कैप्टन Vs सिद्धू / वो कहते हैं सीटें नहीं मिली तो इस्तीफा देंगे, बेअदबी करने वालों को सजा नहीं दी तो इस्तीफा सिद्धू देगा

Dainik Bhaskar

May 18, 2019, 06:45 AM IST



Sidhu openly challenged Captain in Bathinda
X
Sidhu openly challenged Captain in Bathinda

  • बठिंडा में सिद्धू ने खुलेआम कैप्टन को दी चुनौती
  • कहा- सिखों पर जिन्होंने गोलियां चलवाईं उन पर एफआईआर तक नहीं की, क्या रणजीत आयोग से एसआईटी बड़ी हो गई

बठिंडा. बठिंडा में शुक्रवार को राजा वड़िंग के हक में चुनाव प्रचार करने आए नवजोत सिंह सिद्धू ने एक तीर से दो निशाने लगाए। उन्होंने अपनी हर बात में बादलों के साथ-साथ अप्रत्यक्ष तौर पर कैप्टन को भी घेरा। बिना नाम लिए वह बार-बार बेअदबी और चुनाव में मिलकर 75-25 का मैच खेलने की बात कर लोगों को इस बार इन्हें मजा चखाने की बात कहते रहे।

 

बेअदबी पर अपनी ही सरकार के खिलाफ बोलते हुए सिद्धू ने कहा कि सिखों पर जिन्होंने गोलियां चलवाईं उन पर एफआईआर तक नहीं की गई। क्या जस्टिस रणजीत आयोग से एसआईटी बड़ी हो गई। जब जस्टिस रणजीत ने रिपोर्ट में सब कह दिया था तो फिर एफआईआर क्यों नहीं दी, क्योंकि बेअदबी में किसी का 75% तो किसी का 25% हिस्सा है।

 

सिद्धू ने कहा कि कुछ लोग कहते हैं सीटें न मिलीं तो इस्तीफा दे देंगे, मैं उन्हें बताना चाहता हूं कि सिद्धू तो पहले ही राज्यसभा छोड़कर बैठा है, बेअदबी करने वालों को सजा न दी तो इस्तीफा सिद्धू देगा। कैप्टन की तरफ से एक दिन पहले बयान दिया था कि पार्टी का सफाया हुआ तो इस्तीफा दे दूंगा। सिद्धू ने कहा कि बादल और उनके साथी 75-25 का मिलकर मैच खेलते हैं, इस बार 23 मई, बीबी गई का स्लोगन लेकर चलो ताकि मैच फिक्स करने वालों की आंखे खुली रह जाएं। उन्होंने कहा कि वोट के लिए जिन्होंने गुरु रोल दिया, उन्हें कभी माफ न करें।
 

कैप्टन और सिद्धू की तकरार अब बड़ी दरार की ओर

बुधवार को कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी डॉ. नवजोत कौर सिद्धू ने उन्हें चंडीगढ़ से टिकट न देने पर सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह व पंजाब प्रभारी आशा कुमारी पर उनकी टिकट कटवाने का आरोप लगाया था। इस पर कैप्टन ने वीरवार को कहा कि चंडीगढ़ के लिए सिद्धू की पत्नी से बेहतर पवन बंसल हैं। इस पर नवजोत सिंह सिद्धू ने चंडीगढ़ में कहा था कि मेरी पत्नी सच बोलने से नहीं डरती। उन्होंने तो रेत और केबल माफिया पर ड्राफ्ट पॉलिसी देने और फैसला सीएम के हाथ होने की भी बात की।

 

इसके बाद शुक्रवार को बठिंडा में प्रचार करने आए सिद्धू ने फिर से अप्रत्यक्ष तौर पर कैप्टन को उनके ही बयानों पर घेरा। इससे पहले भी सिद़धू के पंजाब में प्रचार करने के मामले में कैप्टन ने कहा था कि उनकी पंजाब में जरूरत नहीं तो सिद्धू ने कहा था कि वह बिना बुलाए तो केबल दरबार साहिब ही जाते हैं और कहीं नहीं। 13 मई को सिद्धू ने वोकल कार्ड खराब होने पर दो दिन प्रचार से आराम करने का प्रेस रिलीज जारी करवाई। 14 मई को प्रियंका गांधी की बठिंडा रैली में जब सिद्धू आए तो कह दिया कि वह तो प्रियंका जी के कहने पर आए हैं। इससे सिद्धू और कैप्टन के बीच मतभेद फिर से उजागर हुए थे।

 

क्या है 75-25% का हिस्सा : 
अक्सर कैप्टन पर बादलों से मिल बठिंडा-पटियाला सीट का सौदा करने के आरोप लगते रहे हैं। बुधवार को बठिंडा में अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पटियाला कैप्टन की पत्नी और बठिंडा सुखबीर की पत्नी को देने का सौदा हुआ है। इसलिए कैप्टन बठिंडा में रोड शो में नहीं आए। आप व अन्य दल कैप्टन को घेरते रहे हैं। शुक्रवार को सिद्धू ने भी 75% और 25% हिस्से की बात कर अप्रत्यक्ष तौर पर कैप्टन पर सवाल खड़े किए।

COMMENT