• Hindi News
  • Punjab
  • Bathinda
  • Bathinda News if the rain harvesting system is not installed in homes corporation will seize rs50 thousand

घरों में इंस्टाल नहीं किया रेन हार्वेस्टिंग सिस्टम तो ‌Rs.50 हजार जब्त करेगा निगम

Bathinda News - बठिंडा में लगातार गिर रहे भूजल स्तर को ऊंचा उठाने को अब शहर में नए बनने वाली बड़ी रिहायशी व कमर्शियल बिल्डिंगों में...

Bhaskar News Network

Oct 13, 2019, 07:36 AM IST
Bathinda News - if the rain harvesting system is not installed in homes corporation will seize rs50 thousand
बठिंडा में लगातार गिर रहे भूजल स्तर को ऊंचा उठाने को अब शहर में नए बनने वाली बड़ी रिहायशी व कमर्शियल बिल्डिंगों में रेन हार्वेस्टिंग सिस्टम इंस्टाल करना अनिवार्य होगा। लुधियाना सिटी की तर्ज पर निगम नक्शे पास करवाने के समय ही जमीन मालिक से 50 हजार की रिजर्व फीस चार्ज करेगा। बिल्डिंग के निर्माण के बाद रेन हार्वेस्टिंग सिस्टम की बिल्डिंग इंस्पेक्टर द्वारा जांच व रिपोर्ट के बाद निगम यह धनराशि वापस करेगा, लेकिन रेन हार्वेस्टिंग सिस्टम नहीं लगवाने पर यह धनराशि जब्त करने का प्रावधान होगा जिसे जल्द हाउस से मंजूरी लेकर यह नियम बनाया जाएगा। बठिंडा आर्किटेक्ट्स एंड इंजीनियर्स एसोसिएशन के अनुसार निगम को शहर में इस नियम को अनिवार्य बनाना चाहिए। वहीं शहर में एक मानसून में 120 करोड़ लीटर साफ जल का संचयन संभव है। शहर की 3.50 लाख की आबादी में प्रति व्यक्ति पीने के 2 लीटर पानी के हिसाब से 1714 दिनाें तक यह काेटा पर्याप्त है जबकि 20 लीटर प्रतिदिन एक व्यक्ति को स्नान के लिए यह पानी 170 दिनों तक चल सकता है। बठिंडा के तीन ब्लाक बठिंडा, मौड़ व संगत में पानी का स्तर नीचे जा रहा है। केंद्र सरकार जल संचयन में इन गांवों में बारिश के पानी को सहेजने के लिए नए तालाब खुदवाने के साथ पुराने तलाब साफ करवा पौधारोपण पर जोर दे रही है ताकि बारिश के पानी को स्टोर कर इसे जमीन में रिचार्ज किया जा सके। वहीं शहर में भी भूजल के करीब 70 से 90 फीट नीचे जाने के बाद निगम अब इस नियम को अनिवार्य करने का प्रावधान कर रहा है।

निगम के आंकड़ों के अनुसार बठिंडा में मौजूद 70 हजार बिल्डिंगों में 56 हजार रिहायशी घरों में 36 हजार छोटे घर निकाल दिए जाएं व बचते मात्र 20 हजार रिहायशी व कमर्शियल बिल्डिंगों का कवर एरिया अगर 2 हजार स्कवेयर फीट भी मान लिया जाए तो बठिंडा में 200 से 300 एमएम प्रतिवर्ष बारिश से एक छत आसानी से 60 से 65 हजार लीटर बारिश के जल काे जमीन में रिचार्ज कर सकती है जो प्रतिवर्ष 120 करोड़ लीटर बनता है। शहर की 3.50 लाख की आबादी के हिसाब से बचत का यह पानी प्रति व्यक्ति 3428 लीटर बनता है जाे 2 लीटर पीने के लिए 1714 दिन उपयाेग हाे सकता है जबकि एक व्यक्ति के स्नान हेतु 20 लीटर पानी 171 दिनों तक पर्याप्त है।

फायदा : प्रतिवर्ष 120 करोड़ लीटर पानी बचाया जा सकता है

मात्र 2% घरों में सिस्टम

बठिंडा आर्किटेक्ट्स एंड इंजीनियर्स एसोसिएशन के प्रधान प्रदीप मित्तल कहते हैं कि मात्र एक से दो फीसदी लोग ही नए घरों में रेन हार्वेस्टिंग सिस्टम इंस्टाल करवाते हैं। मकान मालिक की सहमति के बिना हम कुछ नहीं कर सकते।

नियम जल्द लागू होगा



X
Bathinda News - if the rain harvesting system is not installed in homes corporation will seize rs50 thousand
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना