमओ, सिविल अस्पताल

X
Bathinda News - blood bank 53 units left without a lack of blood in civil hospital
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना