फिरोजपुर / शिअद की रैली, 10 हजार के लिए शेड से बाहर निकाला 18 लाख का गेहूं, भीगा



SAD rally in Ferozepur
X
SAD rally in Ferozepur

  • छावनी अनाज मंडी में लापरवाही की हद
  • मंडी ने 10 हजार ली थी फीस, 2 हजार बोरियां बाहर निकलवा दीं

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 07:09 AM IST

फिरोजपुर. मंडी में शेड अनाज काे सुरक्षित रखने के लिए बनाए गए हैं, लेकिन इसको भी सियासी लोगों ने अपनी रोटी सेकने के लिए इस्तेमाल करने लगे हैं। चमकौर साहिब की अनाज मंडी में कांग्रेस की रैली के बाद फिरोजपुर में भी वहीं तस्वीर देखने को मिली। यहां शुक्रवार को हुई सुखबीर की रैली के लिए 18.40 लाख का गेहूं खुले में डाल दिया गया, जो बारिश के पानी में भीग गया। अधिकारियों की लापरवाही के कारण यहां अनाज शेड से बाहर पड़ा रहा और शेड के नीचे चुनावी सभा होती रही।

 

मौसम विभाग की चेतावनी के बावजूद बाहर पड़ी गेहूं की बोरियां नहीं उठाई गईं। नतीजा यह हुआ कि 2 हजार बोरी गेहूं भीग गया। मात्र 10 हजार रुपए अकाली दल से फीस वसूल कर 18, 40,000 रुपए का 2000 बोरी सरकारी गेहूं भीगने के लिए खुले आसमान के नीचे छोड़ दिया। दरअसल शुक्रवार को फिरोजपुर छावनी की अनाज मंडी में शिरोमणि अकाली दल के प्रत्याशी सुखबीर बादल की चुनावी जन सभा हुई। गेहूं की ये बोरियां वीरवार तक शेड के नीचे पड़ी थीं, लेकिन शुक्रवार को इन्हें सभा के कारण खुले में रख दिया गया।

 

अनाज मंडी में नहीं हो सकती सभा :
अनाज खरीद की अवधि के दौरान मंडी में किसी कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी जा सकती। इसके बावजूद मंडी में अधिकारियों ने शिअद के सुखबीर को जनसभा करने की अनुमति दे दी गई। वहीं जब इस बारे में प्रशासनिक अधिकारियों से बात करने की कोशिश की गई तो सभी अधिकारी इस बात पर चर्चा करने से आनाकानी करते रहे।

 

14 मई को शिअद की ओर से मंडी में चुनावी सभा के लिए 10 हजार रुपए फीस जमा करवाई गई थी। गेहूं उठान न करने पर 25 पैसे प्रति दिन प्रति बोरी के हिसाब से ठेकेदार पर जुर्माना लगाया जाएगा। अब गेहूं भीग गई है इसलिए गेहूं को सूखने के बाद ही उठाया जाएगा। -जसप्रीत गिल, सचिव मंडी

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना