पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

गांव चट्‌ठे सेखवां की बेटी इंदरजीत कौर जगा रही शिक्षा की अलख, पढ़ा रही है नि:शुल्क ट्यूशन

10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बच्चों को नि:शुल्क ट्यूशन पढ़ातीं इंद्रजीत कौर।
  • छोटी बच्चियों की शादी होती देख लड़कियाें को पढ़ाकर अपने पैरों पर खड़ा करने की ठानी
  • स्कूल से छुट्टी होने के बाद वह 4 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक बच्चों को मुफ्त शिक्षा दे रही है

संगरूर (भूपिंदर सुनामी). गांव चट्‌ठे सेखवां की 20 वर्षीय युवती इंदरजीत कौर युवाओं के लिए प्रेरणा स्त्रोत बनी हुई है। उसके मोहल्ले में रहने वाली जब उससे छोटी लड़कियों की पढ़ने-लिखने की उम्र में उनके परिजनों ने आर्थिक तंगी के चलते शादी कर दी तो अपनी पढ़ाई परी करने के बाद इंदरजीत कौर ने ठाना की वह मोहल्ले के किसी भी बच्चे को शिक्षा से वंचित नहीं रहने देगी। इसके बाद उसने बच्चों के स्कूल टाइम के बाद ट्यूशन पढ़ानी शुरू की।
 
उसने जून माह में बच्चों को पढ़ाना शुरू किया। स्कूल से छुट्टी होने के बाद वह 4 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक बच्चों को मुफ्त शिक्षा दे रही है। उसकी तबीयत खराब होने पर भी वह बच्चों को पढ़ाने का समय मिस नहीं करती। मौजूदा समय में इंदरजीत 20 बच्चों को गांव की वाल्मीकि धर्मशाला में ट्यूशन पढ़ा रही है। बंद पड़ी धर्मशाला में उसने निजी खर्च से पंखे व मैट लगवाए। परंतु बारिश के कारण पंखे खराब हो गए। उसका कहना है कि सरकार बेटी पढ़ाओ- बेटी बचाओ का नारा तो दे रही है। परंतु बेटियों को उच्च शिक्षा देने के लिए कोई प्रयास नहीं किए जा रहे हैं।
 
इंदरजीत कौर गांव उपली चट्ठा के सरकारी स्कूल से12वीं तक शिक्षा हासिल की। उसी स्कूल में उसके दादा 20 रुपए में सफाई का काम करते थे। अब उसके पिता पार्ट टाइम 3500 रुपए में सफाई सेवक का काम करते हैं। उसने पिता से कई बार पूछा की इतने कम वेतन में काम करने की क्या जरूरत है। पिता ने जवाब दिया कि वह पैसों के लिए नहीं, बल्कि बच्चों की सेवा के लिए काम रहे हैं। उसे पिता ने ही बच्चों की सेवा के लिए प्रोत्साहित किया है। वह जीएनएम में नर्सिंग करने के बाद ग्रेजुएशन कर रही है।
 

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। वैसे भी आज आपको हर काम में सकारात्मक परिणाम प्राप्त होंगे। इसलिए पूरी मेहनत से अपने कार्य को संपन्न करें। सामाजिक गतिविधियों में भी आप...

और पढ़ें