--Advertisement--

रूई निर्यात 20 लाख गांठ घटने के कयास, 3.20 करोड़ गांठ होगा उत्पादन

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 03:20 AM IST

Bhatinda News - भूपेंद्र शर्मा पराशर | जैतों पंजाब हरियाणा व राजस्थान राज्य में शनिवार तक करीब 38. 54 लाख गांठ रूई आमद होने की खबर...

Bathinda News - cotton export will be estimated to fall to 20 lakh bales 320 million bales will be produced
भूपेंद्र शर्मा पराशर | जैतों

पंजाब हरियाणा व राजस्थान राज्य में शनिवार तक करीब 38. 54 लाख गांठ रूई आमद होने की खबर है। उत्तरी राज्यों में आई अब तक कुल 38.54 लाख गांठोंं में से 5,20,500 गांठ पंजाब से, 15.50 लाख गांठ हरियाणा, श्रीगंगानगर सर्कल 8,35,500 गांठ तथा लोअर राजस्थान भीलवाड़ा क्षेत्र समेत 9.48 लाख गांठ शामिल है। आजकल उत्तरी राज्यों की मंडियों में करीब 25000 से 27,000 गाठोें की आमद चल रही है। देश में कपास उत्पादन बीते वर्ष की तुलना में काफी कम रहने के कयास मार्केट में आ रहे हैं, पर रूई भाव में तेजी का उछाल नहीं आने से अब स्टाकिस्टों केे चेहरे पर मायूसी नजर आने लगी है। बीते कई दिनों से रूई की चाल गिरावट की तरफ ही चल रही है। शनिवार पंजाब रूई भाव मुक्तसर 436₹5 रुपए मन, बठिंडा मलोट व बुढलाडा 4410 से 4415 रुपए मन व अबोहर 4445 रुपए मन, हरियाणा स्थित आदमपुर,भट्टू, भुन्ना 4400 रुपए मन, सिरसा, ऐलनाबाद 436₹5 मन, जींद, भिवानी, उचाना, रेवाड़ी 4450 से 4455 रुपए मन भाव से मार्केट खुली। कताई मिलों का मन मंदी में होने से रूई कारोबार बहुत कम रहा। इंडियन कॉटन एसोसिएशन लिमिटेड के डायरेक्टर व बसंत लाल बनारसी दास बठिंडा के चीफ मैनेजर व सीपीओ विजय बंसल ने रविवार को भास्कर को बताया कि उन्हें लगता है कि इस बार कपास उत्पादन 3.20 करोड़ गांठ ही रहेगा। अभी तक देश में करीब 1.30 करोड़ गांठ रूई मंडी में आई है। चालू सीजन में 15 लाख गांठ कपास आयात होगी जिसमें 7 लाख गांठ हो चुकी है। इस साल निर्यात 50 लाख गांठ होने के कयास लग रहे हैं, जोकि पिछले साल 70 लाख गांठ था। रूई मार्केट में मंदी की धारणा बनी हुई है। तेजड़ियों को लगता है कि रूई भाव जल्दी 4300 से 4370 रुपए प्रति मन बन सकते हैं। बाजार जानकारों की बात माने तो रूई मार्केट में बहुत कम ग्राहकी है, जिसकी वजह है धागे की लिफ्टिंग कमजोर होना। कताई मिलों की मुख्य कमाई धागे से ही होती है। मिलों को कई-कई हफ्ते धागा विदेशों में उधार बेचना पड़ रहा है, जबकि मिलें रूई गांठों पर ब्याज देती हैं। माना जाता है कि धागे की लिफ्टिंग में तेजी आने पर भाव भड़क सकते हैं।

सूत

बाजार

X
Bathinda News - cotton export will be estimated to fall to 20 lakh bales 320 million bales will be produced
Astrology

Recommended

Click to listen..