पंजाब / सरबत बीमा योजना पर राजनीति, राजीव गांधी के जन्मदिन से जोड़ा विपक्ष ने



पूर्व डिप्टी सीएम एवं सांसद सुखबीर बादल। पूर्व डिप्टी सीएम एवं सांसद सुखबीर बादल।
former Deputy CM Sukhbir Badal connected Sarbat Bima Yojna with Rajiv Gandhi Birthday
X
पूर्व डिप्टी सीएम एवं सांसद सुखबीर बादल।पूर्व डिप्टी सीएम एवं सांसद सुखबीर बादल।
former Deputy CM Sukhbir Badal connected Sarbat Bima Yojna with Rajiv Gandhi Birthday

  • पंजाब सरकार 20 अगस्त को शुरू कर रही है सरबत बीमा योजना
  • पूर्व सीएम सुखबीर बादल और भाजपा प्रदेश प्रधान श्वेत मलिक ने उठाए सवाल

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 03:53 PM IST

फिरोजपुर. पंजाब में एक बार फिर 1984 के सिख कत्ल-ए-आम का मसला गर्मा गया है। दरअसल 20 अगस्त को प्रदेश की सरकार की तरफ से सरबत बीमा योजना की शुरुआत की जा रही है। इसको लेकर उस वक्त माहौल खराब हो गया, जब पूर्व डिप्टी सीएम एवं मौजूदा सांसद सुखबीर बादल ने इसे पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के जन्मदिवस के साथ जोड़ दिया।

 

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के अध्यक्ष सुखबीर बादल का कहना है कि कैप्‍टन अमरिंदर सिंह सरकार राजीव गांधी का जन्मदिन सरकारी तौर पर मनाने जा रही है। इससे शर्मनाक बात कुछ और नहीं हो सकती। 1984 में राजीव गांधी के कहने पर ही हजारों सिखों का कत्ल-ए-आम किया गया था। सुखबीर ने इससे संबंधित एक वीडियो भी अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है। वहीं, सरकारी स्तर पर राजीव गांधी का जन्मदिन मनाने को लेकर कोई अाधिकारिक घोषणा नहीं की गई है।

 

 

दूसरी तरफ भाजपा के प्रदेश प्रधान श्वेत मलिक का कहना है कि आखिर मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को इस बात का जवाब देना चाहिए कि उन्होंने केंद्र सरकार की इस योजना से पंजाब के लोगों को एक वर्ष तक क्यों महरूम रखा। उन्होंने कहा कि इस दौरान स्वास्थ्य बीमा का लाभ न उठा पाने के लिए आखिर कौन जिम्मेदार है, जबकि देश के अन्य हिस्सों में लोग इस योजना का लाभ उठा रहे हैं।

 

4500 पत्रकारों को भी मिलेगा योजना का लाभ

सरबत सेहत बीमा योजना में पत्रकारों को भी कवर करने का फैसला किया है। इस स्कीम के अधीन लगभग 4500 पत्रकारों को फायदा मिलेगा। गरीबी रेखा से नीचे वाले परिवारों को सेहत बीमा देने के लिए शुरू की गई प्रधानमंत्री सेहत बीमा योजना का दायरा बढ़ाकर राज्य सरकार ने सरबत सेहत बीमा योजना स्कीम के अंतर्गत 42.5 लाख परिवारों को कवर किया है, यह 1 जुलाई 2019 से अमल में लाई गई है।

 

राज्य सरकार की ओर से मान्यता प्राप्त व पीला कार्ड धारक पत्रकार इस स्कीम का फायदा लेने के लिए योग्य होंगे। इस स्कीम के अंतर्गत प्रीमियम का सारा खर्च राज्य सरकार वहन करेगी। इस स्कीम के अंतर्गत पंजाब में करीब 400 प्राइवेट अस्पताल सूचीबद्ध किए गए हैं। इस स्कीम के अधीन लाभार्थियों का इलाज जिला अस्पतालों और बड़े मल्टी स्पेशलिटी अस्पतालों में किया जाएगा। जहां ऑपरेशन, सर्जरी आदि की सुविधा मौजूद होती है। सभी सरकारी अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भी इलाज के लिए सूचीबद्ध हैं। राज्य सरकार की ओर से प्रति परिवार प्रति वर्ष पांच लाख रुपए का सेहत बीमा कवर करने के लिए कुछ महीने पहले एक फैसला लेकर प्रधान मंत्री सेहत बीमा योजना का दायरा बढ़ाया गया था।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना