वारदात / दो दोस्तों संग चिट्टे का नशा कर रहे पति को राेकने पर पत्नी को मौत के घाट उतारा, अरेस्ट



कर्मजीत कौर कर्मजीत कौर
मां की मौत के बाद नानी गुरदीप कौर की गोद में बिलखते बच्चे। मां की मौत के बाद नानी गुरदीप कौर की गोद में बिलखते बच्चे।
X
कर्मजीत कौरकर्मजीत कौर
मां की मौत के बाद नानी गुरदीप कौर की गोद में बिलखते बच्चे।मां की मौत के बाद नानी गुरदीप कौर की गोद में बिलखते बच्चे।

  • महिला अपने तीन बच्चों का हवाला देकर नशा न करने की अपील कर रही थी
  • पत्नी को जमीन पर गिरा छोड़ घर से निकले जगसीर को घेर कर लाईं महिलांए

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 07:25 AM IST

फिरोजपुर. गांव वजीदपुर में सोमवार रात 2 दोस्तों संग घर में नशा कर रहे पति को पत्नी ने नशा करने से रोका तो पति ने उसे मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने तीन लोगों पर केस दर्ज किया है अाैर पति जगसीर सिंह उर्फ जग्गा को अरेस्ट कर लिया है। दरअसल, सोमवार रात जग्गा सुखदेव सिंह व घुग्गी के साथ नशा ले रहा था। कर्मजीत कौर (25) ने बच्चों का वास्ता दे नशा करने से रोका तो मारपीट की और जोरदार धक्का दे मारा। धक्का लगने से कर्मजीत दीवार से टकरा गई और उसकी मौके पर मौत हो गई। जगसीर पत्नी काे नीचे गिरा छाेड़ आरोपी चला गया। ग्रामीण महिला को अस्पताल ले गए जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया।

 

तीन बच्चों की मां थी कर्मजीत कौर :
जिला फरीदकोट के गांव पिपली निवासी कर्मजीत कौर की करीब 5 साले पहले जगसीर सिंह उर्फ जग्गा से शादी हुई थी। उनके तीन बच्चे हैं जिनमें एक बड़ा बेटा जोकि करीब 4 साल का है व दूसरा करीब 5 माह का है। वहीं वह अपने पीछे करीब 2 वर्षीय बेटी को भी छोड़ गई है। जगसीर उर्फ जग्गा ईंट भट्ठे पर मजदूरी करता है। वह करीब 5 वर्षों से चिट्टे का नशा कर रहा है। आस-पास के लोगों ने बताया कि नशे की वजह से घर में क्लेश रहता था। इसे लेकर कई बार पति-पत्नी में लड़ाई-झगड़ा भी हुआ जिसके बाद मामला सुलझ जाता था मगर नशे की चपेट में अाकर जगसीर ने बीती रात पत्नी की जीवन लीला समाप्त कर दी। 
 

नशे बेचने वालों पर कार्रवाई करे पुलिस :
कर्मजीत कौर के चाचा सुखविंद्र सिंह ने बताया कि कर्मजीत के पिता की पहले ही मृत्यु हो चुकी है।  सोमवार की रात करीब 9 बजे उन्हें फोन पर सूचना मिली थी कि कर्मजीत की मौत हो गई है जिसके बाद वे मंगलवार सुबह यह पहुंचे तो कारण पता चला कि जगसीर ने नशा करके उसकी हत्या कर दी है।

 

चिट्टे वाले गांव के नाम से जाना जाता वजीदपुर :
रवि कुमार ने कहा कि गांव वजीदपुर जहां दसवें गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह जी का आगमन हुआ अाैर गांव में गुरुद्वारा वजीदपुर साहिब बनाया गया। लेकिन आज इसको चिट्टे वाला कहने लगे हैं। इससे बड़ी शर्म की बात नहीं हो सकती कि हम अपने गुरुओं के नाम से जाने-जाने वाले गांव पर चिट्टे जैसे नशे का कलंक लगा रहे हैं।  
 

आप रोकें नहीं माने तो पुलिस करेगी कार्रवाई :
कर्मजीत की माैत के बाद ग्रामीणाें में गुस्सा पाया जा रहा है। इसी गुस्से के चलते मंगलवार सुबह ग्रामीणों ने एकत्रित होकर बैठक की। सरपंच ने कहा कि अगर किसी का बेटा या रिश्तेदार नशे बेचने के काम में लगा है तो वह बता दे वर्ना कार्रवाई होगी। पंचायत में डीएसपी सतनाम सिंह ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि अगर कोई नशा करता है तो उन्हें बताएं उसका इलाज करवाया जाएगा व अगर कोई नशा बेचते है तो उसे एक बार आप रोकें या गांव छोड़ने की चेतावनी दें उसके बाद भी अगर वह नहीं मानता तो उन्हें सूचित करें पुलिस सख्त कार्रवाई करेगी।  
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना