बेअदबी मामला / जिला सेशन जज ने रद्द की बलजीत सिंह सिद्धू की अंतरित जमानत की याचिका

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2019, 08:05 PM IST



Faridkot Court dismissed former Kotkapura dsp baljit singh bail plea
X
Faridkot Court dismissed former Kotkapura dsp baljit singh bail plea

  • एसआईटी का आरोप-कोटकपूरा का डीएसपी रहते बनती कार्रवाई नहीं की थी सिद्धू ने
  • जमानत के लिए जा सकते हैं हाईकोर्ट के द्वार, कई अधिकारियों को पहले ही मिल चुकी जमानत
  • तत्कालीन विधायक मनतार सिंह बराड़ की जमानत याचिका पर भी हाईकोर्ट में चल रही है सुनवाई

फरीदकोट. गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी से जुड़े मामले में फिरोजपुर के एसपी बलजीत सिंह सिद्ध् की अंतरिम जमानत याचिका रद्द हो गई है। थाना सिटी में अगस्त 2018 में दर्ज मामले में नामजद फरीदकोट जिला एवं सेशन जज की जमानत से जमानत याचिका खारिज होने के बाद सिद्धू अब उच्च न्यायालय जा सकते हैं।

 

दरअसल अक्तूबर 2015 में घटना के समय एसपी बलजीत सिंह कोटकपूरा में डीएसपी के पद पर तैनात थे। एसआईटी का आरोप था कि उन्होंने घटना को लेकर कानून अनुसार बनती कार्रवाई नहीं की व जान-बूझकर पुलिस अधिकारियों के बचाव के लिए तथ्यों से भी छेड़छाड़ का प्रयास किया। इसी तथ्य के आधार पर एसआईटी ने अपनी चार्जशीट में उन्हें भी इस मामले में नामजद किया था।

 

इस नामजदगी के चलते गिरफ्तारी से बचने के लिए फिलहाल फिरोजपुर में कार्यरत एसपी बलजीत सिंह ने करीब एक सप्ताह पहले फरीदकोट के जिला सेशन जज की अदालत में जमानत याचिका दायर की थी। बुधवार तक तीन बार में हुई सुनवाई के बाद अदालत ने अपना निर्णय सुरक्षित रख लिया था व गुरुवार को अदालत ने जमानत याचिका रद्द कर दी। 

 

अब तक इस मामले में एसआईटी पांच पुलिस अधिकारियों व कोटकपूरा के तत्कालीन विधायक मनतार सिंह बराड़ को नामजद कर चुकी है। हालांकि इनमें से नामजद पुलिस अधिकारी आईजी परमराज सिंह उमरानंगल, पूर्व एसएसपी चरणजीत शर्मा को नियमित जमानत, डीसीपी लुधियाना परमजीत सिंह पन्नू को अंतरिम जमानत मिलने से राहत मिल चुकी है, बलजीत सिंह सिद्धू व तत्कालीन थाना सिटी प्रभारी कोटकपूरा गुरदीप सिंह पंधेर की जमानत याचिका अदालत से निरस्त कर दी गई। इसके अलावा मनतार सिंह बराड़ को उच्च न्यायालय से अंतरिम राहत मिलने के बाद उनके मामले की सुनवाई उच्च न्यायालय में चल रही है।

COMMENT