संगरूर / चाइना डोर के खिलाफ जनांदोलन, पुलिस के भी तेवर कड़े

संगरूर में बच्चों के लिए पतंग की खरीदारी करतीं महिलाएं। संगरूर में बच्चों के लिए पतंग की खरीदारी करतीं महिलाएं।
X
संगरूर में बच्चों के लिए पतंग की खरीदारी करतीं महिलाएं।संगरूर में बच्चों के लिए पतंग की खरीदारी करतीं महिलाएं।

  • चार सामाजिक संगठनों के बाद स्कूल भी लड़ाई में कूदा
  • विक्रेताओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 308 में पर्चा करने पर विचार

Dainik Bhaskar

Jan 15, 2020, 04:17 AM IST

बरनाला/संगरूर. गंभीर नुकसान को देखते हुए प्लास्टिक डोर यानी चाइना डोर के खिलाफ जनांदोलन आकार लेने लगा है। बरनाला में तीन सामाजिक संगठनों के बाद एक स्कूल भी इस लड़ाई में कूद पड़ा है। एक संगठन संगरूर में सामने आया है। पुलिस ने भी अपने तेवर कड़े कर लिए हैं। वह चाइना डोर विक्रेताओं के खिलाफ आईपीसी की धारा 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास) के अंतर्गत मामला दर्ज करने पर विचार कर रही है।


चाइना डोर के खिलाफ अभियान में संगरूर में समाजसेवी संस्था शहीद भगत सिंह एंटी ड्रग फाउंडेशन के पंजाब प्रधान सुखबीर सिंह सुखी और जिला प्रधान प्रवीण पोहाल ने कहा, वे कई दिनों से बच्चों के हाथ में प्लास्टिक डोर देख रहे हैं। पिछले वर्षों में शहर में कई हादसे हो चुके हैं। इसके बावजूद सख्ती नहीं की जा रही है। ऐसे में फाउंडेशन बुधवार को डीसी को ज्ञापन देंगे। सुखी ने इस जानलेवा डोर के कारोबारियों पर गैरइरादतन हत्या के प्रयास की धारा में मामला करने की वकालत की।


बरनाला में प्रोग्रेसिव सीनियर सिटीजन सोसायटी, सामाजिक समरसता मंच, सूर्यवंशी खत्री सभा जुड़ चुके हैं। सूर्यवंशी खत्री सभा के प्रधान सुखबिंदर सिंह भंडारी कहते हैं कि प्लास्टिक डोर रखने वालों के खिलाफ धारा 188 के तहत पर्चा दर्ज किया जाता है, जिसमें मौके पर ही जमानत मिल जाती है। यह धारा सीआरपीसी की धारा 144 के उल्लंघन के कारण लगाई जाती है।

धारा 144 जिला मजिस्ट्रेट कानून-व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने के लिए समय-समय पर लागू करते रहते हैं। खैर, इस डोर को विशेष कानून के तहत लाया जाए, जिसमें तीन महीने तक जमानत नहीं हो सके। संगरूर के एसएसपी डॉ. संदीप गर्ग का कहना है कि चाइना डोर के विक्रेताओं के खिलाफ धारा 308 लगाने के लिए कानूनी राय ली जा रही है। 

रामनगर बस्ती, नाभा गेट, सुनामी गेट में चाइना डोर के अड्‌डे
29 जनवरी को बसंत पंचमी है। इस दिन विशेषकर युवा जमकर पतंगबाजी करते हैं। वैसे, इससे पहले से ही पतंगबाजी शुरू हो जाती है और चाइना डोर संगरूर जिले के बाजार में सहज उपलब्ध है। पिछले चार दिनों में धूरी और अहमदगढ़ में बरामद कर इसका कारोबार करने वालों क्रमश: मनदीप कुमार व नरेश कुमार पर मामले दर्ज किए गए हैं। संगरूर में भी बिक रही है। दुकानदार इस डोर को दुकानों पर रखने के बजाय अपने ठिकानों पर छिपाकर बेच रहे हैं।

पता चला है कि शहर के कई हिस्सों में अस्थायी दुकानें खुल गई हैं। बाहरी कारोबारी भी इन दिनों यहां डेरा लगा लेते हैं। यह स्थिति तब है जब प्रशासन ने 9 मार्च 2020 तक इस डोर की बिक्री, इस्तेमाल और स्टोर पर पाबंदी लगा रखी है। सूत्रों के अनुसार, राम नगर बस्ती, नाभा गेट, सुनामी गेट और भगत सिंह चौक से चाइना डोर की डिलीवरी की जा रही है। एक गट्टू की कीमत 400 रुपए से लेकर 1200 रुपए तक वसूल की जा रही है। डोर का ऑर्डर बुक कर ग्राहक के घर डिलीवर की जाती है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना