हररायपुर का सरकारी अस्पताल 17 और खेतीबाड़ी भवन 10 वर्षों से लावारिस

Bathinda News - गोनियाना मंडी के नजदीक स्थित गांव हररायपुर वासी लंबे समय से सेहत सुविधाओं से वंचित चले आ रहे हैं। पंजाब सरकार की...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 07:41 AM IST
Bathinda News - government hospital of hararaipur 17 and khetibari bhawan unclaimed since 10 years
गोनियाना मंडी के नजदीक स्थित गांव हररायपुर वासी लंबे समय से सेहत सुविधाओं से वंचित चले आ रहे हैं। पंजाब सरकार की ओर से समूह गांव वासियों की सुविधा के लिए सरकारी अस्पताल और खेती बाडी विकास भवन का निर्माण किया था। लेकिन देखरेख के अभाव के कारण दोनों विभागों की इमारत खस्ता हो गई है और वर्तमान में दोनों विभागों की इमारत में सरकारी कर्मचारी नहीं बल्कि प्रवासी मजदूरों ने अपना आशियाना बना लिया है। गांववासी जसपाल सिंह, अमरीक सिंह, चूड सिंह आदि ने बताया कि बताया कि पंजाब सरकार की ओर से करीब 17 वर्ष पूर्व सेहत केंद्र और 10 वर्ष पहले खेतीबाड़ी विकास कार्यालय के लिए इमारत का निर्माण किया गया था। उस समय से लेकर आज तक सरकार ने अस्पताल में किसी डाक्टर व अन्य की कोई नियुक्ति नहीं की व न ही दवाइयों का प्रबंध किया गया। गांववासी गत 17 वर्ष से इस अस्पताल में कोई सुविधा नहीं ले सके। अब बात यह है कि इस इमारत के दरवाजे व खिड़कियां गायब हो चुकी हैं और खंडहर बनी इस इमारत को प्रवासी मजदूरों ने अपना आशियाना बना चुके हैं। प्रवासी मजदूर पिछले कई वर्षों से परिवार समेत अस्पताल व खेतीबाड़ी भवन में रह रहे हैं।

गांववासी जसपाल सिंह ने बताया कि अस्पताल व खेतीबाड़ी भवन निर्माण के बाद विभाग की ओर से बिजली का भी प्रबंध करवाया गया था। परंतु दोनों विभागों की इमारत उपयोग न होने के कारण कुछ दिनों में बिजली की सप्लाई काट दी गई। लेकिन वर्तमान समय में उक्त दोनों इमारत में रह रहे प्रवासी मजदूर अपने सीधे तौर पर ट्रांसफार्मर से बिजली की कुंडी हुई है। उन्होंने बताया कि दोनों सरकारी इमारतों में सरपंच के कहने पर मजदूर परिवार समेत रह रहे हैं। इस संबंध में प्रवासी मजदूर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं था।

इस संबंधी सिविल अस्पताल गोनियाना के वरिष्ठ मेडिकल अधिकारी राकेश गोयल का कहना था कि यह इमारत जिला परिषद के अधीन हो सकती है, सेहत विभाग की नहीं है। उन्होंने कहा कि सेहत विभाग की ओर से गांव के मध्य सरकारी डिस्पेंसरी चलाई जा रही है, जिसमें जरूरत अनुसार दवाइयों का प्रबंध है। करीब 15 वर्षों से डाॅक्टरों की पोस्ट जरूर खाली है।

हररायपुर के खेतीबाड़ी विभाग की इमारत पर प्रवासी परिवारों का कब्जा।

X
Bathinda News - government hospital of hararaipur 17 and khetibari bhawan unclaimed since 10 years
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना