संगरूर / जेल में लगे 2जी जैमर और कैदी नेटवर्क इस्तेमाल कर रहे 4जी

Dainik Bhaskar

Oct 14, 2018, 05:43 AM IST



सिंबोलिक इमेज सिंबोलिक इमेज
X
सिंबोलिक इमेजसिंबोलिक इमेज

  • कैदियों ने लगाया रिश्वत मांगने का आरोप, वीडियो वायरल

पुनीत गर्ग, संगरूर. संगरूर जिला जेल से शनिवार को 7 हवालातियाें ने एक वीडियो वायरल किया है। वीडियो में ये हवालाती जेल बैरक में बंद दिखाई दे रहे हैं। उनका आरोप है कि उनसे 13 दिन पहले जेल में मोबाइल पकड़ा गया था। इसके बाद से सातों कैदियों और हवालातियों को 8 फीट के बैरक में बंद कर दिया।

 

हवालातियों ने जेल सुपरिंटेंडेट समेत दूसरे कर्मचारी उनसे दो बार 35 हजार और एक बार 15 हजार रिश्वत ले चुके हैंं। अब उनसे 1 लाख रुपए की मांग की जा रही है। नहीं देने पर उनपर मामले दर्ज करने की धमकी दी जा रही है। जिन 7 व्यक्तियों ने आरोप लगाए हैं उनमें हवालाती गुरप्रीत सिंह निवासी धनौला, मनदीप सिंह उर्फ सोनी निवासी बुगरां, गुरप्यार सिंह निवासी उगराहां, गुरबेअंत सिंह छाहड़, रणजीत सिंह निवासी कोहरियां, कैदी मखन सिंह निवासी खेड़ी जट्टां और गुरविंदर सिंह निवासी तोगावाल हैं।

 

वहीं, मामले में जिला जेल सुपरिंटेंडेंट इकबाल सिंह बराड़ ने कहा कि जेल में सख्ती के कारण कुछ कैदी बौखला गए हैं। वीडियो वायरल करने वाले कत्ल, लूटपाट, नशा तस्करी के आरोपी हैं। इनमें दो आरोपी तो जेल में सजा काट रहे हैं। इन्होंने साजिश के तहत वीडियो बनाया है ताकि उनकी बदली करवाई जा सके। उनके आरोप निराधार हैं। उधर, एआईजी जेल मनजीत सिंह कालड़ा ने शनिवार को आरोपों की जांच शुरू कर दी है।

 

2जी जैमर और कैदी इस्तेमाल कर रहे 4जी नेटवर्क
पंजाब की जेलों को तकनीकी तौर पर भी अपडेट नहीं किया गया है। जो सुरक्षा पर बड़ी लापरवाही साबित हो रही है। संगरूर समेत पंजाब की अधिकतर जेलों में लगे जैमर 2जी नेटवर्क को कवर कर रहे हैं।

 

जेल कर्मचारी कैदियों की कर रहे मदद  
संगरूर जिला जेल में 19 दिनों से जेल में कैदियों और हवालातियों से 8 से अधिक मोबाइल और नशा पकड़ा जा चुका है। जेल में दाखिल होने के समय तीन बार कैदी और हवालाती की तलाशी होती है। इसके बावजूद मोबाइल और नशा जेल में पहुंच रहा है। जेल में बीड़ी के बंडल पहुंचाने के आरोप में हेड कांस्टेबल गुरचरण सिंह और हेड कांस्टेबल जरनैल सिंह डिसमिस भी हो चुके हैं। 

 

जेल कर्मचारी कैदियों की कर रहे मदद  
संगरूर जिला जेल में 19 दिनों से जेल में कैदियों और हवालातियों से 8 से अधिक मोबाइल और नशा पकड़ा जा चुका है। जेल में दाखिल होने के समय तीन बार कैदी और हवालाती की तलाशी होती है। इसके बावजूद मोबाइल और नशा जेल में पहुंच रहा है। जेल में बीड़ी के बंडल पहुंचाने के आरोप में हेड कांस्टेबल गुरचरण सिंह और हेड कांस्टेबल जरनैल सिंह डिसमिस भी हो चुके हैं। 

 

 

जैमर अपडेट करने के लिए डिफेंस और होम मिनस्ट्री से चल रही बात
 

वीडियो की सच्चाई जानने के लिए एआईजी जेल की ड्यूटी लगाई गई है। जिस पर सख्त एक्शन भी लिया जाएगा। जेलों में जैमर को अपडेट करने के लिए डिफेंस और होम मिनिस्ट्री से बात की चल रही है। 4जी के बाद 5जी नेटवर्क भी आएगा। उसमें जैमर को अपडेट करने का प्रावधान भी होगा। पहले अपडेड का प्रोसेस शुरू किया था जोकि कुछ कारणों से फेल हो गया था। अब दोबारा से प्रोसेस शुरू कर दिया गया है। -सुखजिंदर सिंह रंधावा, जेल मंत्री, पंजाब।

 

COMMENT