हादसा / सड़कों पर भरा पानी, हवलदार को रास्ते में हार्टअटैक एंबुलेंस नहीं पहुंची, रेहड़ी पर अस्पताल लेकर भागे, मौत



Havildar died in heart attack
X
Havildar died in heart attack

  • गणेश पूजन कर रहे सोनू और चिट्‌टी ने लोगों की मदद से पहुंचाया अस्पताल
  • चश्मदीद बोले- इस मौत के लिए नगर निगम जिम्मेदार
  • 8 घंटे में 195 एमएम बारिश

Dainik Bhaskar

Sep 06, 2019, 11:19 AM IST

पटियाला. वीरवार अल सुबह शुरू हुई बारिश ने रिकार्ड कायम किया। माैसम विभाग के मुताबिक इस माॅनसून के सीजन में एक दिन में (195 एमएम, यानी 7 इंच से ज्यादा) बारिश रिकाॅर्ड की गई। बारिश के दौारान राघोमाजरा सब्जी मंडी में 3 से 4 फुट पानी भर गया।

 

मंडी में सब्जी लेने आए हवलदार दविंदर सिंह हार्ट अटैक से मंडी में भरे पानी में गिर गए। आस पास खड़े रेहड़ी वालों ने उन्हें उठाया, तब उनकी नब्ज चल रही थी। भीड़ से किसी ने एंबुलेंस को फोन किया। जब एंबुलेंस नहीं पहुंची तो गणेश पूजन करवा रहे सोनू और चिट्टी दो रेहड़ी वालों के साथ मिलकर दविंदर को रेहड़ी लिटाया और पौना किलोमीटर दूर निजी अस्पताल ले गए।

 

हालत गंभीर देख डॉक्टर ने देविंदर को रेफर कर दिया। जब कोई साधन नहीं मिला ताे युवकों ने डॉक्टर की मदद से एक कार को रोका और दविंदर को अस्पताल पहुंचाया। वहां डॉक्टरों ने उसे डेड डिक्लेयर कर दिया।

 

परिजन उसे सेकेंड ओपीनियन के लिए राजिंदरा ले गए, पर डॉक्टरों ने वहां भी मृत करार दिया। पोस्टमार्टम में दविंदर का शुगर लेवल बढ़ने के साथ-साथ हार्ट ब्लॉकेज की बात सामने आई है।

 

चश्मदीदों ने दविंदर की मौत का जिम्मेदार नगर निगम को बताया है

कांग्रेसी नेता विनोद मित्तल और एसएस चड्डा ने कहा कि वो इस इलाकों में दशकों से कारोबार कर रहे हैं। पहली बार इस इलाके में कुछ घंटों की बरसात से 3 से 4 फुट पानी खड़ा हो गया है। जब दविंदर सब्जी मंडी से सब्जी लेकर निकले तो वो शायद शुगर बढ़ने या हार्ट में दिक्कत होने से बैचेनी के बाद नीचे गिरे।

 

वो खुद 3 से 4 फुट पानी में से निकल रहे थे, इसलिए जब गिरे तो उनका चेहरा पानी में डूब गया। हालांकि कुछ लोगों समेत पीछे आ रहे उनके एक दोस्त ने उन्हें उठाया, लेकिन वो पूरी तरह बेसुध हो चुके थे।

 

सब्जी मंडी के बाहर गणेश पूजन कर रहे दो युवकों ने बताया कि जब उन्होंने दविंदर को पानी में गिरा देखा तो वो भाग कर उसके पास गए। जब दविंदर को पानी में से बाहर निकाला तो एक व्यक्ति ने उसकी तुरंत नब्ज टटोली। उस समय नब्ज चल रही थी, इसलिए आनन फानन में उसे बचाने के लिए तुरंत रेहड़ी पर डाल कर उसे पास के प्राइवेट हॉस्पिटल पहुंचाया गया।

 

पूर्व मेयर अजीतपाल कोहली इन हालातों के पीछे कमजोर प्लानिंग को बड़ा कारण बता रहे हैं। नगर निगम ने शहर में इंटरलॉकिंग टायलें तो लगा दी, सड़कों की न सही तरीके से लेवलिंग की अौर न बरसाती पानी की निकासी का उचित प्रबंध किया। जब गली मोहल्लों में निकासी का प्रबंध नहीं हैं तो बरसाती पानी निकलेगा कहां से।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना