ब्लड डोनर्स कौंसिल रामपुरा फूल ने अब तक 28787 यूनिट रक्त मुहैया करवाया

Bathinda News - रक्तदान मुहिम में रामपुरा फूल की भूमिका को भुलाया नहीं जा सकता। शायद यही कारण है कि बठिंडा जिले के इस कस्बे ने...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:45 AM IST
Rampura Phul News - blood donors council rampura phul has so far provided 28787 units of blood
रक्तदान मुहिम में रामपुरा फूल की भूमिका को भुलाया नहीं जा सकता। शायद यही कारण है कि बठिंडा जिले के इस कस्बे ने विश्व स्तर पर रक्तदानियों की नगरी के रूप में अपनी विशेष पहचान बनाई है। वर्तमान समय में शहर के पास रक्तदानियों की एक फौज है। जिसमें 100 से ज्यादा बार रक्तदान करने वाले, 50 से ज्यादा बार रक्तदान करने वाले तीस, 20 से ज्यादा बार रक्तदान करने वाले ढाई सौ करीब रक्तदानी हैं। शहर में रक्तदान मुहिम के संस्थापक सदस्य तथा वयोवृद्ध रक्तदानी प्रीतम सिंह आर्टिस्ट ने बताया कि बांसल तथा उनके साथियों द्वारा 1 अक्टूबर 1978 में ब्लड डोनर्स कौंसिल की स्थापना कर रक्तदान कैंप का आयोजन किया गया। पिछले चालीस वर्षों में कौंसिल द्वारा रामपुरा फूल तथा आसपास के क्षेत्रों में 379 कैंप आयोजित कर 28787 यूनिट रक्त एकत्र कर स्थानीय सिविल अस्पताल के अलावा बठिंडा, लुधियाना, चंडीगढ़ तथा पटियाला आदि शहरों में स्थित अस्पतालों में भर्ती मरीजों को मुहैया करवाया गया है।

रामपुरा के पवन मेहता 122वीं बार खूनदान करते हुए।

सरोज शाही 70 से ज्यादा बार कर चुकी हैं रक्तदान

शहर में रक्तदान के क्षेत्र में अकेले पुरुष ही नहीं बल्कि महिलाएं भी अपनी अहम भूमिका निभा रही हैं। शिक्षा विभाग से सेवानिवृत्त सरोज शाही 70 से ज्यादा बार रक्तदान कर महिलाओं के लिए प्रेरणा स्रोत बन चुकी हैं। वहीं अबतक 123 बार रक्तदान कर चुके स्टेट अवार्डी सुरेंदर गर्ग तथा 122 बार रक्तदान करने चुके बिजली विभाग से सेवानिवृत्त पवन मेहता हर तीन महीने बाद रक्तदान करना नहीं भूलते। युवा रक्तदानी मनोहर सिंह का कहना है कि “ खून तो वैसे भी मच ही जाएगा, दान करो कोई बच जाऐगा।

खूनदान मुहिम को समर्पित है संजीव पिंका की दूसरी पीढ़ी

मानसा| साल 1988 में पढ़ाई के दौरान एनएनएस द्वारा आयोजित कैंपों में रामपुरा वासी व खूनदानी प्रेरक हजारी लाल बांसल खूनदान करने के लेक्चर से प्रभावित हुए शहरवासी संजीव पिंका खूनदान करने के जज्बे को 30 साल के बाद भी जारी रखे हुए हैं।

खूनदान व साइकिल चलाने के प्रति लोगों को जागरूक करने में लगे संजीव पिंका साल 1988 से लेकर अब तक 116 बार खूनदान कर चुके हैं। संजीव पिंका की प|ी हेमा गुप्ता भी अब तक 34 बार खूनदान कर चुकी हैं। खूनदान लहर को निरंतर जारी रखने में अब संजीव का बेटा रिशव सिंगला सामने आया है और 21 साल की आयु में 10 बार खूनदान कर चुका है।

संजीव पिंका।

हेमा गुप्ता।

Rampura Phul News - blood donors council rampura phul has so far provided 28787 units of blood
Rampura Phul News - blood donors council rampura phul has so far provided 28787 units of blood
X
Rampura Phul News - blood donors council rampura phul has so far provided 28787 units of blood
Rampura Phul News - blood donors council rampura phul has so far provided 28787 units of blood
Rampura Phul News - blood donors council rampura phul has so far provided 28787 units of blood
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना