जिले में बनेंगे कम्युनिटी हेल्थ सर्विसेज सेंटर, 1 अगस्त से कार्य शुरू

Bathinda News - प्रदेश में आयुष्मान भारत सरबत सेहत बीमा योजना के शुरू होने से पहले नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की ओर से पंजाब के हर जिले...

Jul 31, 2019, 07:45 AM IST
प्रदेश में आयुष्मान भारत सरबत सेहत बीमा योजना के शुरू होने से पहले नेशनल हेल्थ अथॉरिटी की ओर से पंजाब के हर जिले में कम्युनिटी हेल्थ सर्विस सेंटर खोले जाएंगे। पंजाब में कुल 9 हजार कम्युनिटी हेल्थ सर्विस सेंटर होंगे। यह एलान हेल्थ अथॉरिटी ने जारी नई नोटिफिकेशन में किया है। आयुष्मान भारत सेहत योजना को शुरू करने के लिए मंगलवार को हेल्थ सेक्रेटरी डाॅ. अनुराग अग्रवाल ने बठिंडा सिविल अस्पताल अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस द्वारा प्रबंधों व अन्य तैयारियों के संबंध में चर्चा की। आयुष्मान भारत सेहत योजना के तहत बठिंडा में 1 अगस्त से सिविल अस्पताल में कार्ड बनाने के लिए कार्य शुरू किया जा रहा है। अधिकारियों के अनुसार 2-3 दिन ट्रायल के तौर पर कार्य किया जाएगा। जिसके बाद जिले के सभी करीब 150 सेहत केंद्रों पर कार्य शुरू कर दिए जाएंगे। इन सर्विस सेंटरों में आयुष्मान भारत सेहत योजना के लाभपात्रों के ई-कार्ड बनाए जाएंगे। इसके अलावा विभाग की तरफ से सिविल अस्पतालों में भी आरोग्य मित्र तैनात किए गए हैं। कम्युनिटी हेल्थ सर्विस सेंटर हर जिले के कम्युनिटी हेल्थ सेंटरों और सब डिवीजनल अस्पतालों में खोले जाएंगे। यह सेंटर स्कीम के उन लाभपात्रों के लिए बनाए जा रहे हैं, जो खुद अपने सदस्य स्कीम में नहीं देख सकते हैं। स्कीम के शुरू होने के बाद लाभपात्री इन सेंटर्स पर जाता है तो उसे 30 रुपए देने होंगे। अगर लाभपात्री स्कीम मे कवर होता है तो सेंटर की तरफ से उसे गोल्डन कार्ड बनाकर दे दिया जाएगा। आयुष्मान भारत स्कीम में इलाज करवाने के लिए लाभपात्री के पास गोल्डन कार्ड का होना अनिवार्य है। अगर किसी लाभपात्री के पास वेरिफिकेशन कार्ड नहीं होगा तो 5 लाख तक का फ्री इलाज नहीं हो पाएगा।

भगत पूर्ण सिंह स्कीम का डिपार्टमेंट ही संभालेगा कार्य

आयुष्मान सेहत बीमा योजना का काम भगत पूर्ण सिंह स्कीम का डिपार्टमेंट ही करेगा। स्टेट हेल्थ एजेंसी की तरफ से जिले के हर सिविल अस्पताल में आयुष्मान भारत सरबत सेहत बीमा योजना स्कीम के लिए एक डिस्ट्रिक्ट कोआर्डिनेटर और दो थर्ड पार्टी एडमिनिस्ट्रेटर (टीपीए) लगाए जाएंगे। राज्य में भगतपूर्ण सिंह योजना के कुल 28 लाख के करीब लाभपात्रि है और बठिंडा में 24 हजार लाभपात्री हैं। राज्य में 2011 में हुए सर्वे के अनुसार कुल 43 लाख 16 हजार परिवार और बठिंडा जिले में करीब 3 लाख 20 हजार परिवार को आयुष्मान सरबत सेहत बीमा योजना में शामिल किया गया है। डिप्टी मेडिकल कमिश्नर डॉ. एसएस रोमाणा का कहना है कि 1 अगस्त से सिविल अस्पताल के ओपीडी में आयुष्मान सेहत बीमा योजना के कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। उन्होंने बताया कि मंगलवार को योजना शुरू करने के बारे में हेल्थ सेक्रेटरी से वीसी द्वारा मीटिंग भी की गई। अभी तक 19 अस्पताल पैनल में शामिल किए गए हैं।

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना