कांग्रेस के विरोध में शिअद शहरी व ग्रामीण टीम में नहीं दिखा विश्वास

Bathinda News - राज्य की कांग्रेस सरकार की नीतियों और वादों के अधूरे रहने के मुद्दे पर शिअद (शिरोमणि अकाली दल) द्वारा विश्वासघात...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 03:17 AM IST
Bathinda News - shaid does not show in urban and rural teams in protest of congress
राज्य की कांग्रेस सरकार की नीतियों और वादों के अधूरे रहने के मुद्दे पर शिअद (शिरोमणि अकाली दल) द्वारा विश्वासघात प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस को घेरने के लिए किया प्रदर्शन धड़ेबाजी की भेंट चढ़ता नजर आया। जहां ग्रामीण नेता मिनी सचिवालय के सामने दरियों पर बैठे रहे, वहीं शहरी अकाली दल टीम सर्किट हाउस के सामने खड़ी होकर इलेक्ट्रानिक मीडिया पर दावों तथा नारेबाजी की बौछार कर रहे थे। अकाली दल के नेताओं ने प्रदर्शन के लिए जिला चुनाव अधिकारी एवं डीसी बठिंडा से अनुमति नहीं ली। प्रदर्शन में अकाली दल शहरी कार्यकर्ताओं को बड़ी संख्या में इकट्ठा करने में नाकाम नजर आया। शहरी टीम के 70 से 80 कार्यकर्ता मीडिया में हाइलाइट होने की चाह में शिअद ग्रामीण के करीब 125 कार्यकर्ताओं को भूल गए, जिस पर ग्रामीण हलके के कुछ नेताओं तथा कार्यकर्ताओं ने एतराज जाहिर भी किया। उनके मुताबिक शिअद शहरी सदस्यों को वहां साथ बैठने को कहा गया था, लेकिन वह उनके साथ बैठे बिना ही चले गए।

धड़ेबाजी : मुद्दा एक, समय और जगह भी एक लेकिन प्रदर्शन दो

शिअद शहरी के इंचार्ज सरूप चंद सिंगला तथा अन्य प्रदर्शन करते हुए।


शनिवार को विश्वासघात दिवस के मौके पर हाईकमान के निर्देश पर पार्टी में एकजुटता दिखाने के लिए ग्रामीण नेताओं ने मिनी सचिवालय के सामने दरियां बिछाकर बाकायदा बैठने का पक्का इंतजाम किया हुआ था, लेकिन शहरी टीम के इकट्ठे हुए करीब 70 से 80 सदस्यों ने वहां बैठने की बजाय खड़े रहकर ही अपनी शमूलियत दर्ज करवाना जरूरी समझा तथा थोड़ी देर बाद अकेले सर्किट हाउस की तरफ निकल गए। पुतला फूंकने के कार्यक्रम को टालते हुए शहरी अकाली दल के सदस्य करीब एक घंटे बाद मौके से निकल गए, जबकि ग्रामीण टीम दोपहर करीब 12.30 बजे रवाना हुई।


13 फरवरी को दिल्ली में केंद्रीय मंत्री हरसिमरत बादल से मिलने गई शहरी अकाली दल की टीम को उन्होंने स्पष्ट शब्दों में शहर के अंदर काम करने का निर्देश दिया था। शहर में कमजोर नजर आ रही पकड़ को उन्होंने दुरुस्त करने के निर्देश दिए थे। वहीं पार्टी प्रधान सुखबीर बादल ने भी शहर की कमान सरूप सिंगला को चंद दिनों पहले हुई मीटिंग में सौंपी थी, लेकिन प्रदर्शन में निर्देश कहीं नजर नहीं आए।


चुनाव आचार संहिता के रविवार शाम से लागू होने के बाद किसी भी तरह के राजनीतिक जलसे, जुलूस, प्रदर्शन आदि के लिए जिला चुनाव अधिकारी एवं डीसी, एसडीएम या मनोनीत अधिकारी से अनुमति जरूरी होती है, लेकिन शनिवार को शिअद ने प्रदर्शन की कोई अनुमति नहीं ली। हालांकि शिअद ग्रामीण के नेता अमित र| कहते हैं कि उन्होंने एसएसपी को इसकी सूचना दे दी थी।

शिअद ग्रामीण इंचार्ज अमित र| तथा अन्य नारेबाजी करते हुए।

हम दोफाड़ नहीं


जगह सर्किट हाउस ही थी


नोटिस दिया जाएगा


X
Bathinda News - shaid does not show in urban and rural teams in protest of congress
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना