बरनाला / सरकार जल्द बंद करेगी काउ सेस : बलवीर सिद्धू



पशुपालन मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू पशुपालन मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू
X
पशुपालन मंत्री बलवीर सिंह सिद्धूपशुपालन मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू

  • ऐसा सीमन तैयार करेगी जिससे सिर्फ गाय ही पैदा हों
  • कहा, लावारिस पशुओं की संभाल सरकार नहीं जिला प्रशासन अपने स्तर पर करेगा

Dainik Bhaskar

Jan 12, 2019, 02:51 AM IST

बरनाला. काउ सेस इकट्ठा कर सरकारी गौशाला में बेसहारा पशुओं का रख-रखाव करने की अकाली सरकार की नीति को कांग्रेस सरकार बदलने जा रही है। न तो सरकार काउ सेस वसूलेगी और न ही सड़कों पर घूम रहे बेसहारा पशुओं का कोई प्रबंध करेगी। जिला प्रशासन, लोकल बॉडी या समाजसेवी संगठनों को अपने स्तर पर ही इसका इंतजाम करना होगा।  

 

जिला परिषद व पंचायत मेंबरों के शपथ ग्रहण समारोह में मुख्य मेहमान के तौर पर पहुंचे पशुपालन मंत्री बलवीर सिंह सिद्धू ने साफ किया कि अकाली सरकार की काउ सेेस नीति को बदला जाएगा। सरकार पशुपालन विभाग द्वारा एक ऐसी तकनीक विकसित करेगी जिससे किसानों को आमदन देने वाली गाय ही पैदा होगी। ऐसे में बेसहारा पशु ही नहीं रहेंगे तो काउ सेस लगाने का कोई अर्थ नहीं है।  

 

अकाली-भाजपा सरकार ने शुरू किया था काउ सेस :
साल 2016 में तत्कालीन प्रदेश की अकाली-भाजपा सरकार ने सड़कों पर घूम रहे बेसहारा पशुओं से लोगों को निजात दिलाने के लिए काउ सेेस नीति बनाई थी। जिसमें सरकार द्वारा सीमेंट की बोरी पर 5 रुपए, पेट्रोल पर एक पैसा प्रति लीटर, शराब की बोतल पर 10 रुपए, बीयर की बोतल पर 5 रुपए, मैरिज पैलेस प्रोग्राम पर 1000 रुपए काउ सेस लगाया गया था।

 

बरनाला जिले में एक हजार से अधिक बेसहारा पशु :
बरनाला जिले में एक हजार से अधिक पशु सड़कों पर घूम रहे हैं। साथ ही सरकारी गौशाला मनाल में दो शेडों में क्षमता से अधिक पशु रह रहे हैं। ऐसे में लोगों को हर रोज आने वाली मुश्किल से किस तरह निजात मिलेगी फिलहाल सरकार के पास इसका जबाव नहीं है। 

COMMENT