औरतों को जागरूक करने की बजाय पुरुषों को महिला उत्पीड़न से रोकना जरूरी : डॉ. निष्ठा

Bathinda News - पंजाबी यूनिवर्सिटी रीजनल सेंटर की ओर से बुधवार को टीचर्स होम में लीगल अवेयरनेस प्रोग्राम इन वुमेंस राइट्स विषय...

Jan 16, 2020, 07:26 AM IST
Bathinda News - it is important to stop men from harassing women instead of making women aware dr nishtha
पंजाबी यूनिवर्सिटी रीजनल सेंटर की ओर से बुधवार को टीचर्स होम में लीगल अवेयरनेस प्रोग्राम इन वुमेंस राइट्स विषय पर विशेष सेमिनार का आयोजन किया गया। रीजनल सेंटर के लॉ डिपार्टमेंट की ओर से नेशनल कमीशन फॉर वुमेन नई दिल्ली के सहयोग से कराए औरतों के अधिकार संबंधी कानूनी जागरूकता प्रोग्राम का उद्घाटन मुख्य मेहमान हिमाचल प्रदेश नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के वीसी डॉ. निष्ठा अग्रवाल ने किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि महिलाओं के अधिकारों की सुरक्षा करने लिए उन्हें जागरूक करने की बजाए पुरुषों को समझाकर उन्हें महिला उत्पीड़न के लिए रोका जाए। सामाजिक परंपराओं व जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए महिलाएं अपनी हद में रहती हैं जबकि पुरुष ही अपनी हदें लांघते हैं। मुख्य वक्ता पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ डॉ. रतन सिंह ने कहा कि महिलाओं को हर तरह से समानता का अधिकार मिले, वहीं महिलाओं को भी अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होना होगा। टेक्निकल सेशन में सेंट्रल यूनिवर्सिटी आफ पंजाब के लॉ विभाग के डॉ. तरूण अरोड़ा ने मौजूदा हालातों में औरतों को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक होने का आह्वान किया। रीजनल सेंटर के डीन प्रो. वीरेंद्र कौशिक ने संबोधित करते हुए कानूनी विशेषज्ञ के तौर पर औरतों के अधिकारों, विशेषकर विवाह और तलाक संबंधी उनके खिलाफ हो रहे अपराधों की रोकथाम संबंधी कानूनी पक्ष पर प्रकाश डाला गया। पंजाबी यूनिवर्सिटी के लॉ विभाग के इंचार्ज जसमीत कौर ढिल्लों ने मेहमानों का स्वागत किया। इस अवसर पर रीजनल सेंटर के लॉ डिपार्टमेंट के 100 से ज्यादा विद्यार्थियों ने भाग लिया।

X
Bathinda News - it is important to stop men from harassing women instead of making women aware dr nishtha
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना